अन्तर्राज्यीय नकबजन बागरिया गैंग सरगना सहित दो गिरफ्तार:70 से अधिक वारदातों का खुलासा, सूने व बंद मकानों की रैकी कर देते चोरी की वारदात को अंजाम

जैतारण6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जैतारण थाना पुलिस क्षेत्र मे सूने मकानों मे चोरी व नकबजनी की घटनाओं को लेकर पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला के निर्देशन मे गठित टीम ने चोरी की वारदातों का खुलासा कर बागरिया गैंग के मुख्य सरगना सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार कर 70 से अधिक वारदात का खुलासा किया।

सीआई दिनेश कुमावत ने बताया कि बागरिया गैंग के सरगना कालू उर्फ कैलाश पुत्र रतनलाल बागरिया व किशन पुत्र नाथूराम बागरिया निवासी कैरोट पुलिस थाना भिनाय अजमेर को गिरफ्तार कर पूछताछ मे 70 से अधिक चोरी करने की वारदात को कबूल किया।

सरगना द्वारा वारदात करने का तरीका

बागरिया गैंग के सरगना के सदस्यों हर समय बाइक पर तीन जने सवार होकर दिनभर रैकी करते गांवों मे सूने व बन्द पड़े मकानों की रैकी कर वारदात को अंजाम देते। चोरी की वारदात मकान की छत या खिड़की को तोड़कर मकान मे रखे सोने चांदी के आभूषण चोरी कर फरार हो जाते थे। आरोपियों द्वारा 70 से अधिक वाहन चोरी लूट, डकैती, वारदात को अंजाम दिया। बागरिया गैंग द्वारा पाली जिले के जैतारण, तख्तगढ़, सुमेरपुर, साण्डेराव, रानी, देसूरी, सोजत, खराडी, डिगरना, सहित अजमेर, जोधपुर शहर व ग्रामीण, जयपुर शहर व ग्रामीण, नागौर, उदयपुर, राजसमन्द, चितौड़गढ़, बाड़मेर, भीलवाड़ा, अजमेर, गुजरात, मध्यप्रदेश, गुड़गांव, हरियाणा, गैंगलोर, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हैदराबाद में रात व दिन मे 70 से अधिक वारदात करना कबूल किया।

पूछताछ में ये हुआ खुलासा

बागरिया गैंग द्वारा 70 से अधिक वारदात करना कबूल किया जिसमें पाली मे 4 से 5, अजमेर मे 10 से 15, बाड़मेर मे 2 से 3, उदयपुर व राजसमन्द मे 5 से 7, भीलवाड़ा मे 3 से 4, चितौड़गढ़ मे 2 से 5, नागौर मे 2 से 3, जयपुर मे 5 से 7, सीकर मे 2 से 3, जोधपुर मे 10 से 15, बैंगलोर मे 10 से 12, गुजरात मे 10, हरियाणा 15 से 20 मध्यप्रदेश 10 से 12 वारदात करना कबूल किया।

ये रहे टीम मे शामिल

सीआई दिनेश कुमावत, एसआई प्रकाशचन्द, एएसआई राजेन्द्र मीणा, मु.आ. राजेन्द्रसिंह, का. दिलीपसिंह, संजय पोसवाल, राजेन्द्र, राकेश, बलराज, शिवनारायण टीम मे शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...