• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • When The Government Patted Its Back Declearing Reet Result Very Early, BJP, Unemployed, Experts And Advocates Pulled Up

36 दिन में REET का रिजल्ट:पेपर लीक की SOG जांच जारी, कोर्ट की भी छुट्टियां; एक्सपर्ट बोले- जल्दबाजी से बढ़ी शंका

जयपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रीट का रिजल्ट जल्दबाजी और हड़बड़ी में निकालने के आरोप। - Dainik Bhaskar
रीट का रिजल्ट जल्दबाजी और हड़बड़ी में निकालने के आरोप।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 26 सितम्बर को हुई रीट परीक्षा का रिजल्ट डिक्लेयर कर सभी को चौंका दिया है। परीक्षा से डेढ़ घंटे पहले पेपर लीक का खुलासा एसओजी पहले ही कर चुकी है। अभी एसओजी की जांच पूरी नहीं हुई, लेकिन परीक्षा के 36 दिन में ही बोर्ड ने रिजल्ट जारी कर दिया। सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। इससे कई आशंकाएं अभ्यर्थियों, बेरोजगार युवाओं, सब्जेक्ट एक्सपर्ट्स और केस लड़ रहे वकीलों के मन में पैदा हो गई हैं।

रीट रिजल्ट को लेकर सीएम का ट्वीट।
रीट रिजल्ट को लेकर सीएम का ट्वीट।

सरकार ने पीठ थपथपाई

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खुद रीट भर्ती परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद ट्वीट कर परीक्षा में सफल हुए सभी कैंडिडेट्स को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। गहलोत ने साथ ही यह भी कहा है कि जो कैंडिडेट्स एग्जाम में सफल नहीं हो सके हैं, वो निराश ना हों। आगे आने वाली परीक्षाओं की तैयारी करें। सिर्फ एक परीक्षा जीवन का रास्ता तय नहीं कर सकती। इसलिए मेहनत करते रहें।

शिक्षा राज्य मंत्री डोटासरा ने दिया मैसेज

शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने भी मुख्यमंत्री के ट्वीट को ही रिट्वीट कर मैसेज देने का काम किया है। ताकि पब्लिक में यह संदेश जाए कि मुख्यमंत्री से पूरी तरह बातचीत होने और उनकी मंजूरी के बाद ही सरकार ने रिजल्ट जारी करवाया है।

बेरोजगारों के भविष्य को फायदा

रीट लेवल-1 और 2 में करीब 25 लाख कैंडिडेट्स ने आवेदन किया था। जल्द परिणाम जारी करवाने के पीछे यह भी सोच रही कि विवाद पर विराम लगाने के लिए यह अच्छा रास्ता हो सकता है। करीब 31 हजार बेरोजगारों को इससे शिक्षक बनने का मौका मिलेगा। सरकार इन भर्तियों को अपने खाते में दिखाकर बेरोजगारों की जल्द नियुक्तियों का रास्ता साफ करेगी।

रीट का रिजल्ट जल्दी क्यों जारी किया गया

रीट 2021 का रिजल्ट हाईकोर्ट में केस पेंडिंग रहने तक रोकने, केन्द्रीय एजेंसी से जांच करवाने जैसी मांगों की याचिकाएं पेंडिंग हैं। 10 और 11 नवम्बर 2021 को इनकी अगली सुनवाई होनी है। फिलहाल कोर्ट में दिवाली की छुटि्टयां हैं। बेरोजगारों, एक्सपर्ट्स और केस लड़ रहे एडवोकेट्स को संदेह है कि रिजल्ट पर रोक लगने की आशंका में सरकार ने जल्दबाजी और हड़बड़ी में रिजल्ट जारी करवा दिया है, जिसे कोर्ट में चुनौती दी जाएगी।

बीजेपी सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा बेरोजगार युवाओं के बीच।
बीजेपी सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा बेरोजगार युवाओं के बीच।

बीजेपी के राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा का व्यू

बीजेपी सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने दैनिक भास्कर से कहा कि स्पष्ट है कि रीट भर्ती परीक्षा-2021 में बड़ा घपला हुआ है। पेपर लीक में सरकार की मिलीभगत है। इसलिए जल्दबाजी में रिजल्ट जारी कर दिया। हाल ही पहले शिक्षा मंत्री ने कहा था कि एक-डेढ़ महीने बाद रिजल्ट जारी होगा। सरकार ने एसओजी और कोर्ट की परवाह नहीं की। केस सब ज्यूडिस होने के बावजूद परिणाम जारी कर दिया।

बेरोजगार महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव का ट्वीट
बेरोजगार महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव का ट्वीट

बेरोजगार महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव का व्यू

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने कहा है कि रीट का परिणाम करीब 1 महीने में ही जारी कर दिया गया। प्रयोगशाला सहायक भर्ती 2018, पंचायतीराज एलडीसी सहित कई भर्तियों के परिणाम सालों से पेंडिंग चल रहे हैं। सरकार को सीबीआई का इतना डर था तो कम से कम पेपर लीक के मुख्य आरोपी भजनलाल को पकड़ा जाता और जिससे रीट का पेपर खरीदने वाले अभ्यर्थियों को बाहर किया जाता। रीट में पदों की संख्या बढ़ाई जाती।

