पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैदिक ज्याेतिष:35 दिन अस्त रहने के बाद 10 फरवरी को शनि का उदय

जालोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सूर्य के पुत्र शनि नए साल के पहले सप्ताह में अस्त हाे गए हैं। वैदिक ज्याेतिष में शनि काे सबसे मंद गति से चलने वाला ग्रह माना जाता है। ज्याेतिषियाें के अनुसार यह एक राशि में ढाई साल तक रहता है। इसलिए शनि का अस्त हाेना खास माना जाता है। साथ ही प्रकृति में बड़े-बड़े बदलाव लेकर आता है

ज्याेतिषियाें के अनुसार इससे राजनीति में बदलाव देखने काे मिलेंगे। सभी राशियाें काे भी नफा-नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। इस बार शनि नए साल के आरंभ में ही यानी 7 जनवरी की शाम 4 बजकर 40 मिनट पर अस्त हाे गए, जाे 35 दिन बाद यानी 10 फरवरी काे रात 00.40 बजे तक तक अस्त रहेंगे।

ज्याेतिषीय गणना के अनुसार शनि के अस्त हाेने और बुध के उदय से 8 राशियाें के लाेग लाभ व सुख प्राप्त करेंगे। ज्याेतिषियाें के अनुसार शनि के अस्त हाेने का सबसे अधिक लाभ धनु, मकर, कुंभ, मिथुन और तुला राशि के लाेगाें काे हाेगा। इस राशि वालाें काे परेशानियाें से मुक्ति 14 जनवरी से ही बुधादित्य याेग भी शुरू हाे चुका है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें