पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैबिनेट विस्तार का ब्लूप्रिंट तैयार:मोदी कैबिनेट में राजस्थान के राहुल कस्वां की एंट्री और अर्जुन मेघवाल का प्रमोशन तय

नई दिल्ली/जयपुर25 दिन पहलेलेखक: मुकेश कौशिक
  • कॉपी लिंक
राहुल कस्वां और अर्जुन मेघवाल - Dainik Bhaskar
राहुल कस्वां और अर्जुन मेघवाल
  • आज होगा कैबिनेट विस्तार, कई मंत्रियों के विभाग बदले जाएंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में बड़े फेरबदल का ब्लूप्रिंट तैयार हो गया है। चूरू से सबसे युवा सांसद 37 वर्षीय राहुल कस्वां और चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी की मोदी कैबिनेट में एंट्री लगभग तय है। हालांकि, सीपी जोशी का कहना है कि देर रात तक उन्हें दिल्ली से बुलावा नहीं आया। वहीं, राजस्थान से संसदीय मामलों के राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल को तरक्की दी जा सकती है।

बुधवार शाम नए मंत्री शपथ ले सकते हैं। सूत्रों का दावा है कि बदलाव के बाद यह अब तक की सबसे युवा कैबिनेट होगी। सूत्रों के मुताबिक कुछ दिग्गज नेताओं को सरकार से संगठन में भेजा जा सकता है। उन्हें उत्तर प्रदेश-पंजाब सहित उन राज्यों की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी, जहां 8 से 12 महीने में चुनाव होने हैं। इस बीच, मप्र से राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया, महाराष्ट्र के नारायण राणे और असम के पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल सहित कई नेता दिल्ली पहुंचे हैं।

सूत्र बता रहे हैं कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और वित्त मंत्रालय में बदलाव संभव है। वहीं, अनुराग ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल को तरक्की दी जा सकती है।

कैबिनेट विस्तार से ठीक पहले ‘सहकार से समृद्धि’ विजन को साकार करने के लिए कृषि मंत्रालय से अलग कर पहली बार ‘सहकारिता मंत्रालय’ बनाया गया। यह सहकारी आंदोलन को मजबूत करने के लिए अलग से प्रशासनिक, कानूनी और नीतिगत ढांचा उपलब्ध कराएगा।

नड्‌डा के घर देर शाम तक जारी रहा मंथन

मंगलवार दोपहर हिमाचल से दिल्ली लौटे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने शाम 5:30 बजे भाजपा संगठन मंत्री बीएल संतोष पहुंचे। संतोष की रक्षामंत्री राजनाथ सिंह व राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे से भी मुलाकात हुई। वहीं, बंगाल से भाजपा सांसद एस ठाकुर, कर्नाटक के ए नारायणसामी, मणिपुर से आरआर सिंह, यूपी के सकलदीप राजभर, अनिल बलूनी, सुधांशु त्रिवेदी, सुशील मोदी, अश्विनी वैष्णव, जीवीएल नरसिम्हराव के नाम भी मंत्री पद के लिए चर्चा में हैं।

अब तक की सबसे युवा कैबिनेट होगी...

मोदी-2.0 कैबिनेट की औसत उम्र अभी 60 साल है

मोदी-2.0 के मंत्रियों की औसत आयु 60 वर्ष है। वर्ष 2019 में सरकार बनी तो स्मृति ईरानी (44) सबसे युवा और रामविलास पासवान (73) सबसे उम्रदराज मंत्री थे। मोदी-1 कैबिनेट की औसत उम्र 59.6 वर्ष थी। तब नजमा हेपतुल्ला (74) सबसे उम्रदराज और ईरानी (38) सबसे कम उम्र की मंत्री थीं। वहीं, मनमोहन सिंह की अगुवाई वाली यूपीए-2 कैिबनेट की औसत आयु 55 साल थी। इसमें सबसे बुजुर्ग एसएम कृष्णा (77) और सबसे युवा अगाथा संगमा (28) थीं।

फडणवीस-तीरथ समेत 3 पूर्व सीएम के नाम, उच्च सदन में भी नया नेता

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस और उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह या तीरथ सिंह रावत मंत्री बन सकते हैं। राज्यसभा सदस्य भूपेंद्र यादव सदन के नेता और कैबिनेट मंत्री बनाए जा सकते हैं। हरदीप सिंह पुरी और नरेंद्र सिंह तोमर के विभाग कुछ कम हो सकते हैं।