पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sachin Pilot Tonk MLA News Updates: Rajasthan Deputy CM Sacked By Congress After Skipping CLP Meet

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पायलट का कार्यकाल:19 माह 27 दिन में ही उपमुख्यमंत्री पद से हुए बर्खास्त, टोंक के विकास के वादों को लगा झटका

टोंक10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सचिन पायलट। - Dainik Bhaskar
सचिन पायलट।
  • टोंक से उपमुख्यमंत्री बनने वाले दूसरे नेता हैं सचिन पायलट
  • टोंक में 4 विधानसभा सीट, इनमें एक पर भाजपा का कब्जा

(एम. असलम). टोंक विधानसभा सीट से भारी मतों से जीतकर विधायक बने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद टोंक में विकास की उम्मीद जागी थी, लेकिन 19 माह 27 दिन बाद ही राजनीतिक उठा-पटक में पायलट को उपमुख्यमंत्री एवं प्रदेशाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया। इससे टोंक में विकास को ब्रेक लगते नजर आ रहे हैं।

पायलट ने चुनावी सभाओं एवं उसके बाद टोंक को रेल से जोड़े जाने सहित कई बड़े-बड़े काम का भरोसा दिलाया था। जनता को भी उम्मीद बंधी थी कि अब टोंक में विकास को पंख लगेंगे, लेकिन 20 माह भी नहीं हुए की विकास के सपनों पर एक बार फिर धुंध छा गई है।

टोंक विधायक सचिन पायलट करीब 20 माह पहले भारी मतों के अंतर से जीतकर विधायक बने। पायलट ने भाजपा के कद्दावर नेता युनूस खान को 54 हजार 179 मतों के अंतर से हराया था। कांग्रेस के सचिन पायलट को एक लाख 90 हजार 40 मत मिले थे। वे 17 दिसंबर 2018 को राज्य के उपमुख्यमंत्री बने। टोंक जिले में वे उपमुख्यमंत्री बनने वाले दूसरे नेता थे। इससे पहले स्वर्गीय बनवारी लाल बैरवा उपमुख्यमंत्री बने थे। सचिन पायलट 41 साल की उम्र में उपमुख्यमंत्री बने। 

सचिन पायलट गहलोत सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे।
सचिन पायलट गहलोत सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे।

मुख्यमंत्री के थे दावेदार

सचिन पायलट को टोंक विधानसभा की जनता ने भारी मतों से जिताया। उनको उम्मीद थी कि उनका विधायक मुख्यमंत्री बनेगा तथा विकास की गंगा बहेगी। लोगों को उम्मीद थी कि टोंक रेल से जुड़ जाएगा। साथ ही यहां बड़े उद्योग-धंधे भी शुरू हो सकेंगे लेकिन वे मुख्यमंत्री नहीं बन सके तथा आज टोंक विकास की उम्मीदों को झटका लगा है।

राज्य में अब तक बने उपमुख्यमंत्री

टीकाराम पालीवाल को प्रदेश में पहली बार उप मुख्यमंत्री बनाया गया था। एक नवम्बर 1952 से वे दो वर्ष तक इस पद पर रहे। इसके 39 वर्ष पश्चात वर्ष 1993 में भाजपा सरकार में हरिशंकर भाभड़ा को उप मुख्यमंत्री बनाया गया। उस समय भैरोंसिंह शेखावत मुख्यमंत्री थे।

इसके बाद वर्ष 2002 में बनवाली लाल बैरवा को गहलोत सरकार में उपमुख्यमंत्री बनाया गया। उसके बाद कमला बेनिवाल उपमुख्यमंत्री बनी थीं। सचिन पायलट पांचवें उप मुख्यमंत्री बने, लेकिन 20 माह का कार्यकाल भी पूरा नहीं हुआ था कि वे राजनीतिक उठा-पटक के तहत बर्खास्त कर दिए गए। 

जिले की ये है स्थिति: जिले में वर्तमान में चार विधानसभा सीटें हैं। इसमें तीन कांग्रेस एवं एक मालपुरा विधानसभा सीट पर भाजपा का विधायक हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें