• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jalore
  • Murder Case Was Not Disclosed Even After 15 Days, The Miscreants Had Killed The Priest By Stabbing Them With Knives, Anger Among The Villagers

15 दिन बाद भी मर्डर केस का खुलासा नहीं:बदमाशों ने चाकू-सरियों से वार कर की थी पुजारी की हत्या, ग्रामीणों में नाराजगी

जालोर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुजारी नैनूदास की 15 दिन पहले चाकू-सरियों से हमला कर बदमाशों ने हत्या कर दी थी। - Dainik Bhaskar
पुजारी नैनूदास की 15 दिन पहले चाकू-सरियों से हमला कर बदमाशों ने हत्या कर दी थी।

जिले के बागोड़ा थाना क्षेत्र के धुंबड़िया में पुजारी की हत्या मामले में 15 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। पुलिस द्वारा हत्या का खुलासा नहीं होने से ग्रामीणों में आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है। ग्रामीण जल्द से जल्द आरोपियों को पकड़ने की मांग कर रहे हैं। क्षेत्र के धुंबड़िया कस्बे में स्थित हनुमानजी कुटिया के पुजारी की 30 नवंबर की देर रात को अज्ञात बदमाशों ने चाकू व सरियों से हमला कर नैनूदास (72) पुत्र लच्छीराम वैष्णव की हत्या कर दी थी।

थानाधिकारी छतर सिंह देवड़ा ने बताया कि हत्या के मामले में पुलिस की अलग-अलग टीमों का गठन किया हुआ। पुलिस की टीमें आरोपियों को पकड़ने की कोशिशों में जुटी है। जल्द ही इस पूरे मामले का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ब्राह्मण समाज में आक्रोश
पुजारी की हत्या की वारदात को 15 दिन बीत चुके हैं, लेकिन आरोपी अभी तक पुलिस की पकड़ से दूर है। मामले का खुलासा नहीं होने से ग्रामीणों समेत ब्राह्मण समाज में आक्रोश है। ब्राह्मण समाज ने विप्र फाउंडेशन के तत्वाधान में पुलिस की कार्यप्रणाली के खिलाफ आक्रोश जताते हुए जिलेभर में ज्ञापन सौंपा।

चाकू-सरियों से हमला कर घायल कर दिया था
बता दें कि 30 नवंबर को पुजारी कुटिया में सो रहा था। देर रात को अज्ञात बदमाश चोरी की नीयत से कुटिया में घुसे। इस दौरान दानपात्र दौड़ते समय पुजारी जागा तो बदमाशों ने उस पर चाकू और सरियों से हमला कर दिया, जिससे बुजुर्ग गंभीर घायल हो गया। इस दौरान पुजारी के मदद के लिए चिल्लाने पर आसपास से लोग आए, लेकिन तब तक बदमाश भाग गए। गंभीर रूप से घायल बुजुर्ग को अस्पताल ले जाया गया, जहां 3 घंटे बाद उसकी मौत हो गई।