पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धर्म समाज:मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ श्रद्धालुओं ने किए माता के दर्शन

जालोर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नवरात्रि स्थापना पर मंदिरों व घरों में हुई घट स्थापना, व्रत उपवास व माता का कीर्तन हुआ शुरू

शनिवार को शारदीय नवरात्रा का आरंभ हुआ जिसके तहत मंदिरों व घरो में श्रद्धालुओं ने शुभ मुहूर्त में घट स्थापना की। नवरात्रि पर घट स्थापना के 3 अलग-अलग मुहूर्त होने के कारण भक्तों श्रद्धालुओं ने अपनी-अपनी आस्था व सुविधा के अनुसार घट स्थापना की।

इस दौरान सुबह 8.35 से 10.52 बजे तक, सुबह 11.35 से 12.25 बजे तक एवं दोपहर 2.25 बजे से 4.15 बजे तक शुभ मुहूर्त होने के कारण घरों में दिनभर घट स्थापना का सिलसिला चलता रहा। जिले के सबसे बड़े तीर्थ सुंधामाता ट्रस्ट के उपाध्यक्ष ईश्वरसिंह देवल ने बताया कि सुंधामाता मंदिर में दोपहर 12.15 बजे घट स्थापना की गई।

इसी तरह घरों में सवेरे से ही घट स्थापना की क्रम शुरू हो गया था जो देर शाम 4 बजे तक चलता रहा। इस दौरान श्रद्धालुओं ने घरों में घट स्थापना कर शनिवार से माता का पूजा कीर्तन व व्रत उपवास करना शुरू कर दिया है। जिलेभर के देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं ने दर्शन भी किए। इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाने आदि नियमों का पालन भी किया।
रानीवाड़ा विधायक देवल ने किए सुंधामाता के दर्शन
रानीवाड़ा विधायक नारायण सिंह देवल ने शारदीय नवरात्र की प्रतिपदा को सुंधामाता मंदिर में माता के दर्शन कर क्षेत्र की खुशहाली और अमन चैन के लिए प्रार्थना की। इस दौरान विधायक ने विधि विधान से माताजी की पूजा अर्चना कर दर्शन किए। देवल ने कहा कि आदिकाल से सुंधामाता की क्षेत्र पर विशेष कृपा रही है, जो माताजी आगे भी कायम रखेगी। इस दौरान विधायक के साथ मंदिर ट्रस्ट के महामंत्री ताराचंद जोशी रहे।

देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं ने किए दर्शन
शनिवार को शारदीय नवरात्रि के शुरु होने पर श्रद्धालुओं ने माता के मंदिरों में दर्शन लाभ लिया। नवरात्रि स्थापना का दिन होने से प्रथम दिन लोगों ने जिले के प्रसिद्ध सुंधामाता मंदिर, क्षेंमकरी खीमज माता भीनमाल, चामुंडा माता जालोर, आशापुरा माता मोदरान, चामुंडा माता मंदिर आहोर समेत जिला मुख्यालय पर देवी मां के मंदिरों में श्रद्धालुओं ने दर्शन किये। इस दौरान जालोर शहर के नागणेची माता मंदिर, ब्राह्मणी माता मंदिर, कालका माता मंदिर, गोविंदगढ़ पहाड़ी स्थित माताजी मंदिर में भक्तो ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन किये।

आहोर : मां के जयकारों के बीच घर-घर हुई घट स्थापना

कोरोना काल के बीच कस्बे सहित क्षेत्र के गांवों में शनिवार को ग्रामीणों द्वारा घर-घर मां चामुंडा की घट स्थापना कर विशेष पूजा अर्चना की गई। कस्बे में मां चामुंडा माता मंदिर में पंडित भीखालाल व राजेन्द्र कुमार के वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच मंदिर व्यवस्थापक महिपालसिंह चम्पावत द्वारा पूजा अर्चना की गई। सुरेश्वर नवयुवक मण्डल परिसर में महंत सुंदर पुरी महाराज के सानिध्य एवं विधायक छगनसिंह राजपुरोहित की मौजूदगी में मण्डल अध्यक्ष देवीलाल छीपा सहित पदाधिकारियों द्वारा अभिजित मुहूर्त में पूजा अर्चना कर मां चामुंडा की प्रतिमा को विराजमान किया गया।

