6 घंटे तक सहमा रहा रानीवाड़ा:रात काे गरबे में विवाद के बाद सुबह लाठियां लेकर सड़काें पर दाैड़े युवक, पत्थरबाजी, दुकानें बंद कराई

रानीवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रानीवाड़ा. तहसील रोड स्थित बाजार में गुरुवार को उपद्रव के दौरान लोगों के हाथों में लाठियां थीं। - Dainik Bhaskar
रानीवाड़ा. तहसील रोड स्थित बाजार में गुरुवार को उपद्रव के दौरान लोगों के हाथों में लाठियां थीं।
  • गरबे में छेड़छाड़ से रोकने पर आरोपियों ने मचाया उपद्रव

कस्बे में बुधवार रात गरबों के दौरान युवकों के बीच हुई कहासुनी के बाद गुरुवार सुबह रानीवाड़ा में 6 घंटे तक बवाल के हालात बने रहे। सुबह कुछ युवकों ने बाजार बंद करवाने को लेकर उपद्रव शुरू कर दिया। इस दौरान एक समाज के लोगों व व्यापारियों के बीच मारपीट हाे गई, जिसमें दो-तीन व्यापारी चोटिल हुए हैं। विवाद के चलते पूरे दिन माहौल तनावपूर्ण रहा।

बड़ी संख्या में लोग हाथों में लाठियां लेकर इधर-उधर घूमते रहे। सूचना पर उपखंड अधिकारी प्रकाशचंद्र अग्रवाल, पुलिस उप अधीक्षक रतन लाल मेघवाल, थानाधिकारी पदमाराम मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और समझाइश शुरू की, लेकिन आक्रोशित लोग नहीं माने। एक बस्ती के लोग और व्यापारी उलझते रहे। इस दौरान एक पक्ष ने जमकर पत्थरबाजी की।

इस पर व्यापारी भी आक्रोशित हो गए और थाने के सामने धरने पर बैठ गए। उन्होंने उपद्रव करने वालों की गिरफ्तारी की मांग की। मामले में पुलिस अधिकारियों को ज्ञापन भी सौंपा। प्रकरण को लेकर ओक सिंह पुत्र वने सिंह राजपूत ने नट बस्ती में रह रहे 10 से 15 युवकों पर लूट, मारपीट, तोड़फोड़ करने सहित धारदार हथियार से मारने की नियत से हमला करने का मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस ने उपद्रव फैलाने पर 5 युवकों को हिरासत में लिया है।

व्यापारियों का आरोप : कई बार हो चुकी लूट व मारपीट

व्यापारियों ने आरोप लगाया कि इस बस्ती के युवक सरेआम बाजार में लूट एवं मारपीट की घटना कई बार कर चुके हैं, ऐसे में इन लोगों पर अंकुश नहीं लगाया गया तो व्यापारी धरना प्रदर्शन करेंगे। उन्हाेंने ऐसे लाेगाें काे गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की। व्यापारियों ने इस संबंध में पुलिस अधिकारियों को ज्ञापन भी सौंपा।

21 जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है

रात को गरबों में विवाद हुआ था। उसी को लेकर सुबह नट बस्ती के कुछ युवक झगड़ा करने लगे थे। दुकानदार के साथ मारपीट के बाद विवाद बढ़ गया। व्यापारियों से समझाइश कर मामला शांत करवा दिया। 21 जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। - रतन मेघवाल, डीएसपी

इस तरह शुरू हुआ विवाद

बुधवार रात करीब 11:30 बजे गरबा मंडल में युवकों के बीच कहासुनी हुई। आरोप है कि वहां लड़कियों से छेड़छाड़ कर रहे एक बस्ती के युवकों को कुछ लड़काें ने रोका था। जिस पर गुस्साए युवक सुबह उन लोगों के घर व दुकान पर जाकर गाली गलौज कर झगड़ा करने लगे। पुलिस के मुताबिक सुबह 10 बजे शेरसिंह पाइप की दुकान पर था। उस दौरान बस्ती के युवक आए और विवाद शुरू हाे गया।

कुछ ही देर बाद बड़ी तादाद में बस्ती के लोग बाजार में आ गए। इधर, झगड़े की सूचना पर एसडीएम व पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा। उन्होंने युवकों को खदेड़ दिया। इसके बाद बस्ती के लोग बाजार बंद करवाने लगे।

व्यापारियों ने दर्ज करवाया मुकदमा, पांच युवक हिरासत में

विवाद के बाद व्यापारियों द्वारा दो अलग-अलग रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है, जिसमें 21 लाेगाें के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करवाया गया है। मामले में 5 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। उसके बाद शाम करीब 4 बजे पुलिस की समझाइश पर व्यापारी मान गए और धरना उठा लिया।

दुकानें बंद करवाने पर बिगड़े हालात, पुलिस ने किया काबू

पाइप की दुकान पर युवकों के बीच विवाद से मामला इतना बढ़ गया कि पूरी बस्ती दुकानें बंद करवाने लग गई। दुकानदारों के मना करने पर उनके ऊपर भी लाठियों से वार किया, जिससे दो-तीन लोगों के चोटें भी आई। सूचना ज्यों ही पूरे बाजार में फैली तो व्यापारियों ने बाजार बंद कर दिया एवं सभी लोग सांचौर फाटक बस्ती के पास आकर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे।

उधर, बस्ती के लोग और ज्यादा आवेश में आ गए व तलवारें धारिया व लाठियां लहराने लगे, जिससे माहौल ज्यादा खराब होने लगा। उपखंड अधिकारी ने अतिरिक्त जाब्ता को बुलाकर माहौल को शांत करवाया।

खबरें और भी हैं...