पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निशुल्क जांचाें पर संकट:अस्पतालों में सेंटर केवल इसीलिए खुले, ताकि पुरानी जांच रिपोर्ट ले जा सके मरीज, शेष जांचें बंद हुई

जालाेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृष्णा डायग्नोस्टिक का भुगतान अटकने से अस्पतालों में 16 दिन से 40 तरह की जांचें बंद

प्रदेशभर के सभी अस्पतालों में निशुल्क जांच पर संकट आ खड़ा हुआ है। हर राेज औसत 40-60 मरीज निशुल्क जांच के लिए ताे आ रहे हैं, लेकिन उनकी जांच नहीं की जा रही है। मजबूरी में मरीजाें काे सभी महंगी जांचें बाहर से करवानी पड़ रही है। हर जांच महंगी भी इतनी कि आम आदमी के बस के बाहर है।

सरकार की ओर से जाे निशुल्क जांचें अस्पतालों में करवाई जा रही है। बाहर इन सभी जांचाें का शुल्क 500 रुपए से कम नहीं है। अस्पतालों में निशुल्क जांचें बंद हाेने की मुख्य वजह सरकार से निशुल्क जांच का ठेका चलाने वाली कंपनी पुणे की कृष्णा डायग्नोस्टिक ऑफ इंडिया के बीच भुगतान नहीं हाेना है।

जब तक सरकार इनकाे भुगतान नहीं कर देती, तब तक निशुल्क जांचें शुरू नहीं हाेगी। ऐसा निशुल्क जांच करने वाली कृष्णा डायग्नोस्टिक का कहना है। इसके चलते अभी तक ब्लड, शुगर, यूरीन आदि 40 तरह की महंगी जांचें बंद पड़ी हैं। लैब के दरवाजे पर सूचना चस्पां कर रखी है। इस पर साफ लिखा है कि ‘निशुल्क जांच सेवाएं अग्रिम आदेश तक बंद कर दी गई हैं।’

प्रदेश के सभी अस्पतालों में इन निशुल्क जांचाें काे किया बंद

प्रदेश के सभी अस्पतालों में गंभीर बीमारियों से संबंधित जांच निशुल्क होती है। जिसमें जीजीटी, एचबीए 1 सी, लिप्स, माइक्रोएल्ब्यूमिनरा, ग्राम स्टेनिंग, यूरीन कल्चर एंड सेंस्टेविटी, ब्लड कल्चर एंड सेंस्टेविटी, सीएसएफ कल्चर एंड सेंस्टेविटी, स्टूल कल्चर एंड सेंस्टेविटी, थ्रोट स्वाब कल्चर एंड सेंस्टेविटी, डेंगू, लाइजा टेस्ट, एस थाइप्स, लाइजा, एंटी, एचसीपी एंटी बॉडी एलाइजा, टी 3, टी 4 टीएसएच, एफएसएफ, एलएच, प्रोलेक्टिन, टॉर्स, फर्टीन, आयरन, आयरन बिंडिंग कैपेसिटी, विटामिन डी लेवल, विटामिन बी-12, एपीटीटी, हीमोफीलिया प्रोफाइल, थैलेसीमिया प्रोफाइल एचपीएलसी, जी 6 पीडी, एएनए, पीएसए, एफडीपी, पीएपी सिमर्स, एफएनएसी और बायोप्सी की जांच शामिल है। फिलहाल ये सभी जांचें बंद है।

निजी सेंटर्स पर जांच शुल्क

  1. शुगर जांच 400-450
  2. यूरीन इंफेक्शन 600-650
  3. ब्लड इंफेक्शन 200-2500
  4. हार्मोंस जांच 4000-5000
  5. आयरन जांच 2000-2500
  6. विटामिन डी 1300-1500
  7. विटामिन बी-12 900-1200

पीपी माेड की सारी जांच बंद है
अस्पताल में सरकार की 55 जांचें ही चल रही है। वहीं पीपी माेड के तहत निजी लेब के जरिए जाे जांच की जा रही थी, वे हालफिल्हाल बंद है। जांच क्याें बंद है, इस बार स्पष्ट जानकारी नहीं है। यहां से जांच जाेधपुर भिजवाई जाती है। लैब में स्टाफ से की ड्यूटी ज़रुर लग रही है।
- डाॅ. एसपी शर्मा, पीएमओ, जिला अस्पताल, जालाेर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें