कैलाश मेघवाल बोले- वसुंधरा में विजनरी CM की छवि:कहा- राजस्थान की राजनीति को दिशा दें, वसुंधरा बोलीं- हम पूरे राजस्थान में फैल सकते हैं

जयपुर4 महीने पहले
सभा को संबोधित करती वसुंधरा राजे।

BJP की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व CM वसुंधरा राजे के खेमे ने एक बार फिर जयपुर में बड़ा शक्ति प्रदर्शन कर राजस्थान में राजे के CM फेस की दावेदारी जता दी है। राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और बीजेपी विधायक कैलाशचन्द मेघवाल ने जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत के जीवन पर पुस्तक विमोचन के मौके पर कहा वैचारिक दृष्टि से विधानसभा को दिशा देने वाला कोई आदेश नहीं आ रहा। ये स्थिति ठीक करने के लिए हमें एक विजनरी मुख्यमंत्री की जरूरत है। इस नाते मैं कहना चाहता हूं वसुंधरा जी राजस्थान आपकी तरफ देख रहा है।

इस पर पूरा ऑडिटोरियम वसुंधरा राजे जिन्दाबाद के नारों से गूंज उठा। इसके बाद कैलाश मेघवाल ने कहा राजस्थान इसलिए आपकी ओर नहीं देख रहा है कि आप मुख्यमंत्री रही हैं। इसलिए देख रहा है कि आपमें एक विजनरी मुख्यमंत्री की छवि दिखती है। उस छवि के कारण जगह-जगह चर्चा होती है। मेघवाल ने कहा वसुंधरा ऐसा कौनसा क्षेत्र या कौनसा राजनीति का क्षेत्र ऐसा था जिसमें आपने आगे बढ़कर पहल नहीं की हो। इसीलिए राजस्थान आपकी ओर देख रहा है। आप राजस्थान की राजनीति को दिशा दीजिए। आपका भाजपा राजस्थान में स्थान है। आप राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं इस नाते दिशा देने में पीछे मत रहिए।

धरतीपुत्र भैरों सिंह शेखावत पुस्तक विमोचन समारोह।
धरतीपुत्र भैरों सिंह शेखावत पुस्तक विमोचन समारोह।

पुस्तक तो बहाना है

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने 'धरतीपुत्र भैरों सिंह शेखावत' पुस्तक का विमोचन करते हुए सभागार में मौजूद विधायकों, बीजेपी नेताओं और राजपूत समाज के संगठनों को बड़ा सियासी मैसेज भी दिया। वसुंधरा ने कहा आज ऐसा लग रहा है कि भैरोंसिंह शेखावत खुद हम लोगों के बीच में एक परिवार के रूप में है। 33 जिलों के लोगों को एक सूत्र में पिरोने का काम जो उन्होंने इतने सालों से किया। ऐसा लगता है वो हम अपनों के बीच में ही है। आज हम सब उनकी यादों के अंदर बह गए हैं। उन्होंने सभी जिलों से इकट्ठा हुए लोगों को प्रणाम करते हुए कहा कि यह सब भैरोंसिंह जी का ही चमत्कार है। पुस्तक तो बहाना है, हम सबको इकट्ठा होकर उनकी याद करने का इससे बहाना मिल गया।

मुझे राजस्थान की सीरियस राजनीति में लाए भैरोंसिंह शेखावत

राजे ने कहा कोई दोराय नहीं है राजमाता साहब तो मुझे राजनीति में लेकर आई थी। लेकिन मैं इस जगह पर नहीं होती अगर भैरोंसिंह जी ने मेरा हाथ पकड़कर मुझे यहां तक पहुंचाने का काम नहीं किया होता। मुझे ऐसा मौका कभी मिलता मैं नहीं समझती। मुझे राजस्थान की सीरियस राजनीति में कोई लेकर आया, तो वो भैरोंसिंह शेखावत थे। वो आज भी मेरे प्रेरणा स्त्रोत हैं और रहेंगे। मैं उनकी चलती फिरती राजनीति की पाठशाला की एक विद्यार्थी हूँ।

