पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसीबी की कार्रवाई:रिपोर्ट सुधारने के लिए निजी स्कूल से मांगे 30 हजार, 4 पद संभाल रहे डीईओ समेत 3 कर्मचारी गिरफ्तार

जालोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • देवनारायण गुरुकुल योजना की रिपोर्ट में खामियां बता मांगी थी रिश्वत
  • सहायक प्रशासनिक अधिकारी दिनेश को 30 हजार रुपए लेते ही ट्रेप कर लिया

बतौर कार्यवाहक जिला शिक्षा अधिकारी 30 हजार रुपए की रिश्वत मांगने के मामले में अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक समसा मोहनलाल मेघवाल सहित दफ्तर के तीन कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया गया। देवनारायण गुरुकुल योजना के तहत विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृति योजना की रिपोर्ट सही बनाकर निदेशालय को भेजने के एवज में रिश्वत मांगी गई थी। सहायक प्रशासनिक अधिकारी दिनेश कुमार द्वारा यह राशि लेने के बाद लेखाधिकारी बसंत कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

गुरुवार को चार सदस्यों की टीम ने देवनारायण गुरुकुल योजना में चयनित विद्यालय भाद्राजून की सरस्वती विद्या मंदिर उच्च माध्यमिक विद्यालय का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी मोहनलाल मेघवाल व लेखाधिकारी बसंत कुमार ने रिपोर्ट सही बनाने के एवज में 30 हजार रुपए की मांग की थी।

विद्यालय के कार्यालय प्रभारी पंकज व्यास ने एसीबी में शिकायत दर्ज करवाई। सत्यापन होने पर कार्यालय प्रभारी रुपए देने के लिए डीईओ ऑफिस पहुंचा, लेकिन उस समय दोनों अन्य विद्यालय का निरीक्षण करने गए हुए थे।

उनके कहे अनुसार कार्यालय मेंं कार्यरत सहायक प्रशासनिक अधिकारी दिनेश कुमार को 30 हजार रुपए की राशि दी गई। राशि देते ही एसीबी के एएसपी डॉ. महावीर सिंह राणावत की टीम ने दबिश देकर स्कूटी की डिक्की से बरामद कर दिनेश कुमार को कार्यालय से ही टीम ने गिरफ्तार कर लिया।

दूसरे विद्यालय का निरीक्षण कर रहे थे, तभी एसीबी ने पकड़ लिया

माध्यमिक शिक्षा विभाग के निदेशक सौरभ स्वामी के निर्देशानुसार देवनारायण गुरुकुल योजना के तहत विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृति योजना के चयनित जिले के दो विद्यालय का निरीक्षण कर पुनर्भरण राशि भुगतान को लेकर रिपोर्ट भेजनी थी।

इसको लेकर चार सदस्यों की टीम थी। जिसमें जिला शिक्षा अधिकारी, समाज कल्याण विभाग का अधिकारी, निदेशालय द्वारा नियुक्त जिला प्रभारी अधिकारी व लेखाधिकारी शामिल थे। यह टीम भाद्राजून की सरस्वती विद्या मंदिर व मालवाड़ा की सरस्वती विद्या मंदिर का निरीक्षण कर रिपोर्ट भेजनी थी।

गुरुवार को सरस्वती विद्या मंदिर भाद्राजून का निरीक्षण कर लिया एवं उसकी रिपोर्ट के लिए 30 हजार रुपए भी मांगे। दिनेश को गिरफ्तार करते हुए दोनों को पकडऩे के लिए एसीबी मालवाड़ा पहुंच गई और वहां से दोनों को गिरफ्तार कर जालोर लेकर पहुंची।

पहले भी विवादों में रह चुके, महिला कर्मचारी ने गंभीर आरोप लगाए थे

रिश्वत के मामले में गिरफ्तार जिला शिक्षा अधिकारी मोहनलाल मेघवाल पहले भी विवादों में रह चुके हैं। 22 मई 2019 के दौरान अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक के पद पर थे। उस समय उनके खिलाफ उनके विभाग में ही कार्यरत महिला कार्मिक जिला समन्वयक ने गंभीर आरोप लगाए थे। मामला महिला थाने मामला दर्ज हुआ था। महिला ने मानसिक व शारीरिक रूप से तंग व परेशान करने का आरोप लगाया है। हालांकि उस समय में पुलिस ने एफआर लगा दी।

अभी इन चार पदों पर तैनात हैं मेघवाल

मूलत: झुंझुनूं निवासी जिला शिक्षा अधिकारी मोहनलाल मेघवाल 4 पदों पर तैनात हैं। उनके पास अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक समसा का मूल पद है। जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक व माध्यमिक, डाइट प्रिंसिपल व सीबीईईओ जालोर का अतिरिक्त पद है।

30 हजार रुपए की राशि बरामद की

परिवादी ने रिपोर्ट देकर बताया कि निजी विद्यालय का निरीक्षण डीईओ समेत टीम ने किया था। इस रिपोर्ट में कमियां नहीं निकाले इसके एवज में 30 हजार रुपए मांगे। शिकायत का सत्यापन होने के बाद कार्यवाही कर 30 हजार की राशि बरामद कर तीनों को पकड़ा हैं, आगे की जांच जारी है।

- महावीर सिंह, एएसपी एसीबी​​​​​​​

खबरें और भी हैं...