• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Subject Wise Analysis Of Previous Paper, Understand From Expert, How Many Questions Will Be There From Which Subject

VDO प्री-परीक्षा के लिए पिछले पेपर का एनालिसिस:सिलेबस को लेकर ना हों कन्फ्यूज, एक्सपर्ट से समझिए किस टॉपिक से होंगे कितने प्रश्न

जयपुर7 महीने पहले

VDO भर्ती परीक्षा की तैयारी कर रहे बहुत से कैंडिडेट्स कन्फ्यूज हैं। कारण है कि परीक्षा का सिलेबस क्लीयर नहीं है। ऐसे में क्या पढ़ें, क्या न पढ़ें, यही दुविधा है। दैनिक भास्कर एप पर स्टूडेंट्स की क्वेरी और चिन्ताओं का समाधान कर रहे हैं पाठशाला क्लासेज जयपुर के निदेशक और सब्जेक्ट एक्सपर्ट संजय कुमार। उन्होंने पिछली भर्ती परीक्षाओं के पेपर का एनालिसिस कर रिपोर्ट तैयार की है। किस टॉपिक से कितने सवाल पूछे गए, VDO परीक्षा में कौन से टॉपिक्स महत्वपूर्ण रहने वाले हैं, इन सब बातों का जवाब यहां मिलेगा।

संजय कुमार के मुताबिक कम समय में परीक्षा की तैयारी करने के लिए बेस्ट ऑप्शन है पिछले पेपर को आधार बनाकर स्टडी करना। प्री एग्जाम को सिर्फ क्वालिफाई करना है। इसलिए क्वालिटी स्टडी करनी है। केवल महत्वपूर्ण बिन्दु, सिलेबस को कवर करना है। 50 से 60 फीसदी तक नम्बर ले आएंगे, तो प्री क्वालिफाइड हो जाएगा, ऐसी उम्मीद है। ग्राम सेवक का पिछली बार (2016) पेपर अच्छे स्टैंडर्ड का आया था। इसलिए कट ऑफ भी कम रही थी।

नैगेटिव मार्किंग होगी या नहीं ?
अभी तक ऑफिशियल नोटिफिकेशन में नेगेटिव मार्किंग की जानकारी नहीं दी गई है। लेकिन पिछले पेपर में 1/3 नेगेटिव मार्किंग थी। पिछली बार 1 ही पेपर था। इस बार प्री और मेन्स 2 पेपर होंगे। प्री केवल क्वालिफाइड है, इसमें जितने भी मार्क्स आएंगे, उसका मेरिट से कोई लेना देना नहीं रहेगा। जबकि मेन्स के आधार पर मेरिट बनेगी। कैंडिडेट्स का यह प्रश्न जायज है कि नेगेटिव मार्किंग होगी या नहीं। इसके लिए सुझाव है कि बोर्ड के नोटिफिकेशन देखते रहें या फिर पेपर की शुरुआत में दिए गए इंस्ट्रक्शन को ध्यान से पढ़ लेना है। फिर पेपर अटैंड करना है।

किस सब्जेक्ट या भाग से कितने प्रश्न आएंगे?
VDO प्री परीक्षा में कुल 120 प्रश्न आएंगे। लेकिन पूरा सिलेबस नहीं बताया गया है। ना ही क्लासिफिकेशन और टॉपिक वाइज प्रश्नों का वेटेज बताया गया है। ग्राम सेवक भर्ती परीक्षा के पिछले पेपर को देखें तो वह बहुत अच्छे लेवल का पेपर था। ज्यादातर प्रश्न मिलान करने वाले और कथन के थे। सीधे प्रश्न कम ही पूछे गए थे। इसलिए कट ऑफ बहुत कम गई थी। सिलेबस को सब्जेक्ट वाइज बांटकर ही तैयारी करनी चाहिए। उसमें भी महत्वपूर्ण टॉपिक ही पढ़ने हैं।

सबसे पहले कौनसे सब्जेक्ट पर फोकस करें
सबसे पहले विश्व, भारत और राजस्थान का भूगोल, राजस्थान का इतिहास-संस्कृति और संविधान के पार्ट की तैयारी करनी है।

राजनीति, संविधान, प्रशासनिक ढांचा से कितने प्रश्न आएंगे
पिछले पेपर को आधार माने, तो पॉलिटिकल और राज्य, जिला, पंचायती राज ढांचे से 11 सवाल पूछे गए थे। इस बार गवर्नमेंट स्कीम और अर्थव्यवस्था से संबंधित प्रश्न आ सकते हैं। भारत और राजस्थान सरकार की नई सरकारी स्कीम के बारे में पता होना चाहिए।

भूगोल में क्या इंपॉर्टेंट है और कितने सवाल बनते हैं?
ज्योग्राफी में विश्व, भारत और राजस्थान 3 पार्ट सिलेबस में है। राजस्थान पर सबसे ज्यादा, फिर भारत और विश्व के भूगोल की तैयारी करनी है। 12 से 15 प्रश्न भूगोल, अर्थव्यवस्था और उद्योगों, पर्यावरण संबंधी आ सकते हैं।

इतिहास और संस्कृति में राजस्थान की तैयारी पर रखें जोर
भारत और राजस्थान की हिस्ट्री से करीब 18 प्रश्न पिछली परीक्षा में पूछे गए। लेकिन ज्यादातर राजस्थान के इतिहास-संस्कृति से ही सवाल पूछे गए। भारत के इतिहास और संस्कृति से केवल 2 प्रश्न ही पूछे गए।

