सर्दी:-4 माउंट आबू सात दिन बाद फिर माइनस में, हिमधवल पर्वत वादियों में बर्फ ही बर्फ

माउंट आबू4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माउंट आबू में सोमवार सुबह पहाड़ों पर जमी बर्फ। फोटो : निधि उमट - Dainik Bhaskar
माउंट आबू में सोमवार सुबह पहाड़ों पर जमी बर्फ। फोटो : निधि उमट

प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में इस बार सर्दी तोड़ रही है। इस सीजन में दूसरी बार सात दिन तक रात का पारा प्लस में रहने के बाद फिर माइनस में पहुंच गया। एक ही दिन में चार डिग्री लुढ़ककर सोमवार को यहां का न्यूनतम तापमान माइनस 4 डिग्री पर पहुंच गया। पारे के माइनस में पहुंचते ही सवेरे पूरे माउंट आबू में खुली जगह पर ओस की बूंदे बर्फ की चादर तब्दील हो गई। नक्की झील में खड़ी बोट की सीट, पोलो ग्राउंड, होटलों के बगीचों में घास व फूल-पत्तियों पर बर्फ जम गई।

सवेरे देर तक कोहरे का असर भी रहा। हालांकि, अधिकतम तापमान पांच डिग्री बढ़कर 13 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। दो दिन पहले चली आंधी और बारिश के साथ ही उत्तर से आने वाली सर्द हवाओं ने फिर से तापमान में गिरावट लाई है।

आगे क्या : 3-4 दिन तक जीरो या इससे भी कम रहेगा पारा

उत्तरी भारत के पहाड़ी इलाकों में हो रहे भारी बर्फबारी से आने वाली सर्द हवाओं ने माउंट आबू के तापमान को भी गिराया है। दो दिन पहले माउंट आबू के मौसम में बदलाव के साथ ही उत्तर से आने वाली बर्फीली हवाओं ने सर्दी बढ़ा दी है। मौसम विशेषज्ञ के मुताबिक अगले 3-4 दिन तक तापमान ऐसा ही रहेगा।

यानी रात का पारा शून्य से नीचे रहने की संभावना है। इधर, माउंट आबू में फिर से बर्फ जमना शुरू होने से यहां के पर्यटन व्यवसाय में उछाल आएगा। मौसम विभाग जयपुर राधेश्याम ने बताया कि सर्द हवाएं चलेगी और जनवरी के अंतिम सप्ताह तक तापमान जीरो और उससे भी नीचे पहुंच सकता है।

खबरें और भी हैं...