किसानों के बिजली की झूठी शीट भरने का मुद्दा:ग्रामीणों ने लाइनमैन को नहीं हटाने पर प्रशासन गांवों के संग अभियान का बहिष्कार करने की दी चेतावनी

बर मारवाड़17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विधायक ने लाइनमैन को हटाने की मांग को लेकर दिया था धरना

मेसिया ग्राम पंचायत के किसानों एवं ग्रामीणों द्वारा ग्राम पंचायत में होने वाला प्रशासन के गांवों के संग अभियान का बहिष्कार कर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। जैतारण विधायक अविनाश गहलोत ने बिजली विभाग के कर्मचारियों पर बिना रिश्वत कार्य नहीं करने का आरोप लगाते हुए जल्द से जल्द आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

किसान नेता आरती सिंह राठौड़ ने बताया कि बर बिजली विभाग में कार्यरत लाइनमैन परशुराम मीणा द्वारा खेड़ा मामावास के ग्रामीणों को बिजली चोरी के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देते हुए आए दिन गरीबों के राशन की गेहूं लेकर चला जाता है तो कई बार किसानों को खेतों से अपने पशुओं के लिए चारा भी लेकर जाता है।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पूर्व जैतारण विधायक अविनाश गहलोत के नेतृत्व में जैतारण विधानसभा क्षेत्र के बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने बर बिजली घर के सामने धरना प्रदर्शन किया था तथा उच्च अधिकारियों को लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी।

जिस पर उच्च अधिकारियों द्वारा लाइनमैन को हटाकर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था। मामले में 1 सप्ताह बीत जाने के बावजूद भी अधिकारियों द्वारा कार्यवाही नहीं किए जाने के कारण अब वापस किसानों द्वारा “प्रशासन गांव के संग अभियान” का बहिष्कार करने को लेकर रणनीति बनाई जा रही है।

विधायक पहले भी लगा चुके हैं गंभीर आरोप

जैतारण विधायक अविनाश गहलोत पूर्व में भी बिजली कर्मचारियों पर बिना रिश्वत कार्य नहीं करने के गंभीर आरोप लगा चुके हैं। गौरतलब है कि कुछ दिनों पूर्व जैतारण कार्यालय में कार्यरत एक्सईएन महेंद्र मीणा ₹25000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुए थे। मीणा के गिरफ्तार होने के बाद जैतारण विधायक गहलोत ने विधानसभा में ऊर्जामंत्री के सामने कर्मचारियों द्वारा बिना रिश्वत काम नहीं करने की गंभीर आरोप भी लगाए थे। इसके बाद मंत्री ने बर बिजली के अंतर्गत आने वाले 3 जेईएन का स्थानांतरण भी किया था।

प्रशासन गांवाें के संग शिविर का बहिष्कार करेंगे
लाइनमैन परशुराम मीणा द्वारा किसानों के घर से राशन के गेहूं एवं पशुओं के लिए चारा लेकर जाता है। उसे यह सब नहीं देने पर जबरदस्ती बिजली चोरी करने का आरोप में शीट भरने की धमकी देता है। किसान काफी लंबे समय से परेशान है। कुछ समय पहले भी धरना प्रदर्शन किया था। अधिकारियों की हठधर्मिता के आगे किसान परेशान है। मेसिया ग्राम पंचायत के ग्रामीणाें एवं किसानों ने अब प्रशासन गांवों के संग अभियान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। कैंप के दिन उच्च अधिकारियों के सामने धरना प्रदर्शन तथा आमरण अनशन किया जाएगा। जिसकी जिम्मेदारी सरकार की अधिकारियों की होगी।
- आरपी सिंह राठौड़, किसान नेता

किसानों को सताया जा रहा, अब आंदोलन करेंगे

लाइनमैन परशुराम मीणा द्वारा किसानों को जबरदस्ती परेशान किया जा रहा है। 1 सप्ताह पूर्व धरना प्रदर्शन करने के बावजूद भी विभाग द्वारा कोई भी तरह की कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। लाइनमैन द्वारा किसानों को सताया जा रहा है, उन्हें परेशान किया जा रहा है। जल्दी आंदोलन किया जाएगा।

- अविनाश गहलोत, विधायक, जैतारण

खबरें और भी हैं...