पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Govinda's Anger Was Not Contained, He Fought With His Colleagues, Complained Four Times In 10 Years, Changed The Department Thrice, Warned, But This Time He Did The Limit: Midha

ग्लाेबल अस्पताल की डिप्टी डायरेक्टर पर हमले का माम:गोविंदा का गुस्से पर काबू नहीं था, साथियों के साथ लड़ाई करता, 10 साल में चार बार शिकायतें, तीन बार विभाग बदला, चेतावनी दी, लेकिन इस बार हद ही कर दी: मिढ्ढा

आबूरोड3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो
  • ग्लोबल अस्पताल के निदेशक डॉ. प्रताप मिढ्ढा ने कहा- ड्राइवर के रवैये को देखते हुए पहले भी कई बार चेतावनी दे चुके हैं

ब्रह्मकुमारीज संस्थान की ओर से संचालित ग्लोबल अस्पताल की डिप्टी डायरेक्टर पर उनके ड्राइवर द्वारा चाकू से हमला कराने के बाद मंगलवार को सदर थाने में उसके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। यह भी सामने आया है कि गोविंदा का रवैया दूसरे कर्मचारियों से बिल्कुल अलग था।

ग्लोबल अस्पताल के निदेशक ने बताया कि उसे जल्दी गुस्सा आ जाता था। कई बार अपने साथियों से भी लड़ाई कर चुका था। जब भी उसकी शिकायत आती उसे चेतावनी देकर उसका विभाग बदल दिया जाता, लेकिन इसके बाद भी उसका स्वभाव नहीं बदला और इस बार तो उसने हद कर दी।

उसकी शिकायतों के बाद उसे जैसे ही बुधवार काे निलंबित कर उसका स्थानांतरण माउंट आबू कर दिया था ताे उसने डिप्टी डायरेक्टर डॉ. रोजा टूमा पर चाकू से हमला कर दिया और इसके बाद खुद को भी चाकू से वार कर घायल कर दिया।

डॉ. मिढ्ढा ने बताया कि किसी को भी यह उम्मीद नहीं थी कि गोविंदा ऐसा करेगा। इधर, ट्रांसपोर्ट विभाग के डिप्टी मैनेजर कालीसाद बनर्जी ने आबूरोड सदर थाने में रिपोर्ट दी गई है, जिसके बाद मामला दर्ज कर दिया गया है। उधर, आरोपी गोविंदा सिकंदर की हालत भी लगातार गंभीर बनी हुई है।

ट्रांसपोर्ट विभाग के डिप्टी मैनेजर ने थाने में दर्ज कराया मामला, डिप्टी डायरेक्टर रोजा टूमा और आरोपी गोविंदा की हालत गंभीर

संस्थान में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी ली जाती है और उसके बाद उसे नियुक्ति दी जाती है। गोविंदा को जल्दी गुस्सा आता था। गोविंदा के खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही थीं। यहां तक कि वह अपने साथियों के साथ भी लड़ाई करता। इसके लिए चार बार चेतावनी दी गई।

इतना ही नहीं, 10 साल में तीन बार उसके विभाग बदले गए। पहले वह किचन में था। इसके बाद उसे एकमंडेशन में लगाया गया। कुछ समय बाद ट्रांसपोर्ट विभाग में भी काम किया और डेढ़ साल पहले उसे ट्रोमा सेंटर में लगा डिप्टी डायरेक्टर का ड्राइवर नियुक्त किया था।

  • गोविंदा की पहले से शिकायतें मिल रही थीं। उसे छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आ जाता था। उसके तीन बार विभाग बदले गए और चार बार चेतावनी भी दी गई। इतना ही नहीं, हर साल कर्मचारियों का फीडबैक में भी उसकी शिकायतें आती थीं कि वह काम में अड़चन डाल रहा है और गुस्सा करता है, लेकिन हम लोग इसे चला रहे थे। इसलिए उसे निलंबित कर माउंट आबू स्थानांतरण किया गया। - डॉ. प्रताप मिढ्ढा, निदेशक, ग्लोबल अस्पताल, माउंट आबू
  • इस मामले में ट्रांसपोर्ट विभाग के डिप्टी मैनेजर की ओर से दी रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल, ट्रोमा सेंटर डिप्टी डायरेक्टर अस्पताल में भर्ती है। स्वास्थ्य में सुधार के बाद बयान लेकर कार्रवाई करेंगे। - आनंदकुमार, थानाधिकारी, आबूरोड सदर
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें