हादसा:जाेधपुर से धामसीन आते वक्त ट्रोले से भिड़ी कार, पिता और दो बेटाें सहित चार की मौत

जालोर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे में मृतक महिपालसिंह व उनके 2 बेटे। - Dainik Bhaskar
हादसे में मृतक महिपालसिंह व उनके 2 बेटे।
  • जोधपुर के पास बुधवार देर रात हादसा, सभी मृतक धामसीन के, मरने वालाें में एक साली का बेटा

जोधपुर के पास भांडू नारनाडी रोड पर बुधवार देर रात ट्रोले व कार की भिड़ंत हो गई। हादसे में रानीवाड़ा के धामसीन निवासी पिता व दो पुत्रों समेत एक अन्य मासूम की मौके पर मौत हो गई। हादसा इतना जबर्दस्त था की कार सवार दो बच्चों ने मौके पर दम तोड़ दिया। जबकि पिता व एक पुत्र की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई।

सभी मृतक रानीवाड़ा के धामसीन निवासी थे। वे जोधपुर से धामसीन आने के लिए कार से रवाना हुए थे। बोरानाड़ा पुलिस के मुताबिक मृतक महिपाल सिंह (35) पुत्र छैलसिंह व उनके बेटे नीकू व ऋषि अपने बीमार ससुर से मिलने दो दिन पहले परिवार के साथ जाेधपुर आए थे। बुधवार रात करीब ढाई बजे धामसीन के लिए रवाना हुए, लेकिन घर से कुछ ही दूर जाने पर हादसा हो गया।

महिपाल की पत्नी अपने पीहर ही रुक गई थी। इधर, घटना की सूचना पर बोरानाड़ा थानाधिकारी किशनलाल विश्नोई, एसीपी मांगीलाल राठौड़ मौके पर पहुंचे। उन्होंने मौका निरीक्षण कर शवों को एमडीएमएच की मोर्चरी में रखवाया। जहां सुबह पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिए। शाम को पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया।

हादसे में क्षतिग्रस्त कार।
हादसे में क्षतिग्रस्त कार।

चार महीने पहले हुआ था पिता का निधन

हादसे में मृतक महिपाल सिंह और उनके दो पुत्रों की मौत हो गई। उनके पिता शैलसिंह देवड़ा का चार महीने पहले ही बीमारी से निधन हुआ था। जानकारी के अनुसार महिपाल मुंबई महानगर पालिका में कंस्ट्रक्शन का काम करते थे। अभी गांव धामसीन आए हुए थे। परिजनों के अनुसार मृतक महिपाल के दो पुत्र थे, जिनकी हादसे में मौत हुई हैं। तीसरा मृतक बच्चा उनकी साली का था, जो उनके साथ ननिहाल गया था।

हादसा इतना भीषण कि कार पूरी तरह पिचक गई
ट्रोले और कार की भिड़ंत इतनी जबर्दस्त थी कि कार के आगे का हिस्सा पूरी तरह पिचक गया। लोगों ने मशक्कत से क्षतिग्रस्त कार से शवों को बाहर निकाला। हादसे के बाद आवागमन बाधित हो गया। वाहनों की लंबी कतारें लग गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने क्षतिग्रस्त कार को रोड से हटाकर रास्ता दुरुस्त करवाया।

शाम को मृतकों के शव जोधपुर से गांव लाए तो मचा कोहराम
जोधपुर के पास हादसे में चार जनों की मौत की सूचना पर धामसीन में शोक की लहर दौड़ गई। दिनभर गांव में सन्नाटा पसरा रहा। हादसे के बाद कई घरों में चूल्हे तक नहीं जले। इधर, शाम को सभी मृतकों के शवों को जोधपुर से गांव लाया गया। शवों के पहुंचते ही घर पर कोहराम मच गया। लोगों ने मृतक परिवार को ढांढस बंधाया।

खबरें और भी हैं...