हिन्दी में कितने प्रश्न कौनसे टॉपिक से आ सकते हैं ?
सिलेबस में कहीं भी बेसिक सब्जेक्ट्स कम्प्यूटर, हिन्दी या अंग्रेजी का सिलेबस नहीं दिया गया है। तर्क शक्ति में जरूर कुछ टॉपिक्स दिए गए हैं। पिछले पेपर के आधार पर कुछ प्रश्न इंपॉर्टेंट हैं। हिन्दी में 10 प्रश्न पूछे गए। इनमें समास, उपसर्ग, संधि, लोकोक्ति, शब्द युग्म के प्रश्न पूछे गए। समास और संधि के कई प्रश्न इनमें शामिल रहे।

अंग्रेजी में क्या इंपॉर्टेंट और क्या छोड़ सकते हैं?
अंग्रेजी विषय में भी करीब 10 प्रश्न बनते हैं। ARTICLES, PREPOSITION, SUBJECT VERB AGREEMENT, DIRECT AND INDIRECT SPEECH, GRAMMAR, SPOTTING THE ERROR, FILLER QUESTIONS पिछले पेपर में शामिल रहे। जबकि IDIOMS, PHRASES SYNONYMS-ANTONYMS नहीं पूछे गए। इसलिए उन्हें छोड़ सकते हैं। जनरल इंग्लिश ही पूछे जाने की सम्भावना है।

गणित में डिफिकल्टी लेवल सामान्य रहेगा या एडवांस?
गणित में वर्गमूल यानी स्क्वायर रूट निकालना, बेसिक अर्थमैटिक मैथ्स, सरल ब्याज, चक्रवृद्धि ब्याज, औसत,गुणा-भाग, प्रतिशत, लाभ-हानि, अनुपात-समानुपात, सरलीकरण (SIMPLIFICATION) के प्रश्न आएंगे। एडवांस मैथ्स सिलेबस में नहीं है। इसलिए एडवांस गणित की तैयारी नहीं करनी है। मेंसुरेशन, ज्योमेट्री नहीं पूछी जाएगी, ऐसी उम्मीद है।

रीजनिंग में कितने सवाल कौन-कौनसे टॉपिक से आएंगे?
रीजनिंग के पार्ट में 12 के करीब सवाल पिछली बार पूछे गए। जबकि गणित और रीजनिंग दोनों मिलाकर 30 सवाल पूछे गए। सिम्पल कोडिंग-डिकोडिंग, डायरेक्शन के 2-3 प्रश्न और उम्र से संबंधी 2-3 सवाल पूछे गए।

कम्प्यूटर में क्या पढ़ें ?
कंप्यूटर में प्रत्येक टॉपिक से 1-1 सवाल पूछा गया। बेसिक फंडामेंटल में मेमोरी, इंटरनेट टर्मिनोलॉजी, इनपुट डिवाइस और आउटपुट डिवाइस, मल्टीमीडिया संबंधित प्रश्न पूछे गए। बेसिक कम्प्यूटर के ही प्रश्न पूछे गए।

करंट अफेयर्स से कितने सवाल आ सकते हैं, क्या इंपॉर्टेंट रहेगा?
करंट अफेयर्स के पिछली बार मात्र 4 सवाल थे। सरकारी प्रोजेक्ट्स, पॉलिसी, लेटेस्ट फैसले, ओलिंपिक, पैरालिंपिक, स्पोर्ट्स, नोबल, ग्लोबल मीट और सम्मेलन, अवॉर्ड और प्राइज, मिसाइल और डिफेंस टेक्नोलॉजी, अंतरिक्ष, भारत के अंतरराष्ट्रीय मामले, कोरोना महामारी, खोज, कृषि और कृषि कानून जैसे टॉपिक्स पर फोकस करें।

यह भी पढ़ें:

VDO भर्ती प्री एग्जाम में रीजनिंग तैयारी के टिप्स : मेंटल एबिलिटी, लॉजिकल एनालिसिस से आते हैं 12 सवाल, एक्सपर्ट से समझें इंपॉर्टेंट टॉपिक

VDO बनने के 10 सक्सेस मंत्र : राजनीति और प्रशासनिक ढांचा फिंगर टिप्स पर करें तैयार, एक्सपर्ट से जानें कौन से टॉपिक हैं स्कोरिंग

VDO में मैथ्स के 15 टिप्स दिलाएंगे सफलता : एक्सपर्ट से जानें एग्जाम में किस टॉपिक से पूछे जाएंगे प्रश्न, फॉर्मूले को चार्ट बनाकर करें रिवाइज

VDO के 14 लाख अभ्यर्थियों के लिए इंपॉर्टेंट है भूगोल : विश्व, भारत और राजस्थान होगा कवर; एक्सपर्ट बता रहे कम समय में तैयारी के 10 टिप्स

VDO भर्ती परीक्षा की खास सीरीज आज से : एक्सपर्ट टिप्स से लेकर फ्री मॉडल टेस्ट सीरीज, मिलेंगे ग्राम विकास अधिकारी बनने के सक्सेस मंत्र

VDO बनने के लिए क्या करें, एक्सपर्ट से जानें : सिलेक्शन के लिए कौन सी स्ट्रेटेजी से तैयारी करें, समझें एग्जाम का पैटर्न और उससे जुड़े सवाल