गुणगान सभा का आयोजन:आचार्य विजयवल्लभ गुरु के जन्मदिन पर गुणगान सभा

गुंदोजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जैतपुरा स्थित विजय वल्लभ साधना केंद्र में शनिवार को जैनाचार्य श्रीमद विजय वल्लभ सूरीश्वर महाराज की जन्मदिवस व स्टेच्यू ऑफ पीस की प्रथम वर्षगांठ पर सतगुरु वल्लभ सूरी गुणगान सभा का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद पीपी चौधरी ने गुरु की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीपक प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की।

चौधरी ने कहा कि आज पाली जिले सहित देश के कई भागों में गुरु वल्लभ द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यों को भुलाया नहीं जा सकता है। उनकी दूरदर्शिता का ही परिणाम है कि आज गुरुदेव की इन शिक्षा संस्थानों में पढ़े हुए लोग देश विदेश में पाली का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज हमारी हिंदू संस्कृति जिंदा है तो उनका पूरा श्रेय इन धर्म गुरुओं को ही जाता है। विदेशी ताकतों ने हमारी संस्कृति को नष्ट करने के कई तरह के प्रयास किए, लेकिन हमारे गुरुओं तथा साधु-संतों ने विपरीत काल मे भी हमारी संस्कृति को जिंदा रखा है। गच्छाधिपति आचार्य नित्यानंद विजय सूरीश्वर महाराज ने कहा कि आज हम जो भी है वो गुरु वल्लभ की कृपा से ही है। आचार्य जयानंद विजय महाराज ने गुरु वल्लभ की वंदना गाकर सब को भाव विभोर कर दिया। आचार्य चिदानंद विजय महाराज ने कहा कि आज की भौतिकवाद की अंधी दौड़ को छोड़कर अपने परिवार व बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार भी दें। गुरुओं के बताए मार्ग पर चले तो तो मंदिर आना गुरुओं के दर्शन करना ठीक है,वरना कोई मतलब नहीं है। कितने भी मंदिर जाओ लेकिन भावी पीढ़ी धार्मिक व संस्कारित नहीं है तो कमाया गया धन व्यर्थ है।

इस मौके पर मुनि जयकीर्ति विजय,मुनि मोक्षा नंदविजय,मुनि लक्ष्मीचंद विजय,साध्वी पूर्ण प्रज्ञा आदि ठाणा सहित भंवरलाल चौधरी, डी.आर. चौधरी अादि माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...