• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Second Day Of Curfew In Baran After Two Community Members Stone Pelting, Rajasthan Latest News Update

बारां के छबड़ा में कर्फ्यू का दूसरा दिन:24 घंटे से घरों में कैद है 50 हजार की आबादी, न दूध-पानी पहुंचा, न इंटरनेट शुरू हुआ; 1000 से ज्यादा जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात

बारां9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उप्रदवियों ने दुकानों में लूटपाट की थी। लोगों के घरों तक में आग लगा दी थी। - Dainik Bhaskar
उप्रदवियों ने दुकानों में लूटपाट की थी। लोगों के घरों तक में आग लगा दी थी।

बारां जिले के छबड़ा कस्बे में दूसरे दिन सोमवार को भी कर्फ्यू लगा हुआ है। इंटरनेट भी बंद है। कस्बे की करीब 50 हजार की आबादी घरों में कैद है। सुबह से लोगों के घर न दूध पहुंचा और न ही पानी की सप्लाय हुई। रविवार को हुए सांप्रदायिक बवाल के बाद बड़ी संख्या में बिजली की लाइन भी जल गई थी। इससे सप्लाय बाधित है। दरअसल, शनिवार शाम मामूली कहासुनी को लेकर हुई चाकूबाजी की घटना ने रविवार को बड़े उपद्रव का रूप ले लिया था। आगजनी, बवाल और लाठीचार्ज के बाद प्रशासन ने कस्बे में रविवार शाम 4 बजे से कर्फ्यू लगा दिया गया।

कस्बे में करीब 1000 जवान तैनात किए गए हैं। मेडिकल जरूरतों के लिए घर से निकलने वाले लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस किसी भी तरह का रिस्क नहीं ले रही है। पुलिस को शंका है कि हालत फिर से खराब हो सकते हैं।

दुकानों को आग के हवाले किया गया।
दुकानों को आग के हवाले किया गया।

वहीं, कर्फ्यू के कारण सोमवार सुबह लोगों को दूध तक नहीं मिला। घरों में पानी भी नहीं पहुंचा। शहर में जगह-जगह बिजली की समस्या भी आ रही है। इसका कोई समाधान नहीं हो सका है। वहीं, एक दिन पहले हुए उपद्रव से लोग सहमे हैं। मामले में पुलिस ने रविवार को सिर्फ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। अब सोमवार को कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है। कलेक्टर राजेंद्र विजय ने बताया कि कस्बे में राशन, फल, सब्जी, दवाइयां आदि की आपूर्ति के लिए अलग से आदेश जारी किया जाएगा।

4 दर्जन दुकानों को आग के हवाले किया, मेडिकल की दुकानों को भी नहीं छोड़ा

कस्बे की लगभग 4 दर्जन से अधिक दुकानों, एक बीड़ी पत्ते का गोदाम, एक मार्बल गोदाम, 1 मेडिकल, 1 दंत चिकित्सक क्लिनिक व कई दर्जन वाहन को आग की भेंट चढ़ा दिया गया। रविवार शाम 4 बजे से ही क्षेत्र में कर्फ्यू है। इंटरनेट सेवा को भी बन्द कर दिया गया एवं भारी पुलिस बल के द्वारा स्थिति को नियंत्रित किया गया रविवार रात्रि से ही कस्बे में तनावपूर्ण शांति बनी हुई है।

रविवार को सांप्रदायिक बवाल के दौरान शहर में जगह-जगह आगजनी हुई।
रविवार को सांप्रदायिक बवाल के दौरान शहर में जगह-जगह आगजनी हुई।

दूसरे पक्ष को देख भाजपा के दल ने वार्ता का किया बहिष्कार

सोमवार दोपहर को प्रशासन द्वारा बुलाई गई शांति समिति की बैठक में कलेक्टर राजेन्द्र विजय और पुलिस अधीक्षक विनीत बंसल ने दोनों पक्षों के लोगों से चर्चा की। हालांकि विधायक प्रताप सिंह सिंघवी के नेतृत्व में पहुंचे भाजपा कार्यकर्ताओं और पीड़ित लोगों ने दूसरे पक्ष के लोगों को पहले से मौजूद देख कर बैठक का बहिष्कार कर दिया। इस पर प्रशासन ने दोनों पक्षों की अलग-अलग बैठक लेकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की लेकिन इस बैठक में मौजूद लोगों ने पुलिस और प्रशासन को इस घटना के लिए जिम्मेदार बताते हुए जमकर पुलिस प्रशासन को घेरा।

इन मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया

चाकूबाजी की घटना के मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार करने, दुकानों में हुई लूटपाट के सामानों को बरामद करना व आग लगाने वालों को गिरफ्तार करना, पीड़ित व्यापारियों के हुए नुकसान की भरपाई कर राज्य सरकार से मुआवजा दिलाए जाने, स्थानीय पुलिस को इस घटना की जांच में शामिल नही करने, भविष्य में इस घटना की पुनावृत्ति न हो इसकी सुनिश्चित करने, पुलिस चौकी में आरएसी बल तैनात करने, निर्दोष लोगों को संदेह के आधार पर गिरफ्तार न करने और पुलिस कर्मियों की मौजूदगी में हुई घटनाओं को देखते हुए जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को लेकर ज्ञापन सौंपा है।

सड़क पर खड़े टैंक को भी आग के हवाले किया गया।
सड़क पर खड़े टैंक को भी आग के हवाले किया गया।

बारां के छबड़ा कस्बे में शनिवार देर शाम हुई चाकूबाजी को लेकर रविवार को दो पक्ष भिड़ गए। रविवार को विवाद बढ़ गया। बेकाबू भीड़ ने कस्बे में 12 दुकानें, 2 बसें, 2 बाइक और एक बल्गर (राख ढोने वाला ट्रॉला) फूंक दिया। लूटपाट भी की गई। मेडिकल स्टोर तक को नहीं छोड़ा। पथराव में कई लोगों के साथ पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं। उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करने के साथ आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े। 11-12 हवाई फायर भी किए।

घरों के आसपास खड़े वाहनों में भी उप्रदवियों ने आग लगा दी।
घरों के आसपास खड़े वाहनों में भी उप्रदवियों ने आग लगा दी।

बेबस नजर आई पुलिस
घटनाक्रम में पुलिस बेबस दिखाई दी। हालात बिगड़ते देख शाम 4 बजे कलेक्टर ने छबड़ा नगरपालिका क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया। साथ ही संभागीय आयुक्त ने आदेश जारी कर इंटरनेट बंद करा दिया है। पुलिस के अनुसार धरनावदा चौराहे पर शनिवार शाम नज्जीपुरा निवासी कमल गुर्जर अंगूर खरीद रहा था। तभी कुछ लोगों ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। यहीं से विवाद शुरू हुआ और फिर यह चाकूबाजी से होते हुए इसने सांप्रदायिक तनाव का रूप ले लिया।

रास्ते में खड़ी गाड़ियों में तोड़फोड़।
रास्ते में खड़ी गाड़ियों में तोड़फोड़।
कुछ जगहों पर अब भी सुलग रही आग।
कुछ जगहों पर अब भी सुलग रही आग।
कार को भी आग के हवाले किया।
कार को भी आग के हवाले किया।
खबरें और भी हैं...