पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मृति शेष:11वीं लाेकसभा चुनाव में बूटासिंह का टिकट कटवाया था, पहली ही बार में लाेकसभा पहुंचे थे मेघवाल, शोक की लहर

जालोर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पारसाराम मेघवाल - Dainik Bhaskar
पारसाराम मेघवाल
  • जालोर के मडगांव निवासी पूर्व सांसद पारसाराम मेघवाल का निधन, लंबे समय से अस्वस्थ थे

11वीं लोकसभा के दौरान जालोर-सिरोही से सांसद रहे पारसाराम मेघवाल का बुधवार सुबह निधन हो गया। वे लंबे समय से किडनी और लीवर की बीमारी से ग्रसित थे। 66 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। सांसद मेघवाल का निधन होते ही जिलेभर में शोक की लहर छा गई।

सांसद मेघवाल ने गांव की पंचायत से अपना राजनीतिक कॅरिअर शुरू करते हुए 1996 में 11वीं लोकसभा में कांग्रेस के टिकट पर वे जालोर-सिरोही क्षेत्र से सांसद निर्वाचित हुए थे। उन्होंने भाजपा के गेनाराम मेघवाल को 6840 वोटों से हराया था। मेघवाल के निधन पर जिलेभर में शोक की लहर छा गई। कांग्रेस नेताओं ने ट्वीट कर दुख जताया। बुधवार को मेघवाल का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया।

गांव की पंचायत से देश की संसद तक पहुंचे थे मेघवाल

  • जन्म : 12 दिसंबर 1954
  • 1980 में वे पंचायत समिति सदस्य बने।
  • 1981 से 84 तक चुरा ग्राम सेवा सहकारी समिति के उपाध्यक्ष
  • 1985 से 1090 तक मडगांव के उप सरपंच
  • 1995 में जिला कांग्रेस कमेटी में संयुक्त सचिव
  • 1995 से 1996 तक जिला परिषद में उप जिला प्रमुख
  • 1996 में 11वीं लोकसभा में वे कांग्रेस की टिकट से सांसद निर्वाचित

बूटासिंह का वर्चस्व था, चार बाद सांसद रहे, फिर भी उनका टिकट कटवाया

जालोर सिरोही से चार बार सांसद रह चुके एवं क्षेत्र में भारी वर्चस्व वाले सरदार बूटासिंह का टिकट कटवाकर 1996 में पारसाराम मेघवाल टिकट ले आए थे। बूटा सिंह केंद्र सरकार में गृहमंत्री तक रह चुके हैं। इसके बाद भी उनका टिकट कटवा मेघवाल चुनाव लड़े और पहले ही चुनाव में जीत दर्ज की।

खबरें और भी हैं...