पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेराेना याेद्धा बने शिक्षक:काेराेनाकाल में बांटे मास्क, जरूरतमंदाें व प्रवासियों तक पहुंचाए खाद्य सामग्री के किट

जालोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुंदरलाल विश्रोई। - Dainik Bhaskar
सुंदरलाल विश्रोई।
  • लॉकडाउन के दौरान प्रवासियाें के आने पर उनके खाने-रहने की व्यवस्था की
  • शिक्षकों ने बच्चों को बांटी शिक्षण सामग्री

कोरोनाकाल शिक्षकों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहा। उन्होंने न सिर्फ बच्चों की ऑनलाइन क्लास ली, बल्कि प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने में मदद करने, कोविड-19 सर्वे, बच्चों के घर तक मिड-डे-मील और किताबें पहुंचाने जैसे काम भी किए। हालांक ये सभी कार्य शिक्षकों केि कार्य का हिस्सा था, लेकिन हालातों को देखते हुए इस महामारी से लड़ने के क्रम में अपनी ओर से शिक्षकों ने विशेष योगदान भी दिया।

एक तरफ कोरोना काल में शिक्षकों को समय पर वेतन मिलने की समस्या थी, उसके बावजूद भी कई शिक्षकों ने अपने खर्च से बच्चों की मदद की। वहीं, निजी स्कूल के शिक्षकों ने भी बच्चों के अध्ययन में सहयोग देकर शिक्षक धर्म का पालन किया। ऐसे ही कई शिक्षकों ने कई परेशानियों के बाद भी शिक्षण कार्य में सहयोग देकर इस महामारी काल में आमजन का सहयोग करने के लिए आगे आए।

अपने खर्च से छात्रों को शिक्षण सामग्री करवाई उपलब्ध : सुंदरलाल बिश्नोई
उपखंड क्षेत्र के निकटवर्ती राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय तालियाना में सेवारत पीईईओ सुंदरलाल बिश्नोई ने कोरोनाकाल में सरकार की ओर से दी गई जिम्मेदारी का पालन तो किया ही, साथ ही महामारी काल में उन्होंने मानवता का परिचय भी दिया। उन्होने बताया कि सरकार की ओर से शुरू की स्माइल योजना पहला अनुभव था, जब इस योजना को छात्रों के साथ शिक्षकों को भी समझना जरूरी था। वहीं, जिला प्रशासन द्वारा तालियाना विद्यालय को क्वारेंटाइन सेंटर बनाए जाने के चलते पीईईओ की जिम्मेदारी और बढ़ गई। बाजार आदि बंद के चलते कई विद्यार्थियों को शिक्षण सामग्री उपलब्ध नहीं हो पा रही थी। पढ़ाई में कोई रुकावट नहीं हो, इसलिए पीईईओ बिश्नोई ने अपने खर्च से जरूरतमंद विद्यार्थियों को शिक्षण सामग्री उपलब्ध करवाई।

भामाशाहों की मदद से जरूरतमंदाें तक रोजाना पहुंचाते थे खाना : रूपसिंह
जिले के बागरा के निकटवर्ती राउमावि नया नारणावास में सेवारत शारीरिक शिक्षक रूपसिंह राठौड़ ने भी कोराेनाकाल में अपनी सेवाएं दी। जिसमें उन्होंने सरकारी निर्देशन पर दिये हुए सभी कार्य किये, लेकिन साथ ही इस दौरान उन्हाेने लोगों की अन्य आवश्यकताओं का भी ध्यान रखा। शिक्षक रुपसिंह बताते हैं कि कोरोना काल के दौरान लगे लाॅकडाउन में सभी लोग अपने घरो में बंद हो गये थे।

उस दौरान कई जरुरतमंद लोगों का रोजगार काफी प्रभावित हुआ, तो घर में खाने के सामान की कमी आने लगी। उन लोगों के साथ ऐसी स्थिति की जानकारी होते ही शिक्षक रुपसिंह ने ऐसे लोगों को अपने स्तर पर विशेष सहयोग प्रदान करवाने के लिए चिन्हित किया। साथ ही उनकी समस्याओ को भामाशाहों के सामने रखी, तो उनकी मद्द के लिए कई हाथ उठे। जिससे करीब एक दर्जन भामाशाहों की सहायता से क्वारेंटाइन सेंटर में दो माह के भीतर भामाशाहों द्वारा लोगों के लिए खाद्यान व भोजन कीट की व्यवस्था करने में सहायता मिली।

कई लोगों के पास मास्क नहीं होने पर स्वयं ने लाकर बांटे: मांगीलाल कोली

क्षेत्र के निकटवर्ती राउमावि बावतरा स्थित सरकारी स्कूल के शिक्षक मांगीलाल कोली ने कोरोनाकाल में अपनी सेवाएं दी। इस दौरान उन्होने सर्वे, क्वारेंटाइन समेत कई कार्य किए। इस दौरान शिक्षक मांगीलाल कोली ने उनके कार्य के साथ मानवता का परिचय भी दिया। जिन बच्चाें के पास माेबाइल नहीं थे, उनके रिश्तेदार या पड़ोसी का नंबर लेकर उन तक एजुकेशनल वीडियो शूट करके भेजे, ताकि बच्चे किसी ना किसी तरह से ऑनलाइन शिक्षा से जुड़ सकें। मास्क के बिना दिखे लोगों के लिए अपने स्तर पर मास्क वितरण किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें