युवक का शव छह दिन बाद भी नहीं मिला:नहर में कूदा युवक छह दिन बाद भी नहीं मिला, तलाश के लिए पानी राेका

जालोर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नहर में पानी का वेग अधिक होने से आ रही परेशानी, रविवार को 500 क्यूसेक पानी कम किया

रणोदर सरहद के नर्मदा नहर में कूदकर जान देने वाले युवक का शव छह दिन बाद भी नहीं मिल सका है। एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के 37 जवान रविवार को उसे तलाशने में लगे रहे, लेकिन शाम तक शव नहीं मिला। आशंका है युवक का शव एक साइफन से निकलकर दूसरी साइफन में फंस गया हैं। इधर, नहर के पानी का तेज बहाव होने से टीम को दिक्कत आ रही थी। ऐसे में नर्मदा विभाग ने गुजरात से 500 क्यूसेक पानी को रोका है, ताकि शव तलाशा जा सके। जानकारी के अनुसार 15 दिन पहले युवक बाड़मेर के गोलियार से यहां मजदूरी के लिए आया था। उसने 8 मार्च की रात को नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली। नहर किनारे पर्स व कपड़े मिलने से उसकी नहर में ही तलाश शुरू की गई, लेकिन नहीं मिल सका। इधर, मामले में नर्मदा विभाग के अधिकारियों ने मौका निरीक्षण कर पूरी जानकारी ली। युवक के परिजन भी रैस्क्यू टीम के साथ मौके पर बैठे हैं।

नर्मदा विभाग ने नहर से पानी कम करवाया
नहर में पानी का वेग ज्यादा हाेने से भी शव काे तलाशने में दिक्कत आ रही है। इसे देखते हुए नर्मदा विभाग के अधिकारियोंं ने कम पानी छोड़ा। पहले 1550 क्यूसेक पानी आ रहा था। पानी कम करने के बाद 1000 क्यूसेक पानी आ रहा है।
मजदूरी करने आया था युवक
जीवाराम (23) पुत्र घमडाराम भील 15 दिन पहले मैलावास गांव में मजदूरी के लिए आया था। उसने 8 मार्च की देर रात को मां को फोन कर नहर में कूदकर आत्महत्या करने की बात कही थी। उसके बाद से उसका फोन रिसीव ही नहीं हुआ। एसडीआरएफ के टीम कमांडर अमर सिंह व एनडीआरएफ के टीम कमांडर विनेसिंह के नेतृत्व में रेस्क्यू का कार्य किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...