कठिन समय में व्यक्ति तपता और मजबूत बनता है

राजे ने कहा भैरोंसिंह शेखावत साहब ने मुझे यही कहा था कि राजनीति को सेवानीति में बदलो। अपना नहीं दूसरों का सोचकर काम करो। मन और दिल से उसमे लगोगे तो तकलीफ जरूर पाओगे लेकिन आखिर में आपको कोई मात नहीं दे सकेगा। उन्होंने कहा था राजनीति में जितनी बाधाएं आती हैं। जितना कठिन समय आता है। उतना ही व्यक्ति तपता है और मजबूत बनता है। उन्होंने दुख और सुख में समान रहना सीखने की बात कही थी। तपने की बात कही थी क्योंकि इसमें हमारे परायों की भी पहचान बनती है। कहा था उसे समझने लगोगे तभी इस राजनीति में आगे बढ़ पाओगे। राजे ने कहा भैरोंसिंह जी ने कहा था कि मुश्किलें तो आती हैं। जब आती हैं तो सबसे पहले वो लोग आपसे अलग होंगे, जिनके लिए आपने सबसे ज्यादा किया है। लेकिन इस सबकी चिन्ता नहीं करनी है। अपने रास्ते पर मजबूती से चलते रहना है। जिस चीज में विश्वास रखा है उसकी लड़ाई लड़ते रहना सबसे महत्वपूर्ण है।

पत्थरों को.. जुबान मिली तो हम ही पर बरस पड़े

राजे ने शायराना अंदाज में कहा ‘हम ही ने बख्शी थी धड़कने जिन पत्थरों को, जुबान जब मिली तो हम ही पर बरस पड़े’। उन्होंने कहा राजनीति में उतार चढ़ाव आते रहते हैं। भैरों सिंह जी ने भी ऐसा वक्त देखा जब उन्हें भी दुखी होना पड़ा, वो भी आहत हुए। जब वो 1996 में हार्ट सर्जरी के लिए क्लेवलिन गए। जयपुर में उनकी सरकार गिराने का षड़यंत्र चल रहा था। उनमें ऐसे लोग भी शामिल थे, जिनकी उन्होंने बहुत मदद की थी। लेकिन वो लोग सफल नहीं हुए। भैरोंसिंह इस घटना से इमोशनली दुखी हुए। लेकिन राजनीति में कोई उनका एक बाल भी बांका नहीं कर पाया।

हम पूरे राजस्थान में फैल सकते हैं

राजे ने कहा भैरोंसिंह शेखावत के दो सपने थे। एक हम राजस्थान को गरीबी से कैसे दूर कर सकते हैं। दूसरा देश में सबसे विकसित राज्य की श्रेणी में राजस्थान को कैसे कर सकते हैं। हम अपने राज के समय इन सपनों को पूरा करने की कोशिश करते थे। अब मैं चाहती हूं कि सब यहां से एक संकल्प लेकर जाएं। सब लोग मुख्यमंत्री, मंत्री और पार्टी के बड़े कद के नेता नहीं बनने वाले। लेकिन हम बीजेपी के कार्यकर्ता हैं। सबसे बड़ी चीज हमारे हाथ में है कि हमारी पार्टी बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी हैं। हम पूरे राजस्थान में फैल सकते हैं। भैरोंसिंह शेखावत का सपना अब हमारा सपना है। अगर हम पूरे राजस्थान में फैल जाते हैं, तो वो सपने हम पूरा कर सकते हैं। यह मेहनत का काम है। लेकिन मैं मानती हूं कि जो परिवार यहां बैठा है वो खून पसीना बहाकर ये काम कर सकता है। राजस्थान को उन ऊंचाईयों पर पहुंचाने का काम कर सकता है जो सपना उन्होंने देखा।