पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सेवा परमो धर्म:7 माह से घर नहीं गए 22 चिकित्साकर्मी, खुद और बच्चों का जन्मदिन भी आइसोलेशन सेंटर में बीता

आबूरोडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब तक कोरोना पॉजिटिव की देखभाल कर उन्हें स्वस्थ करने में जुटी है चिकित्सा विभाग की टीम
  • लेकिन, इन्हें खुशी इस बात की है कि 95.6 प्रतिशत की दर से रिकवर हो रहे मरीज

जिले के सबसे बड़े मानसरोवर आइसोलेशन सेंटर में चिकित्सा एवं आयुष डॉक्टर्स व नर्सिंगकर्मियों की 22 सदस्यीय टीम अपने घर-परिवार से दूर रहकर पिछले सात महीने से लगातार कोरोना मरीजों की सेवा में जुटी हुई है। इनमें से अधिकतर चिकित्साकर्मियों ने अपना जन्मदिन, शादी की सालगिरह और बच्चों के जन्मदिन के माैके पर भी मरीजाें की सेवा में जुटे रहे।

परिवार के लोगों से भी वीडियो कॉल के जरिए ही बात करते हैं। इनके सामूहिक प्रयासों की बदौलत 95.6 प्रतिशत की दर से मरीज रिकवर हो रहे हैं। यहां अब तक 1295 कोरोना मरीजों को भर्ती किया गया है, जिनमें से 1211 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। 14 रोगी होम आइसोलेशन में भर्ती हैं, जबकि 54 लोगों को रेफर किया गया है। वर्तमान में भर्ती 16 मरीजों में आबूरोड ब्लॉक के 7 व पिंडवाड़ा ब्लॉक के 9 मरीज शामिल हैं।

शहर में पुराना किंवरली टोल नाका के समीप ब्रहाकुमारी संस्थान के मानसरोवर परिसर में 26 मार्च को 800 बेड की क्षमता वाले आइसोलेशन सेंटर की स्थापना की गई थी। सिरोही जिला मुख्यालय, पिंडवाड़ा व माउंटआबू आइसोलेशन सेंटर में यह सबसे बड़ा है।

यहां पर सबसे पहले छह रोगियों को भर्ती किया गया था। गत माह ब्रहाकुमारी संस्थान के शांतिवन परिसर व अन्य कई स्थानों पर कोरोना विस्फोट के बाद रोगियों की संख्या बढ़ने से एकबारगी चिंता का माहौल भी हुआ था। हालांकि अब एक बार फिर स्थिति सामान्य हो रही है।

कोरोनाकाल में संक्रमित मरीजों के इलाज में जुटी टीम
आइसोलेशन सेंटर प्रभारी डॉ. सलीम खान की अगुवाई में वरिष्ठ नर्सिंगकर्मी सुखबीरसिंह, आयुष कंपाउंडर दिनेश कुमार, प्रवीण कुमार, भरतलाल परिहार, एफएन.2 हिमानी त्रिवेदी, एएनएम सोनाकुमारी, राजू परमार, मुकेश परमार तलसाराम, हरिशंकर छीपा, जगदीशप्रसाद, रोसम्मा पीबी, सुरेन्द्रसिंह चौहान, संदीप निनामा, प्रकाश परमार, हरिप्रसाद पगी तथा डॉ. सुरेन्द्र कुमार यादव, राजमल भसार, हेमंत पाटीदार, मुकेश गरासिया व रमेेश गरासिया की टीम दिन-रात कोरोना रोगियों के इलाज का कार्य कर रही है।

रोजाना एक घंटे करवा रहे हैं योग व प्राणायाम

आयुष कंपाउंडर हरीशंकर का कहना है कि वे अप्रेल माह से लगातार ड्यूटी कर रहे हैं। डेढ़ माह पूर्व 20 साल के बेटे की तबीयत खराब हुई थी तो एक बार मन विचलित हुआ। यहां ऐसी स्थिति नहीं थी कि वहां जाना उचित हो। इसलिए परिवार के सदस्यों को बेटे की देखभाल के लिए कहा तथा मैं कोरोना पॉजीटिव रोगियों के देखभाल में जुटा रहा।

आबूरोड में कोरोना पॉजिटिव राेगियाें के तेजी से रिकवर होने में दैनिक दिनचर्या का सबसे बड़ा योगदान है। रोजाना सवेरे 6 से 7 बजे तक सभी पॉजिटिव रोगियों को सोशल डिस्टेंस की पालना करते हुए व्यायाम, ताड़ासन, अनुलोम-विलोम, कपालभाति व अन्य योग व प्राणायाम करवाए जा रहे हैं। इससे उनमें इम्युनिटी पॉवर बढ़ने के साथ ही सकारात्मक विचार बने रहते हैं। इसके अलावा दिन में दो बार आयुष काढ़ा पिलाने से रोगी तेजी से रिकवर हो रहे हैं।

बेटी पूछती है पापा कब आओगे, मां के ऑपरेशन में भी नहीं जा पाए सुखबीसिंह
आइसोलेशन सेंटर में कार्यरत झुंझनू निवासी वरिष्ठ नर्सिंगकर्मी सुखबीरसिंह 26 मार्च से यहां पर लगातार सेवा दे रहे हैं। 20 फरवरी को परिवारजनों से मिले थे। 3 साल की पेटी पल्लवी का बार-बार फोन आता है तब एक ही बात पूछती है पापा कब आओगे। डेढ़ माह पूर्व उनकी 65 साल की मां की आंखों का ऑपरेशन हुआ था। जब यह सूचना आई थी तो वहां जाने का मन भी हुआ था, लेकिन उस दौरान कोरोना तेजी से फैल रहा था। ऐसे में जाना उचित नही समझा।

बेटे के जन्मदिन एवं ससुर की तबीयत खराब होने पर भी घर नहीं गई हिमानी
आसपुर डूंगरपुर निवासी आइसोलेशन सेंटर में कार्यरत एफएन-2 हिमानी भी यहां पर लगातार सेवा दे रही हैं। 5 अगस्त को उनके बेटे का चौथा बर्थ डे था। हर साल वह अपने बेटे का बर्थ डे परिवारजनों के साथ मनाती है, लेकिन इस बार उनकी यहां पर डयूटी थी।

बर्थ डे पर बेटे के साथ खुशी मनाने का मन तो बहुत हुआ, लेकिन ड्यूटी पहले थी इसलिए नहीं गई। इसके बाद 16 अगस्त को ससुर की अचानक तबीयत खराब हो गई। सूचना आई। फर्ज पहले था इसलिए परिवारजनों के सामने आने में असमर्थता व्यक्त कर दी।

कोरोना पॉजिटिव को मिलता है पारिवारिक माहौल

  • आइसोलेशन सेंटर में आने वाले कोरोना पॉजिटिव रोगियाें को पारिवारिक माहौल मिलता है। चिकित्सा विभाग का हर कर्मचारी पॉजिटिव रोगी जल्द से जल्द स्वस्थ हो, इसके लिए अपनी ओर से पूरा प्रयास करता है। नतीजा हमारे सामने है। जिले में सबसे तेजी से हमारे यहां कोरोना पॉजिटिव रोगी रिकवर होकर घर लौट रहे हैं। - डॉ. सलीम खान, प्रभारी, आइसोलेशन सेंटर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें