आहोर में निकाला वरघोड़ा:चार साल पहले पुत्र ने ली थी दीक्षा अब माता-पिता-बहन भी ले रहे

जालोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आहोर कस्बे में तीन दीक्षार्थी मुमुक्षुओं का वर्षीदान वरघोड़ा निकाला गया, जो गाजे-बाजे के साथ विभिन्न मार्गों से होकर गुजरा। दीक्षार्थी मुमुक्षु दिलीपभाई संघवी (42), पत्नी भावनाबेन (42) व पुत्री देशना कुमारी (11) तीनों 26 जनवरी 2022 को शंखेश्वर महातीर्थ में शुत्र चारित्रपालक आचार्य जयानंदसूरीश्वर की निश्रा में दीक्षा लेंगे। इससे पूर्व ठाणे में 2 जनवरी को संगीत मेहंदी के कार्यक्रम होंगे। तीन जनवरी को वरघोड़ा निकाला जाएगा। दीक्षार्थी दिलीपभाई कांतीलाल संघवी के पुत्र हैं, जो बड़े कारोबारी हैं। \

गौरतलब है कि मुमुक्षु दिलीप भावना संघवी के इकलौते पुत्र आदि संघवी ने पहले ही दीक्षा ले थी। अब उसी मार्ग पर चलते हुए माता-पिता सहित बहन भी वैराग्य पथ अंगीकार कर रहे हैं। पुत्र ने 13 साल की उम्र में ही सांसारिक सुखों का किया त्याग चार साल पहले दिलीप संघवी के पुत्र आदि संघवी ने महज 13 वर्ष की उम्र में ही सांसारिक मोह माया का त्याग कर दिया। उन्होंने कलिकुंड तीर्थ (गुजरात ) में दीक्षा ग्रहण की थी। भरत भाई ने बताया कि अब पिता मुमुक्षु दिलीपभाई संघवी, माता भावनाबेन व बहन देशना कुमारी भी संयम पथ पर बढ़ रहे हैं। उस दौरान बहन मुमुक्षु देशना महज 7 साल की थी।

खबरें और भी हैं...