मंत्री टीकाराम जूली बोले-BJP का चेहरा दलित विरोधी:गजेन्द्र सिंह-अर्जुनराम जालोर नहीं गए,कमेटी की रिपोर्ट दबाई, हमारे 4 कैबिनेट मिनिस्टर दलित

जयपुर3 महीने पहले
मंत्री टीकाराम जूली बोले-BJP का चेहरा दलित विरोधी

प्रदेश के सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने कहा- बीजेपी का दलित विरोधी चेहरा है। राजस्थान और देश में बीजेपी ने दलितों के मुद्दे पर एक माहौल पैदा किया है। लेकिन​​​​​ केन्द्रीय मंत्री ​गजेन्द्र सिंह शेखावत जालोर के पड़ोस में ही जोधपुर में रहते हैं। वो भी जालोर नहीं गए, ना ही केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री होने के बावजूद राजस्थान में ERCP ला पा रहे हैं। केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल भी आज तक जालोर नहीं गए। जबकि वह दलित समाज से आते हैं। मंत्री जूली ने कहा जालोर की घटना के बाद मैं 15 अगस्त को सबसे पहले वहां पहुंचा और परिवार से भी मिला। उनकी बात को भी सुना। विभाग की ओर से रिलीफ भी सबसे पहले उनके अकाउंट में डलवाई। जूली ने कहा-गहलोत सरकार में 4 कैबिनेट मिनिस्टर दलित हैं,जिसे बीजेपी पचा नहीं पा रही है।

बच्चे की मौत पर BJP ने कमेटी नहीं बनाई,संत आत्महत्या में कमेटी रिपोर्ट दबाई

टीकाराम जूली ने कहा राजस्थान में जहां-जहां घटनाएं हुईं। बीजेपी ने लगभग सब जगह जांच कमेटियां बनाई हैं। लेकिन जालोर में बच्चे की मौत के केस में कमेटी क्यों नहीं बनाई ? यहां उनका चेहरा दिखता है। जालोर में ही एक संत ने आत्महत्या कर ली। उसमें बीजेपी विधायक का नाम आया है। उसमें बीजेपी ने कमेटी भी बना ली। उसकी रिपोर्ट आज तक नहीं बताई है। वहां बीजेपी के एमएलए जोगेश्वर गर्ग का बयान राजनीति से प्रेरित है, वो खुलकर कुछ नहीं बोल रहे हैं। क्योंकि सारी चीजें सरकारी जांच के सामने आ गए। इसलिए BJP और RSS दोनों चुप हैं। उन्होंने कहा पूर्व में राजस्थान में डांगावास कांड में 5 दलितों की निर्मम हत्या हुई। उस समय भी बीजेपी का कोई नेता वहां नहीं गया। ना ही सरकार से अलग कोई मदद की। लेकिन आज बीजेपी नेता हमसे डिमांड कर रहे हैं। बीजेपी के राज के समय डेल्टा मेघवाल हत्याकांड में भी सरकार की ओर से कभी कोई मदद नहीं की गई।

4 कैबिनेट मिनिस्टर दलित,जिसे बीजेपी नहीं पचा पा रही

मंत्री टीकाराम ने कहा- कांग्रेस सरकार ने आजादी के बाद पहली बार 4-4 कैबिनेट मिनिस्टर दलित वर्ग से बनाए हैं, ये बीजेपी नहीं पचा पा रही। सरकार के मंत्रियों को बीजेपी किसी न किसी बहाने से घेरने का काम करती है। बीजेपी ने दलित समाज से 1-2 से ज्यादा मंत्री नहीं बनाए। आजादी के 75 साल बाद पहली बार दलित समाज से मुख्य सचिव कांग्रेस सरकार ने बनाया। जबकि बीजेपी सरकार के वक्त दलित IAS उमराव सालोदिया को मुख्य सचिव नहीं बनाया। उन्हें धर्म परिवर्तन तक करना पड़ा। उन्होंने लैटर भी लिखा था। पिछली कांग्रेस सरकार ने अम्बेडकर विद्यापीठ यूनिवर्सिटी की घोषणा की, बीजेपी सरकार आने पर उसने निरस्त किया, हमने फिर से शुरू किया है।

इस साल SC के लिए 500 करोड़ का बजट

उन्होंने कहा राजस्थान में SC के लोगों को प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए कांग्रेस सरकार सबसे पहले सुप्रीम कोर्ट पहुंची। राजस्थान में CM गहलोत ने कहा हम प्रमोशन में आरक्षण जारी रखेंगे। इस साल भी 500 करोड़ का बजट SC के विकास के लिए रखा है। पिछली बार 100 करोड़ का बजट रखा था। राजस्थान सरकार ने SC कम्पोनेंट प्लान विधेयक 2022 पास किया है। जिसमें SC की आबादी जहां रहती है। सभी विभाग अपने डिपार्टमेंट का खर्चा SC जनसंख्या को ध्यान में रखते हुए करेंगे। स्कॉलरशिप, पेंशन का भी सरलीकरण कर जनआधार कार्ड से जोड़ दिया है। 2 मिनट में पेंशन मंजूर की जा रही है।

खबरें और भी हैं...