टाेकन व्यवस्था से मुक्ति:15 दिन में निर्माण सामग्री के परिवहन का जवाब नहीं मिलने पर खुद ला सकेगा सामग्री

माउंट आबू10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • माउंटवासियों काे निर्माण सामग्री के लिए अब नहीं करना हाेगा इंतजार

राज्य सरकार की ओर से जाेनल मास्टर प्लान व बिल्डिंग बायलॉज लागू हाेने के बाद माउंटआबू के वाशिंदे काे वर्षों बाद अधिकारों का उपयोग करने का अवसर मिलेगा। नगरपालिका की ओर से यह निर्णय लिया गया है कि जब तक पूरी तरह से टोकन व्यवस्था समाप्त नहीं होती तब तक रिपेयर आदि कार्य के हेतु निर्माण सामग्री के परिवहन के मिलने वाली एनओसी की समय सीमा तय की गई है।

इसके तहत माउंट आबू के वासियाें काे कार्यालयाें के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। दरअसल, नगरपालिका की भवन अनुज्ञा एवं सर्कम समिति व तत्कालीन कार्यवाहक आयुक्त गौरव सैनी की पूर्व में हुई बैठक में एनओसी समेत कई निर्णय लिए गए थे। इसमें रिपेयर के लिए निर्माण सामग्री परिवहन काे लेकर आवेदन करना हाेगा। इसके लिए 15 दिन में एनओसी जारी कर दी जाएगी। लेकिन, इसके बाद भी 15 दिन में एनओसी जारी नहीं हाेती है ताे प्रार्थी बिना स्वीकृति के खुद निर्माण सामग्री ला सकेंगे।

समय पर काम नहीं करने वाले कर्मचारियाें के खिलाफ भी हाेगी कार्रवाई

नगरपालिका द्वारा एकल खिड़की व्यवस्था शुरू की गई हैं। अब निर्माण सामग्री परिवहन के लिए एनओसी के लिए एकल खिड़की पर आवेदन करना हाेगा। यहां से आवेदनकर्ता को आवेदन की रसीद प्राप्त होगी, तत्पश्चात नगरपालिका सहित अन्य कार्यालय को 15 दिवस के भीतर कार्य को पूर्ण कर पुनः एकल खिड़की से निर्माण सामग्री सामग्री परिवहन की एनओसी जारी हाेगी। यदि 15 दिन में एनओसी एकल खिड़की से जारी नहीं हाेती है ताे प्रार्थी आवेदन के समय प्राप्त रसीद दिखा कर निर्माण परिवहन कर सकता हैं।

साथ ही समय पर कार्य नहीं करने वाले कार्मिकों पर कार्यवाही का फैसला भी लिया गया हैं। इतना ही नहीं विशेष परिस्थिति में पालिका को अनुमति नहीं देने के लिए आवेदक काे लिखित में भी बताना पड़ेगा। गौरतलब है कि जब जोनल मास्टर प्लाॅन व बायलॉज लागू नहीं थे तब अवैध निर्माण व अतिक्रमण पर ध्यान रखने हेतु निर्माण सामग्री का दुरूपयोग न हो इसलिए टोकन व्यवस्था शुरू की गई थी।

प्रभारी मंत्री से कराएंगे शुरुआत
सिरोही जिला के प्रभारी मंत्री प्रमोद भाया जैन से एकल खिड़की पर इस व्यवस्था की शुरूआत कराएंगे। इससे आमजन को जल्द अपने कार्यों हेतु निर्माण सामग्री परिवहन का अनुजा पत्र प्राप्त हो सकेगा। एक जगह से सारी सुविधा जनता को मिलेगी। राज्य सरकार द्वारा आबूवासियों के हित में लिए गए निर्णयों को लागुू करवाएंगें।
जीतू राणा,
अध्यक्ष, माउंट आबू नगर पालिका

जोनल मास्टर प्लान व बायलॉज के पश्चात अब टोकन व्यवस्था की कोई जरूरत नहीं हैं। जल्द इसे खत्म करेंगें। टोकन की आड़ में कार्यालयों द्वारा भारी भ्रष्टाचार हो रहा हैं, साथ ही अतिक्रमण हो रहा हैं। हाल फिलहाल कुछ समय हेतु यह व्यवस्था की हैं, इससे पारदर्शिता होगी। समय पर आमजन को राहत मिलेगी।
नारायाणसिंह भाटी,
अध्यक्ष, भवन अनुजा एवं सर्कम समिति

खबरें और भी हैं...