जयंती लाल खण्डेलवाल, सब्जेक्ट एक्सपर्ट, इतिहास
जयंती लाल खण्डेलवाल, सब्जेक्ट एक्सपर्ट, इतिहास

सब्जेक्ट एक्सपर्ट्स का व्यू

इतिहास एक्सपर्ट डॉ. जयन्ती लाल खण्डेलवाल ने दैनिक भास्कर से कहा कि जब रीट परीक्षा में धांधली का मामला जांच एजेंसियों और कोर्ट में पेंडिंग है, तो ऐसे में धनतेरस की छुट्‌टी के दिन रिजल्ट निकालना बोर्ड की कार्यशैली को लेकर बेरोजगारों के मन में कई आशंकाएं पैदा करता है। सरकार को इन परिस्थितियों से बचना चाहिए।

संजय कुमार, सब्जेक्ट एक्सपर्ट, कम्प्यूटर साइंस
संजय कुमार, सब्जेक्ट एक्सपर्ट, कम्प्यूटर साइंस

आपत्तियां मांगने के 7 दिन में परिणाम जारी कर चौंकाया

कम्प्यूटर विषय के एक्सपर्ट संजय कुमार ने दैनिक भास्कर से कहा कि रीट की परीक्षा के प्रश्नों में त्रुटि (ERROR) की आपत्तियां मांगी गईं थीं। इसमें बहुत कम समय दिया गया। जिस दौरान विद्यार्थी अन्य भर्ती परीक्षा में व्यस्त थे। हर एक ऑब्जेक्शन पर 300 रुपए का पेमेंट रखा गया। कैंडिडेट्स को 26 अक्टूबर की रात तक का ही समय दिया। इसके कारण कम ही आपत्तियां दर्ज हो पाईं। आपत्तियां आने के हफ्तेभर के अंदर ही परिणाम जारी होना चौंकाने वाला है। रीट परीक्षा में धांधली और पेपर आउट के आरोप के मामले न्यायालय में विचाराधीन हैं। इतनी जल्दी परिणाम जारी करने का कारण क्या है। क्या सरकार बोर्ड से जल्द परिणाम जारी करवा कर कैंडिडेट्स के मन में आशंकाओं को दबाने की कोशिश तो नहीं कर रही है, यह भी प्रश्न खड़ा हो गया है।

बीच में याचिकाकर्ता भागचन्द। साथ में, उनके एडवोकेट्स दिनेश गर्ग और दीपक कैन।
बीच में याचिकाकर्ता भागचन्द। साथ में, उनके एडवोकेट्स दिनेश गर्ग और दीपक कैन।

HC में याचिकाकर्ता भागचन्द शर्मा के एडवोकेट दिनेश कुमार गर्ग और दीपक कुमार कैन का व्यू

हाईकोर्ट में याचिका लगाने वाले भागचन्द शर्मा के एडवोकेट दिनेश कुमार गर्ग और दीपक कुमार कैन ने दैनिक भास्कर से कहा कि राजस्थान हाईकोर्ट में दिवाली की छुटि्टयां 7 नवम्बर तक रहेंगी। 10 नवम्बर को रीट कैंडिडेट भागचन्द शर्मा और 11 नवम्बर को मधु कुमारी नागर की याचिका पर सुनवाई होनी है। उससे पहले ही बोर्ड ने सरकार के दबाव में एसओजी की जांच पूरी हुए बिना जल्दबाजी और हड़बड़ी में परिणाम जारी कर दिया। सरकार को न्यायालय के आदेश की प्रतीक्षा करनी चाहिए थी। जब न्यायालय में मामला विचाराधीन है, सरकार उसमें पार्टी है। तब परिणाम जारी करना नैतिक रूप से सही नहीं है।

रिजल्ट के एग्जीक्यूशन पर रोक लगाने की रहेगी मांग

याचिकाकर्ता के वकीलों ने कहा आशंका इसलिए भी प्रतीत होती है, क्योंकि राज्य की एसओजी ने ही रीट पेपर लीक पाया है। एक्शन लेते हुए सरकार ने कई अधिकारियों, कर्मचारियों को सस्पेंड किया है। फिर भी जल्दबाजी में रिजल्ट जारी करना पारदर्शिता पर सवाल खड़े करता है। ऐसा लगता है न्यायालय में दिवाली की छटि्टयां देखकर सरकार ने रिजल्ट जारी करवाया है। कोर्ट से निवेदन किया जाएगा कि रिजल्ट के एग्जीक्यूशन पर रोक लगाते हुए केस की निष्पक्ष जांच होने तक नियुक्तियां नहीं होने दी जाएं।

REET का रिजल्ट जारी:लेवल-1 में राजसमंद के अजय वैष्णव और लेवल-2 में श्रीगंगानगर के कीरत सिंह ने टॉप किया

RBSE ने किया केवल पात्र घोषित:REET-2021 के रिजल्ट में 10% एकेडमिक इंडेक्स मार्क्स जुडे़ंगे; शिक्षा निदेशालय की ओर से तैयार होगी फाइनल मेरिट लिस्ट

कोचिंग छोड़ एग्जाम पेपर सॉल्व किए, अब REET टॉपर:सुरभि को लेवल-2 में मिला पहला स्थान, बोलीं- पढ़ाई के लिए कभी बंदिश नहीं रखी

खबरें और भी हैं...