पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई की मांग:माइनर को क्षति पहुंचाने वाले काश्तकारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग, सौंपा ज्ञापन

चितलवाना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वितरिका के अंतिम टेल के किसानों ने डिग्गी अध्यक्षों के माध्यम से नर्मदा विभाग के अधिकारियों को लिखित में ज्ञापन भेजकर माइनर में लगे अवैध पाइप को हटाकर डैमेज वितरिका को सही करने व क्षतिग्रस्त करने वाले काश्तकारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।

ज्ञापन में बताया गया है कि उपखंड क्षेत्र के मानकी वितरिका से निकलने वाली सेसावा ए माइनर में किसानों की ओर से अवैध तरीके से माइनर को क्षति पहुंचाकर जगह जगह अवैध पाइप डालकर जमीनी जलस्तर बढ़ाने के मकसद से अपना निजी स्वार्थ देखते हुए कई किसान समय पर बिल भरते है।

ओर आगे टेल तक किसानों के खेत हमेशा सुखे रहते है की मानकी वितरिका से गुजरने वाली सेसावा ए माइनर के पेंदे मैं किसानों की ओर से क्षतिग्रस्त कार जगह जगह अवैध पाइप डाल रखे हैं ऐसे में पानी अंतिम टेल तक नहीं पहुंच पाता है। जिसके कारण अंतिम टेल के किसानों को अपने खेतों में सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पाता है।

लंबे समय से डाल रखे हैं अवैध पाइप : डिग्गी अध्यक्षों का कहना है कि वितरिका में दर्जनों किसानों की ओर से माइनर के पेंदे को क्षतिग्रस्त कर अवैध पाइप डाल दिए गए हैं। ऐसे में पानी अंतिम टेल तक नहीं पहुंच पाता है। जिसके कारण अंतिम टेल के किसानों को अपने खेतों में सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पाता है।

खबरें और भी हैं...