• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Jalore
  • Camel Safari, Desert Bike And Gypsy Ride Facilities On The Sandy Stretches Of Panseri Village, People Of The Village Got Employment, Tourists Coming From Far And Wide

जालोर का छोटा सा गांव बना पर्यटकों की पसंद:पंसेरी गांव के रेतीले धोरों पर कैमल सफारी, डेजर्ट बाइक और जिप्सी राइड करने पहुंच रहे लोग, ग्रामीणों को मिला रोजगार

जालोर2 महीने पहले
पंसेरी गांव के धोरों में जिप्सी सफारी।

जालोर जिले के जसवंतपुरा तहसील का छोटे सा पंसेरी गांव पर्यटक स्थल के रूप में अपनी पहचान बना रहा है। रेतीले धोरों में कैमल सफारी से लेकर डेजर्ट बाइक और जिप्सी राइड का लुत्फ उठाने के लिए लोग आ रहे हैं। रेतीले धोरों पर टैंट और रात के समय कैंप फायर की सुविधा भी है। किसी समय यहां रेगिस्तानी और पहाड़ी इलाका होने के कारण लोगों को खासी परेशानी होती थी। अब इस रेगिस्तानी इलाके को ही पर्यटन के हिसाब से विकसित कर ग्रामीणों को रोजगार दिया जा रहा है।

गांव में पर्यटकों की भीड़।
गांव में पर्यटकों की भीड़।

2016 में हुई थी शुरूआत
गांव के तत्कालीन सरपंच दिलीप सिंह ने 2016 में गांव को पयर्टक स्थल के रूप में बनाने की पहल की थी। रेगिस्तानी धोरे पर केमल सफारी और जिप्सी सफारी शुरू की। धीरे-धीरे छह से सात किमी. के इस एरिया को और सुंदर बनाया गया गया। अब यहां दूर-दराज से पर्यटक आते हैं। पर्यटकों का कहना है कि पंसेरी गांव में जैसलमेर के रेगिस्तानी धोरों का अहसास होता है।

पंसेरी गांव के धोरों और पहाड़ों का नजारा।
पंसेरी गांव के धोरों और पहाड़ों का नजारा।

सुंधा माता मंदिर नजदीक होने से मिला फायदा
पंसेरी गांव के नजदीक सुंधा माता का मंदिर है। मंदिर में आने वाले लोग पंसेरी गांव आते और सफारी का आनंद लेते हैं। ऐसे में न केवल यहां के लोगों को रोजगार मिल रहा है बल्कि पंसेरी गांव का नाम पर्यटन के नक्शे पर भी अंकित हो रहा है।

खबरें और भी हैं...