पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समारोह:जो देता है खुशहाली, जिसके दम से हरियाली, आज वही बर्बाद खड़ा है, देखो उसकी बदहाली: भोला

जालोर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जालोर महोत्सव के अंतिम दिन कवियों ने किसानों की पीड़ा कविताओं के माध्यम से उठाई

जालोर महोत्सव के अंतिम दिन बुधवार देर रात्रि को अखिल भारतीय विराट राष्ट्रीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन के दौरान हास्य व्यंग्य, वीर रस, गीतकार समेत राजस्थानी गीतकार कवियों ने एक से एक बढ़कर देर रात्रि तक प्रस्तुतियां दी। कवि सम्मेलन का आगाज इंदौर की गीत, गजल व श्रृंगार की कवयित्री शबाना शबनम ने शब्द मेरे सजे अर्चना के लिए...सरस्वती वंदना से की।

इसके बाद बुलंदशहर यूपी के वीर रस के कवि आकाश नौरंगी ने महाराणा प्रताप पर वीररस की कविता उसकी तलवारों पे शत्रु लहू लगाना याद रहे....सुनाकर खूब तालियां बटोरी। वही बेटी तुम अमृत मत बनना जहर भरी हाला बनना....सुनाकर बेटियों को विकट परिस्थितियों में डटकर मुकाबला करने का संदेश दिया। गीतकार अमन अक्षर न यजनों की यात्रा थी राम पर थकें नही.... व सारा जग हैं प्रेरणा, प्रभाव सिर्फ राम है...जैसी कई श्रीराम के नाम कविता सुनाकर पूरे माहौल को राम भक्ति से ओत-प्रोत कर दिया। वही जालोर के साहित्यकार परमानंद भट्ट ने जालोर के इतिहास से परिचय करवाते हुए हीरा दे के बलिदान पर कविता प्रस्तुत कर जालोर के शौर्य का गुणगान किया।

किसानों की स्थिति पर बोले भोला

इसके बाद जबलपुर के हास्य व्यंग्य के कवि सुदीप भोला ने गीतों के माध्यम से हास्य व व्यंग्य के बाण छोड़कर लोगों को ठहाके लगाने पर मजबूर कर दिया। उन्होंने राजनीतिक के साथ-साथ किसानों की वर्तमान स्थित एवं पुलवामा हमले पर भी अपनी कविता प्रस्तुत की। सुदीप भाेला ने तीनों कानून काे लेकर चल रही स्थित के बारे में भी कविता में पेश की। शबाना शबनम ने लम्हा लम्हा सुमार करता है दिल मेरा... सहित कई कविता के गीतों के माध्यम से सुनाकर वाहवाही लूटी।

वरी रस के कवि अशोक चारण ने राष्ट्र की हवाओं में विवेकानंद जिन्दा है.... पीओके में जाकर हमने सैंचुरी मारी... सहित कई देशभक्ति से ओतप्रोत कविता सुनकार युवाओं में देशभक्ति का जोश भर दिया। वही कोटा के प्रसिद्घ राजस्थानी गीतकार दुर्गादानसिंह गौड ने राजस्थानी कविता गीतों के माध्यम से सुनाकर लोगो को राजस्थानी भाषा से रूबरू करवाया। राजस्थानी भाषा में यू तो बंशी राधा... सहित कई कविता सुनाकर खूब तालिया बटोरी।

वही दिल्ली के हास्य व व्यंग्य के कवि अरूण जैमिनी ने हरियाणी अंदाज में हास्य व व्यंग्य की बौछारे कर पूरे पांडाल को हंसने पर मजबूर कर दिया। कवि सम्मेलन में श्रोता देर रात्रि तक जमे रहे। इस दौरान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सिया रघुनाथदान, जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता,जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग, जिला पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह, एसीजेएम प्रथम सत्येन्द्रप्रकाश चोटिया, एडीएम छगनलाल गोयल, प्रशिक्षु आईएएस गिरधर बेनीवाल, एसडीएम जालोर चम्पालाल जीनगर, सभापति गोविंद टांक, जालोर विकास समिति के सचिव मोहन पाराशर, समन्वयक तरूण सिद्धावत, हितेष प्रजापत, सहित प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधि के अलावा काफी संख्या में गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें