जालाेर नागरिक सहकारी बैंक में हुई ठगी का खुलासा:अकाउंट हैक कर 2 घंटे में 86 लाख रुपए निकाले थे, डेढ़ साल बाद 3 आराेपी पकड़े

जालोर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैंक ठगी मामले में युवक को पकड़ती एसओजी की टीम। - Dainik Bhaskar
बैंक ठगी मामले में युवक को पकड़ती एसओजी की टीम।
  • विदेशी युवक सहित जालोर के हालीवाव निवासी समेत 3 ठग गिरफ्तार

करीब डेढ़ वर्ष पहले जालोर नागरिक सहकारी बैंक के कम्प्यूटर नेटवर्क सर्वर को हैक कर विभिन्न बैंक खातों से करीब 86 लाख रुपए का ट्रांजेक्शन करने के मामले में एसओजी ने खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चितलवाना क्षेत्र के हालीवाव, यूपी निवासी ठग के साथ एक नाइजीरियन भी इस ठगी की वारदात में शामिल था। ठगों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बैंकों में अकाउंट खुलवाया। इसके बाद बैंक से 28 खाता धारकों के अकाउंट से करीब 86 लाख रुपए दो घंटे में ट्रांसफर कर लिए।

इस मामले में एसओजी की टीम ने चितलवाना थाना क्षेत्र के हालीवाव निवासी मुकेश (32) पुत्र हरिराम विश्नाेई, यूपी के बरेली जिला के फतेहगंज निवासी राशिद (32) पुत्र इसरायल व नाइजीरिया के ईडो स्टेट के लोगास बाडागरी रोड निवासी ओमारोडियन ब्राइट (27) पुत्र ओमा क्रिश्चियन को गिरफ्तार कर लिया।

अक्टूबर 2019 में की थी ठगी

जानकारी के अनुसार 18 अक्टूबर 2019 को तीनों ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। इसके बाद 22 अक्टूबर को जयपुर एसओजी में तत्कालीन वरिष्ठ प्रबंधक हरीश अाेझा ने मामला दर्ज करवाया। जिसमें बताया कि मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से खातों में से करीब 86 लाख 42 हजार 58 रुपए निकाले गए थे। एसओजी ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

यूपी के एक युवक को पकड़ा तो उसने राशिद का नाम लिया, फिर सभी पकड़े गए

एसओजी की टीम ने विभिन्न क्षेत्र में छापेमारी कर बरेली के सीबीगंज निवासी अयूब खां पुत्र हसन खां को 30 नंवबर को घर से गिरफ्तार किया। आरोपी से पूछताछ की तो उन्होंने 20 बैंक खाते उसके दस्तावेज बदलकर खुलवाने की बात कही। उन्होंने बताया कि स्थानीय युवकों से इस प्रकार के खाते राशिद ने खुलवाए थे।

जिसके बाद यह खाता नंबर मुंबई व दिल्ली में रहने वाले नाइजीरियन युवक को देता था, जाे सर्वर हैक कर इन व्यक्तियों के खाताें में राशि डाल देता। इसके बाद आरोपी पैसे आपस में बांट देते थे। एसओजी के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शरत कविराज के सुपरविजन में पुलिस निरीक्षक उम्मेदसिंह सोलंकी की टीम ने तीनों की तलाश करते हुए राशिद को नेपाल सीमा के सिद्धार्थनगर जिले से, मुकेश कुमार को सांचौर व नाइजीरियन युवक को मालवीय नगर दिल्ली से गिरफ्तार किया।

ऐसे की वारदात : बैंक के सर्वर में सेंध कर ज्यादा राशि वाले अकाउंट हैक किया
जांच में सामने आया कि आरोपियों ने सबसे पहले बैंक के कंप्यूटर नेटवर्क को हैक कर लिया, जिसके बाद अधिक राशि वाले खाताधारकों की पहचान कर उनके खातों की निकासी राशि की क्षमता को बढ़ा दिया। फिर उनके मोबाइल नंबरों के स्थान पर स्वयं के मोबाइल नंबर बदल लिए। जिससे पैसे निकालने पर मूल खाताधारकों को मैसेज नहीं मिले।

आरोपियों ने बैंक के 4 अधिक राशि वालों खातों से फर्जी कागजातों के आधार पर खुलवाए कुल 28 बैंक खातों में करीब 86 लाख रुपए 2 घंटे में ही ट्रांसफर कर लिए। उसके बाद 28 खातों से 86 लाख रुपए की राशि भी आगे विभिन्न माध्यमों से दूसरें खातों में ट्रांसफर किए गए।

खबरें और भी हैं...