VDO बनने के लिए क्या करें, एक्सपर्ट से जानें:सिलेक्शन के लिए कौन सी स्ट्रेटेजी से तैयारी करें, समझें एग्जाम का पैटर्न और उससे जुड़े सवाल

जयपुर6 महीने पहले

ग्राम विकास अधिकारी (VDO) परीक्षा 3896 पदों के लिए 27 और 28 दिसम्बर को होने जा रही है। अब समय काफी कम बचा है। इसलिए बेहतर स्ट्रेटेजी और रिवीजन से अभ्यर्थी अच्छा स्कोर बना सकते हैं। आपकी तैयारी के लिए दैनिक भास्कर ऐप पर एक्सपर्ट्स महत्वपूर्ण टिप्स दे रहे हैं। परीक्षा की तैयारी और बेहतर हो, इसके लिए मेगा मॉडल टेस्ट पेपर की सीरीज भी जल्द पब्लिश की जाएगी। पाठशाला क्लासेज के निदेशक और सब्जेक्ट एक्सपर्ट संजय कुमार बता रहे हैं परीक्षा का पैटर्न क्या होगा और आपको तैयारी किस दिशा में आगे बढ़ानी है।

VDO प्री-परीक्षा का ये रहेगा पैटर्न
पहले प्री और फिर मेन्स का एग्जाम होगा। प्री-पेपर में 120 प्रश्न होंगे शामिल। ज्यादा अभ्यर्थी होने के कारण परीक्षा प्रदेशभर में 2 दिन 27 और 28 दिसम्बर को कराई जाएगी। मेन्स पेपर का सिलेबस और एग्जाम पैटर्न भी जल्द ही जारी होगा। प्री एग्जाम में 100 नम्बर के पेपर में कुल 120 प्रश्न पूछे जाएंगे। पेपर 2 घंटे का होगा। इसलिए कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा प्रश्न सॉल्व करने की प्रैक्टिस पर भी जोर देना होगा।

सिलेबस ज्यादा इसलिए महत्वपूर्ण टॉपिक ही पढ़ें
ग्राम विकास अधिकारी की प्री-परीक्षा के सिलेबस को ज्यादा गहराई से परिभाषित नहीं किया गया है। ज्यादातर सब्जेक्ट के केवल नाम या कुछ टॉपिक्स ही दिए गए हैं। इस पेपर में अभ्यर्थियों को करंट अफेयर्स की अच्छी तैयारी करनी चाहिए। राजस्थान का भूगोल, भारत का भूगोल और विश्व का भूगोल पढ़ना है। राजस्थान का इतिहास और संस्कृति में लोक नृत्य, संगीत, कलाएं, रंगशालाएं, लोक देवी-देवता, मेले-त्योहार, आभूषण, जनजातियां, बोलियां, साहित्य, भारत के इतिहास का बेसिक पार्ट, राजस्थान में प्रशासनिक स्ट्रक्चर, राजस्थान और भारत में कृषि और अर्थव्यवस्था, सामान्य कम्प्यूटर, सामान्य हिन्दी, अंग्रेजी, गणित और तर्कशक्ति के भी सवाल परीक्षा में पूछे जाएंगे।

पिछले पेपर पर फोकस रखकर करें तैयारी
बहुत से अभ्यर्थी इस बात में कन्फ्यूज हैं कि टॉपिक की पढ़ाई कितनी गहराई से करनी है। पेपर का स्टैंडर्ड क्या होगा। यह कन्फ्यूजन इसलिए है, क्योंकि विस्तार से सिलेबस नहीं दिया गया है। आपको सभी सब्जेक्ट्स की किताबें पढ़ने की जरूरत बिल्कुल नहीं है। ग्राम सेवक/ग्राम विकास अधिकारी के पिछली बार के पेपर को आधार मानकर उन सभी टॉपिक को बार-बार रिवीजन करना है।

समय कम है, इसलिए पूरा सिलेबस नहीं, केवल बेहतर रणनीति के आधार पर तैयारी करनी है। पिछली बार के प्रश्नों और उनसे संबंधित टॉपिक को रिवाइज करना है। जो भी अब तक पढ़ा है, उसका रिवीजन करना है। प्री एग्जाम केवल क्वालीफाई करना है। इसमें सिलेक्ट होने वाले ही मेन्स में जाएंगे। फाइनल सिलेक्शन में प्री के नंबर नहीं जुड़ेंगे, बल्कि मेन एग्जाम के नम्बर जुड़ेंगे। इस प्री एग्जाम में पास होने वाले कैंडिडेट्स कुल वैकेंसी के 15 से 20 गुणा तक होंगे। ऐसा माना जा रहा है। इसलिए मिनिमम क्वालीफाइंग मार्क्स लाने के लिए यह पेपर महत्वपूर्ण है।

इस सीरीज में आगे क्या खास
दैनिक भास्कर को पहले दिन से ही अभ्यर्थियों के सवाल मिल रहे हैं। हम एक्सपर्ट टीचर्स से रिव्यू करवा रहे हैं। बहुत परीक्षा से जुड़े आपकी कॉमन समस्याओं का हम एक्सपर्ट से जवाब लेंगे और आप तक पहुंचाएंगे। एग्जाम की ढंग से तैयारी के लिए हर सब्जेक्ट के एक्सपर्ट के टिप्स आपको हमारे मोबाइल ऐप पर रोज मिलेंगे। बहुत जल्द मॉडल टेस्ट सीरीज भी आपके लिए तैयार की जा रही है।

अपने सवाल हमें ऐसे भेजें
VDO भर्ती को लेकर अगर आपके भी कोई सवाल हैं, तो उसे हमें भेजें। आपके कॉमन सवालों को हमारी टीम कलेक्ट करेगी, जिनके जवाब सब्जेक्ट के एक्सपर्ट देंगे। अगले 30 दिन हमारे मोबाइल ऐप से जुड़कर करें परीक्षा की तैयारी। यहां क्लिक कर भेजें अपने सवाल...

एक्सपर्ट टिप्स से लेकर फ्री मॉडल टेस्ट सीरीज, मिलेंगे ग्राम विकास अधिकारी बनने के सक्सेस मंत्र

खबरें और भी हैं...