बेफिक्री का परिणाम:33 दिन बाद कोरोना रिटर्न एक साथ 4 मरीज; दूसरी लहर के बाद अंतिम बार 5 जुलाई को आया था 1 पॉजिटिव

जालोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उसके बाद से जिले में शून्य थे नए केस

दूसरी लहर के मरीज शून्य होने के 33 दिन बाद फिर जिले में शनिवार को कोरोना ने दस्तक दे दी। जालोर शहर में शनिवार को एक साथ 4 मरीज मिलने से कोरोना फिर दस्तक दे दी है। तीन मरीज शहर के राव कॉलोनी व 1 मरीज रेलवे स्टेशन के पास स्थित नागौर कॉलोनी में मिला। राव कॉलोनी में मिलने वाले तीनों मरीजों के शरीर में लक्षण भी हैं।

जिले में दूसरी लहर के बाद 5 जुलाई से मरीज शून्य हो गए थे। मरीज मिलते ही तत्काल चिकित्सा विभाग की टीम ने मौके पर पॉजिटिव आए मरीजों की जानकारी जुटाई। इधर, एक साथ 4 मरीज आने के बाद जिले में तीसरी लहर की आशंका का खतरा भी बढ़ गया है। दूसरी लहर के मरीज कम आने के बाद जिले के लोगों ने भी लापरवाही बरतनी शुरू कर दी थी। जिले में 4 मरीज मिलने के बाद अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 10 हजार 260 हो गई है।

कोरोना हिस्ट्री : एक ही परिवार के 3 व 1 बैंक मैनेजर भी रोगी

रावों का वास में मिलने वाले सभी मरीज एक ही परिवार के हैं। इस परिवार में कुछ दिन पहले मौत हुई थी। ऐसे में सांत्वना देने के लिए कई लोग बाहर से भी आए थे। जिसके बाद परिवार में तीन सदस्यों को जुकाम व बुखार की शिकायत होने पर जांच की तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। नागौर कॉलोनी निवासी मरीज जालोर शहर की एक बैंक में मैनेजर हैं। दो दिन पहले मुंबई में तबादला हुआ था, ऐसे में मुंबई जाने के लिए आरटीपीसीआर सैंपल दिया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

खतरा - 4 वर्षीय बच्चा तीसरी लहर का संकेत तो नहीं : विशेषज्ञों व डॉक्टरों ने तीसरी लहर की आशंका जता रहे हैं। ऐसे में खतरा इसलिए है कि शनिवार को 4 मरीजों में से 1 मासूम भी पॉजिटिव निकला है। रावों का वास निवासी 4 वर्षीय मासूम पॉजिटिव रिपोर्ट आई हैं।

लापरवाही - शहर में बिना मास्क भीड़ में जा रहे: वर्तमान में मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है, ज्यादातर मरीज वायरल बुखार, खांसी, जुकाम व शरीर दर्द के आ रहे हैं। , लोग लापरवाही भी करने लगे हैं। भीड़भाड़ वाले आयोजनों में भी मास्क नहीं लगा रहे।

खबरें और भी हैं...