धोखा धड़ी:तंत्र विद्या से रुपए दोगुने करने का झांसा देकर 6.51 लाख की ठगी करने का आरोपी गिरफ्तार

सरुपगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • काछोली के युवक से 9 महीने पहले की थी ठगी, आरोपी के खिलाफ पाली के देसूरी थाने में भी मामला दर्ज

काछोली गांव के एक युवक के साथ करीब 9 महीने पहले तंत्र विद्या कर रुपयों को दुगुनk करने का झांसा देकर करीब 6 लाख 51 हजार रुपए की ठगी करने वाले फरार आरोपी को सरूपगंज पुलिस ने उदयपुर से गिरफ्तार किया। आरोपी पर देसूरी थाने में भी तंत्र विद्या कर ठगी करने का मामला दर्ज है।

थाना प्रभारी हरीसिंह राजपुरोहित ने बताया कि करीब 9 माह पूर्व काछोली निवासी ललित कुमार पुत्र रमेशचंद्र लौहार ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि धनला पाली निवासी तांत्रिक धनराज ने उसे तंत्र विद्या से रुपयों को दुगुना व तिगुना करने का झांसा देकर पहले एक लाख रुपए गांव काछोली में लिए थे तथा 5 लाख 51 हजार रुपए खेरवाड़ा उदयपुर में बुलाकर पूजा पाठ के बहाने आंख बंद करवाकर तंत्र विद्या कर धन को दुगुना तिगुना करने का झांसा देकर हड़प लिए थे।

मामला दर्ज होने के बाद से आरोपी 9 माह से फरार चल रहा था। आरोपी की तलाश के लिए थाना प्रभारी हरीसिंह राजपुरोहित मय टीम ने तकनीकी व मुखबीर की सूचना पर आरोपी धनराज ऊर्फ ढगलाराम पुत्र डूंगाराम मेघवाल जोजावर रोड धनला थाना सिरियारी पाली हाल आकाश गंगा अपार्टमेंट सेक्टर 14 हिरन मगरी उदयपुर को गिरफ्तार किया।

पकड़ा नहीं जाए इसलिए रहता था उदयपुर के पॉश इलाके में : पुलिस ने बताया कि आरोपी ठगी करने के समय बाबा व तांत्रिक के वेशभूषा में रहता है। साथ ही अपने नाम पते भी बदलता रहता है। आरोपी ठगी करने के बाद अपने मूल स्थान से परिवार समेत पॉश इलाके उदयपुर ने रहने लगा, ताकि उस पर कोई संदेह नहीं कर सके।

आरोपी ऐसे करता था ठगी

पूजा के बहाने बुलाता था दूसरी जगह : आरोपी लोगों से रुपयों को ऐंठ कर पूजा पाठ करने के बहाने दूसरी जगह पर बुलाता था और पूजा पाठ के बहाने आंख बंद करवा कर रुपयों में मसूर की दाल, कंकु वगैरह डालकर एक चूंदड़ी में बांधने को कहता था। उक्त चूंदड़ी को डब्बे में डालकर लोगों को देता था तथा घर जाकर खोलने पर करोड़ों रुपयों के निकलने का झांसा देता था।

नोट की साइज की नकली कागज की गड्डियां भी रखता था : आरोपी लोगों को तंत्र विद्या के नाम पर रुपयों को दुगुना करने का झांसा देकर रुपये प्राप्त कर पूजा पाठ का नाम लेकर डब्बे में डालना बताकर डिब्बे में रुपयों की जगह नोटों की गड्डियों जैसी साइज के विशेष कागज चूंदड़ी में डाल देता था। इसी तरह ठगी करने का आरोपी आदी है।

खबरें और भी हैं...