विभाग का हवाला प्रस्ताव बनाकर भेजा:8 में से 7 नकलबाज शिक्षक एक दिन पहले ही सस्पेंड हो चुके, मंत्री का भतीजा कब सस्पेंड होगा?

जालोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चाटवाड़ा सरपंच महेश देवासी। - Dainik Bhaskar
चाटवाड़ा सरपंच महेश देवासी।
  • मूल पदस्थापन राजसमंद में होने के बाद जालोर में कर रहा था प्रतिनियुक्ति पर नौकरी भी

रीट परीक्षा में नकल गिरोह में भूमिका सामने के बाद जिले से जुड़े 8 शिक्षकों की गिरफ्तारी होने के बाद शिक्षा विभाग अब तक 7 को निलंबित कर चुका है। अब एक ही शिक्षक मोहनलाल विश्रोई निलंबन की कार्रवाई से बचा हुआ है, जो संयोग से वन मंत्री सुखराम विश्नोई का दूर के रिश्ते में भतीजा है। बाकी सातों शिक्षकों को मंगलवार को ही विभाग ने निलंबित कर दिया था।

चितलवाना उपखंड क्षेत्र के हालीवाव निवासी मोहनलाल विश्रोई को जयपुर में फर्जी अभ्यर्थी बनकर परीक्षा देते हुए जयपुर की पुलिस ने गिरफ्तार किया था। यह गिरफ्तारी 26 सितंबर को हुई। उसी दिन इसी धारा में जिले के अन्य 7 शिक्षकों को भी गिरफ्तार किया गया था। अब तक विभाग के अधिकारी केवल प्रस्ताव बनाकर निदेशालय भेजने की बात कह रहे हैं। उसी धारा में गिरफ्तार हुए बाकी 7 शिक्षकों का निलंबन विभाग ने तीसरे दिन ही कर दिया था।

प्रतिनियुक्ति पर सायला लगा था

नकल गिरोह में गिरफ्तार मोहनलाल विश्रोई की मूल पोस्टिंग राजसमंद जिले में सैकंड ग्रेड शिक्षक के पद पर थी। लेकिन लंबे समय से यह शिक्षक जालोर जिले के सायला उपखंड क्षेत्र में विवेकानंद मॉडल विद्यालय में प्रतिनियुक्ति पर नौकरी कर रहा था। प्रतिनियुक्ति पर राज्य सरकार की लंबे समय से रोक भी है। लेकिन नियम विरुद्ध सायला में नौकरी कर रहा था।

प्रकरण बनाकर भेज दिया

इसका मूल पदस्थान राजसमंद है। जिनका प्रकरण बनाकर निदेशालय भेज दिया गया है। जहां से जो निर्देश मिलेंगे, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी। -अशोक कुमार, संयुक्त निदेशक, पाली

प्रकरण बनाकर भेज दिया इसका मूल पदस्थान राजसमंद है। जिनका प्रकरण बनाकर निदेशालय भेज दिया गया है। जहां से जो निर्देश मिलेंगे, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी। -अशोक कुमार, संयुक्त निदेशक, पाली

खबरें और भी हैं...