• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jagdeep Dhankar; RSS Kanooni Sankat Mochan | Vice Presidential Election Result 2022, Pralhad Joshi

धनखड़ के उपराष्ट्रपति बनने की इनसाइड स्टोरी:अजमेर-समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट और अयोध्या केस में चलाया लीगल माइंड, बड़े नेताओं को बचाया

जयपुर4 महीने पहलेलेखक: समीर शर्मा

11 अकबर रोड। BJP संसदीय मंत्री प्रहलाद जोशी का सरकारी निवास। यहां राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के लोगों और BJP के नेताओं का जुटना शुरू हो गया है। इन सबके बीच सबकी निगाह यहां मौजूद एक ही व्यक्ति पर है और वो शख्स है- जगदीप धनखड़। NDA के उपराष्ट्रपति पद के दावेदार जगदीप धनखड़ यहां भाजपा के नेताओं सहित तमाम लोगों से मिल रहे हैं।

यहीं, राम जन्म भूमि मामले में बड़ी भूमिका निभाने वाले RSS के तीन-चार बड़े पूर्व प्रचारकों से मुलाकात हुई, जो अब BJP की चुनावी तैयारियों व रणनीति में बड़ी भूमिका निभाते हैं। इन्हें मीडिया में आने से परहेज है। उपराष्ट्रपति पद के लिए धनखड़ का नाम तय होने को लेकर अभी लोग ऊपर-ऊपर की ही बातें जानते हैं। धनखड़ से जुड़ी कई ऐसी जानकारियां मिलीं, जो अब तक लोगों के सामने नहीं आई थीं।

हम इस खबर में आपको गहराई से बताएंगे कि उनके नाम तय होने के असल कारण क्या रहे। इन तथ्यों को हमने धनखड़ के रिश्तेदारों से भी क्रास चैक किया।
उपराष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग:अब तक 400 से ज्यादा सांसद वोट डाल चुके, NDA कैंडीडेट धनखड़ का जीतना तय

RSS-BJP पर लगे आतंकी घटनाओं के दाग हटाए
यहां RSS के एक पूर्व प्रचारक (जो अभी बीजेपी संगठन में काम कर रहे हैं) ने बताया धनखड़ RSS के लिए कानूनी संकट मोचक रहे हैं। वे कभी सीधे तौर पर सामने नहीं आए। उन्होंने बताया कि जब वर्ष 2007 में RSS-BJP के नाम को आतंकी घटनाओं से जोड़कर बदनामी का दाग लगाया जा रहा था, तब धनखड़ ने अपने लीगल माइंड से ये दाग हटाए।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2007 में हैदराबाद में मक्का मस्जिद, वर्ष 2008 में महाराष्ट्र के मालेगांव बम ब्लास्ट हो या फिर समझौता एक्सप्रेस या अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट, सभी को लेकर संगठन अपनी बदनामी को लेकर चिंतित थे, तब धनखड़ ने डिफेंस लॉयर टीम को बाहर से काफी सपोर्ट किया। हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील और धनखड़ के साले प्रवीण बलवदा ने भी इसकी पुष्टि की।

अपने जीजा धनखड़ के साथ RSS में सक्रिय रहे बलवदा ने बताया कि लीगल टीम के साथ धनखड़ ने विभिन्न मामलों की चार्जशीट की कमियों को ढूंढा और सबूतों के अभाव को साबित कर दिया। इससे संगठन के पक्ष में फैसले हुए। धनखड़ RSS के अधिवक्ता परिषद के सम्मेलनों में कई बार मुख्य वक्ता भी रहे हैं।

रात की ठंडी रोटी धनखड़ का ब्रेकफास्ट:गांव में अंग्रेजी बोलने वाले पहले शख्स; आज उपराष्ट्रपति के लिए चुनाव

7 दिन में नाम हो गया तय
RSS की झुंझुनूं में 7 से 9 जुलाई 2022 के बीच हुई बैठक को भी धनखड़ के नाम तय करने वाले प्रमुख पहलुओं में गिना जा रहा है। इस बैठक के ठीक 7 दिन बाद धनखड़ का नाम उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए घोषित किया गया।
इस बैठक में आए RSS के पदाधिकारी धनखड़ के पैतृक गांव किठाना (झुंझुनूं) पहुंचे। धनखड़ के फार्म हाउस के केयर टेकर महिपाल ने बताया कि इसके चलते धनखड़ की पत्नी सुदेश धनखड़ भी अचानक गांव पहुंची थीं। उन्होंने RSS के बड़े पदाधिकारियों के लिए खुद अपने हाथों से ही खाना बनाया था।

उपराष्ट्रपति चुनाव आज; BJP के वोट ही धनखड़ को जिताने के लिए काफी

राम जन्मभूमि केस में भी दिए जरूरी इनपुट
सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर, 2019 को 134 साल पुराने अयोध्या मामले में अपना फैसला दिया। राम जन्मभूमि से जुड़े इस मामले में भी धनखड़ का रोल अहम रहा, लेकिन इस बार भी पर्दे के पीछे।

RSS प्रचारकों, प्रवीण बलवदा ने बताया धनखड़ ने लीगल टीम तक कई जरूरी इनपुट पहुंचाए थे। उन्होंने कहा कि राम जन्म भूमि पर फैसला आने के सप्ताह भर पहले धनखड़ के एक बयान से उनकी भूमिका की गहराई बताई जा सकती है। धनखड़ ने कहा था- मंदिर तो बनेगा ही। विकल्प के तौर पर संसद में कानून लाकर राम मंदिर बनाया जा सकता है।

बेटे की मौत ने धनखड़ को तोड़ दिया था:बचपन में कपड़ों की गेंद से खेलते, राजनीति में नहीं आना चाहते थे

6 दिन के बाद सलमान को दिला दी जेल से बेल
अभिनेता सलमान खान के खिलाफ वर्ष 1998 में जोधपुर में दर्ज हुए काले हिरण शिकार मामले को कौन भूल सकता है। तब इस आरोप में सलमान 6 दिन जेल में रहे। उनको बेल दिलाने के लिए धनखड़ ने केस लड़ा और बेल दिलाने में सफल हुए। उस समय उनकी सलमान खान के साथ की एक फोटो भी है, जो जोधपुर के वकील देवानंद गहलोत के पास अब भी मौजूद है।

जगदीप धनखड़ से जुड़ी ये खबर भी पढ़ सकते हैं...

इतने तेज कि सीनियर्स को मैथ पढ़ाते थे धनखड़: कमजोर नजर के कारण आर्मी में नहीं जा सके; हॉकी-फुटबॉल के स्टार प्लेयर
अब राजस्थानी ही चलाएंगे दोनों सदन: कामयाब वकील रहे हैं जगदीप धनखड़; भैरोसिंह शेखावत के बाद राजस्थान से दूसरे उपराष्ट्रपति होंगे