आबूरोड के निचलासांगना में नहीं है बिजली:स्ट्रीट लाइट तक नहीं, विरोध के बाद खंबे तो लगे पर नहीं जली लाइट

आबूरोडएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

देश-प्रदेश की सरकारें सालों साल आई और गई शासन को 70 सालों से भी अधिक समय हो गया पर विकास के दांवे करने वाली हर पार्टियों के वादे आबूरोड शहर से मात्र 10 किलोमीटर दूर निचलासांगना गांव आकर टूट जाते है। जब देखा जाता है कि यहां के ग्रामीणों को अभी तक बिजली नहीं मिली हैं और नहीं प्रशासन ने यहां स्ट्रीट लाइट लगवाई हैं।

ग्रामीणों ने बिजली को लेकर कई बार विभाग और अधिकारियों को अवगत करवाया पर कोई समाधान नहीं निकला । पिछले दिनों 'प्रशासन गांवों के संग अभियान' के तहत खड़ात ग्राम पंचायत में लगे शिविर में गांववालो के विरोध के बाद सड़क पर बिजली के खंबे जरूर खड़े हो गए पर बिजली अब तक नसीब नहीं हो पाई।

निचलासांगना से होते हुए आदिवासी क्षेत्र भाखर का रास्ता जाता है। ऐसे में बड़ी संख्या में लोगों का आवागमन इस सड़क पर रहता है। स्ट्रीट लाइट नहीं होने पर असामाजिक तत्त्व रात में वाहनों पर पत्थरबाजी और चोरी जैसी घटनाओं को भी अंजाम देते है। गांव में बिजली की समस्या का समाधान के लिए लोगों ने विरोध दर्ज करवाया।

खबरें और भी हैं...