पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना फिर 0:जिले में इकलौता बचा मरीज भी 11 दिन बाद डिस्चार्ज हुआ

जालोर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले 24 घंटे में जिले में 198 लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई

प्रदेश में सबसे पहले कोरोना को काबू करने वाला जालोर जिला एक्टिव केस में भी बेहतर बना हुआ है। वैसे तो जिला 11 दिन पहले 3 जुलाई को पूरी तरह कोरोना मुक्त हो चुका था, लेकिन एक मरीज आ गया था। यह मरीज भी बुधवार को डिस्चार्ज हो गया। अब जिले में एक भी एक्टिव मरीज नहीं है।

चिकित्सा विभाग द्वारा बुधवार को 198 लोगों की काेरोना सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिसमें सभी 198 की रिपोर्ट नेगेटिव आई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेंद्र सिंह देवल ने बताया कि जिले में अब तक कोरोना पॉजिटिव की संख्या 10 हजार 256 हो गई है, इनमें से 10 हजार 180 स्वस्थ हो चुके हैं और 76 लोगों ने महामारी से अपनी जान गंवाई। वहीं विभाग की ओर से अब तक 2 लाख 95 हजार 651 सैंपलों की जांच की गई है, जिनमें से 2 लाख 84 हजार 453 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। उल्लेखनीय है कि दूसरी लहर के बाद जालोर 3 जुलाई को कोरोना मुक्त हो चुका था। तब बंूदी के बाद जालोर दूसरा जिला होगा जो कोरोना मुक्त हो गया था।

बता दें कि जालोर में दूसरी लहर के तहत एक अप्रैल से मरीजों की संख्या बढ़नी शुरू हुई थी, करीब 40 दिन तक जिले की स्थिति भयावह रही। 10 मई के बाद सबसे पहले जालोर में कोरोना कंट्रोल होना शुरू हुआ था। पिछले कई दिनों से कोरोना की जांच में लगभग सभी मरीज निगेटिव आ रहे हैं।

खबरें और भी हैं...