पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हेड कांस्टेबल रोहिताश मीणा को सशस्त्र सलामी:पुलिस महकमे ने नम आंखों से शव किया रवाना, सम्मान में सेंदड़ा का बाजार बंद

सेंदड़ा (पाली)13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेंदड़ा थाने के हेड कांस्टेबल रोहिताश् के शव पर पुष्प अर्पित करते पुलिस अधिकारी व ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सेंदड़ा थाने के हेड कांस्टेबल रोहिताश् के शव पर पुष्प अर्पित करते पुलिस अधिकारी व ग्रामीण।

ट्रेलर चालक की गलती से अकाल मौत का शिकार हुए सेंदड़ा थाने के हेड कांस्टेबल रोहिताश मीणा के तिरंगे में लिपटे शव को बुधवार सुबह सशस्त्र सलामी देकर शव उनके गांव के लिए रवाना किया गया। इस दौरान मौके कई पुलिस अधिकारियों की आंखें नम हो गई। हेड कांस्टेबल के सम्मान में सेंदड़ा के व्यापारियों ने भी बुधवार अपने प्रतिष्ठान बंद रखें तथा शव रवाना होने के बाद प्रतिष्ठान खोले। इस दौरान एसपी कालूराम रावत, सीओ जैतारण सुरेश कुमार, सेंदड़ा थानाप्रभारी मनोज सामरिया, सेंदड़ा सरपंच रतनसिंह भाटी, पूर्व सरपंच पांचूसिंह चौहान, पूर्व सरपंच शंकरलाल कटारिया सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।

अन्य दो मृतकों की भी हुई शिनाख्त
थानाप्रभारी सामरिया ने बताया कि हादसे में मौत का शिकार हुए अन्य दो युवकों की शिनाख्त हो गई हैं। बाड़मेर जिले के कुण्डावा (धोरीमन्ना) निवासी 40 वर्षीय पीराराम पुत्र चोखाराम जाट तथा जोधपुर के सूरसागर थाने के कालीबेरी निवासी 36 वर्षीय हेमसिंह पुत्र भंवरलाल माली के रूप में हुई। दोनों मृतक ट्रक चालक थे। दोनों मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम करवा बुधवार को शव परिजनों को सौंपे।

मृतक हेड कांस्टेबल रोहिताश मीणा
मृतक हेड कांस्टेबल रोहिताश मीणा

ऐसे हुआ था हादसा
सेंदड़ा थाने के लालपुरा घाटे में मंगलवार देर रात को दो ट्रकों में टक्कर हो गई थी। सूचना पर हेड कांस्टेबल रोहिताश भी अन्य पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर गए। वे घटना स्थल का मौका मुआयना कर रहे थे। इस दौरान दोनों ट्रकों के चालक भी पास खड़े थे तथा अन्य पुलिसकर्मी दूर खड़े थे। इस दौरान ब्यावर की तरफ से तेज गति से आए ट्रेलर चालक ने तीनों को चपेट में ले लिया था। हादसा इतना भीषण था कि तीनों की मौके पर ही मौत हो गई थी। मामले में ट्रेलर चालक फरार हो गया। जिसकी तलाश में पुलिस जुटी हुई हैं।

सम्मान में तिरंगे में लपेट शव भेजा गांव।
सम्मान में तिरंगे में लपेट शव भेजा गांव।

तीन माह पूर्व रोहिताश के पिता की भी हो चुकी हैं सड़क हादसे में मौत
हेड कांस्टेबल रोहिताश मीणा अलवर जिले के थानागजी थाने के द्वारपुरा निवासी थे। वे पाली में पुलिस कांस्टेबल पद पर भर्ती हुए थे। हेड कांस्टेबल पद पर पदोन्नत होकर वे कालू थाने से सेंदड़ा गए थे। करीब तीन माह पूर्व उनके पिता सादूराम मीणा की भी सड़क हादसे में मौत हो चुकी हैं। रोहिताश व उनका परिवार अभी इस सदमे से उभरा भी नहीं था कि रोहिताश की सड़क हादसे में मौत ने परिवार पर मानो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। हादसे की खबर सूनकर उनकी पत्नी व मां का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। उन्हें अब भी यकीन नहीं हो रहा हैं कि रोहिताश अब इस दुनिया में नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...