कोरोना महामारी के चलते कस्बे के चामुंडा चैक में आयोजित होने वाले गरबा महोत्सव का निरस्त कर देने से पांडाल को नहीं सजाया गया। इस दौरान मीठालाल प्रजापत, जेठूसिंह मांगलिया, सवाईसिंह, देवाराम लखारा, हरिशंकर रावल, मोहनलाल, गोमाराम चौधरी, रमेशचंद्र दवे, सूजाराम प्रजापत, कैलाश बाबू सेन, मण्डल सचिव डॉ. नंदलाल दवे, देवेश ओझा, अशोकसिंह मांगलिया मौजूद थे। वही मंदिर में निर्धारित समय के अनुरूप श्रद्धालुओं ने चामुंडा माता के दर्शन किए। इसी तरह कस्बे सहित भैसवाडा, वेडिया, चवरछा, छीपरवाडा, बुडतरा, चरली, काम्बा, अजीतपुरा, भाद्राजुन, नोसरा, भवरानी, गोदन सहित कई गांवों में ग्रामीणों ने भी अपने अपने घरों में पूजा अर्चना की।

सायला : घट स्थापना सहित हुए धार्मिक अनुष्ठानों
उपखंड क्षेत्र में शारदीय नवरात्रि पर घट स्थापना सहित विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन किया गया। कस्बे के कात्यायनी माता मंदिर, अंबे माता मंदिर, राणी भटियाणी मंदिर, सुभद्रा माता मंदिर वालेरा, रूपलदे सोनलदे मंदिर रेवतड़ा, चामुंडा माता आलासन, निम्बेश्वरी माता मंदिर थलवाड़, बाणमाता मंदिर ओटवाला, कैवाय माता मंदिर बावतरा, वाकल माता मंदिर, मम्माई माता मंदिर तालियाना में घट स्थापना का आयोजन किया गया।

जिसमें वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विश्व कल्याण व शांति के लिए पूजा अर्चना की गई। साथ ही माताजी का विशेष श्रृंगार कर पूजा अर्चना की गई एवं मंदिरों को रंग बिरंगी रोशनी से सजाया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं ने मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन किए।

कोरोना के चलते घरों में ही करेंगे आराधना
कोरोना महामारी के संक्रमण के अंदेशे को देखते हुए इस वर्ष नवरात्रि पर मंदिरों में माता की नियमित पूजापाठ, घट स्थापना व नौ दिनों तक पूजापाठ के अलावा शेष सभी कार्यक्रम स्थगित हैं। इस कारण श्रद्धालु मंदिरों में प्रसाद चढ़ाना, भजन कीर्तन करना, जप करना, गरबा आयोजन व भजन संध्या आदि नहीं कर सकते हैं। इसके चलते लोगों ने अपने घरों पर माता का दरबार सजाकर घट स्थापना के साथ पूजापाठ व व्रत उपवास शुरू किया। इस दौरान श्रद्धालु अपने घरों पर विशेष कीर्तन, जप व पूजापाठ, जाप आदि कर माता को प्रसन्न करने में लग गए हैं।

उम्मेदपुर: शारदीय नवरात्रि पर यज्ञ में दी आहुतियां
आशापुरा संस्था अभयधाम बेदाना में शारदीय नवरात्रि के स्थापना दिवस पर मंदिर में घट स्थापना की गई। स्थापना दिवस पर आचार्य श्रीमाली बाबूलाल गुडा बालोतान के सानिध्य में यज्ञ का आरंभ किया गया, जाे नाै दिनाें तक हाेगा। मुख्य यजमान लोकेंद्र सिंह बेदाना के द्वारा यज्ञ में आहुति दी गई। आशापुरा संस्थान में हवन यज्ञ का कार्यक्रम नौ दिवस तक नियमित चलेगा।

कोरोना वैश्विक महामारी को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग की पूर्णता पालना की जाएगी तथा श्रद्धालुओं को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। हवन यज्ञ में संस्थान के अध्यक्ष दशरथ सिंह सेदरिया, जवाई कमाण्ड संगम अध्यक्ष अजयपालसिंह बेदाना, बाबूसिंह बेदाना व अचलसिंह बेदाना के द्वारा कोरोना मुक्ति के लिए आहुतियां दी। इस अवसर पर समाजसेवी नरपत सिंह पसानवा, नारायणसिंह बेदाना, अर्जुनसिंह मालपुरा भी उपस्थित थे।

भाद्राजून: नौ दिनों तक होगी विशेष पूजा
जिले के आहोर क्षेत्र में भाद्राजून के निकट धुंमड़ा पर्वत स्थित महाभारत कालीन सुभद्रा माता के ऐतिहासिक मंदिर पर भी नवरात्रि के दिनो में घट स्थापना की पूजा अर्चना की गई। देवी सुभद्रा व अर्जुन की विवाह स्थली माने जाने वाले धुमंडा माता मंदिर पर नवरात्रि स्थापना के दौरान शनिवार को श्रद्धालुओं ने मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन किये। वही नवरात्रि के दौरान माता की प्रतिमा व मंदिर को सजाया गया है और नौ दिनो तक माताजी की विशेष पूजा की जायेगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें