• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • The Challenge Before The New RPSC Chairman Will Be To Stop Paper Leaks Of Recruitment Examinations And Prevent Bias In Recruitment.

शिवसिंह राठौड़ को RPSC अध्यक्ष का चार्ज:तय समय में फुल टाइम अध्यक्ष नियुक्त नहीं कर पाई सरकार, सबसे वरिष्ठ को दिया प्रभार

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिवसिंह राठौड़ ने कार्यभार ग्रहण किया। - Dainik Bhaskar
शिवसिंह राठौड़ ने कार्यभार ग्रहण किया।

राजस्थान लोक सेवा आयोग में वरिष्ठ सदस्य शिवसिंह राठौड़ को अध्यक्ष का चार्ज दिया गया है। उन्होंने गुरुवार को कार्यभार ग्रहण भी कर लिया। शिवसिंह राठौड़ 29 जनवरी को रिटायर्ड होंगे। उनकी नियुक्ति बीजेपी राज में हुई थी। दरअसल, भूपेंद्र सिंह का कार्यकाल पूरा होने के बाद सरकार RPSC के फुल टाइम अध्यक्ष की तय समय में नियुक्ति नहीं कर सकी। इसलिए अब आयोग के सबसे वरिष्ठ सदस्य को अध्यक्ष का चार्ज दिया है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद आदेश जारी कर दिए हैं।

आरपीएससी अध्यक्ष पद पर फैसला लेने में सरकार अब कुछ वक्त लगा सकती है। इस पद के लिए कई रिटायर्ड और मौजूदा ब्यूरोक्रेट दावेदारी कर रहे हैं। पहले मौजूदा डीजीपी एमएल लाठर का नाम भी चला था, लेकिन फैसला नहीं हो पाया। आईपीएस अफसरों में बीएल सोनी, सौरभ श्रीवास्तव के नाम दावेदारों में हैं। आईएएस अफसरों में चेतन देवड़ा,नन्नू मल पहाड़िया, पीके गोयल के नाम चर्चा में हैं। कई रिटायर्ड अफसर भी दौड़ में हैं, लेकिन अभी तक किसी के भी नाम पर सहमति नहीं बन पाई।

अतिरिक्त चार्ज का ऑर्डर जारी।
अतिरिक्त चार्ज का ऑर्डर जारी।

भर्तियों पर सवाल उठने से सरकार परेशानी में, नए अध्यक्ष के सामने चुनौतियां

भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक होने से सरकार की छवि पर असर पड़ रहा है। सीएम अशोक गहलोत ने भी माना था कि प्रदेश की भर्तियों पर सवाल उठ रहे हैं, इससे सरकार की छवि प्रभावित हो रही है। नए आरपीएससी अध्यक्ष के सामने भी भर्ती परीक्षाओं में पेपर लीक से लगातार खराब हो रही छवि को सुधारने की चुनौती होगी।