पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वरघोड़ा निकला, नृत्य कर वर्षीदान किया:बीबीए कर चुकी मांडवला की शिवानी दिसंबर में लेंगी दीक्षा; तीन भाई बहनों में सबसे छोटी

मांडवला7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मांडवला कस्बे की शिवानी कुमारी सांसारिक जीवन छोड़कर संयम पथ अंगीकार करने जा रही हैं। इसको लेकर रविवार को मांडवला कस्बे में भव्य वरघोड़ा निकाला गया। बड़ी संख्या में जैन समाज की मौजूदगी में मुमुक्षु ने खुलकर वर्षीदान किया। वरघोड़ा कस्बे के मुख्य बाजार, जैनों का वास होते हुए गांव में हनुमान मंदिर, सुमतिनाथ भगवान होते हुए आराधना भवन आकर समापन हुआ। अब दीक्षा समारोह 11 दिसंबर को गुजरात के आगलोड़ तीर्थ स्थल पर होगा। दीक्षा आचार्य गुरुदेव जयसुंदरसूरी, सित्रांतरत्न श्रीजी समेत जैन संतों के सानिध्य में दीक्षा लेंगी। वरघोड़े के दौरान ऊकचंद, रमेश कुमार, डूंगरमल, राणमल, भवरलाल, प्रकाश कुमार, जयंतीलाल, ताराचंद, पृथ्वीराज जैन, हिम्मतमल, सुमेरमल, भीमराज, श्रीरिपाल सालेचा, राजू गुजराती, कांतिलाल जैन समेत मौजूद रहे।

पिता सुरेश हुबली में स्टील कारोबारी हैं

24 वर्षीय शिवानी बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डिग्री हासिल कर चुकी हैं। आगे भी पढ़ाई जारी थी। लेकिन जैन संतों के सानिध्य मेें उनकी प्रेरणा लेने के बाद उन्होंने दीक्षा लेने का फैसला ले लिया। शिवानी परिवार समेत हुबली में ही निवासरत हैं। इनके पिता सुरेश कुमार सालेचा स्टील व्यापारी हैं। वहीं तीन भाई बहनों में शिवानी सबसे छोटी हैं। शिवानी के एक भाई व एक बड़ी बहन हैं, जिनकी शादी हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...