73.6 ग्राम सोने का हार किया भेंट:अंबाजी शक्तिपीठ मंदिर में माता पर चढ़ाया, शाम की आरती में पहुंचे पुणे के भक्त ने किया गुप्तदान

माउंट आबूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुप्तदान में चढ़ाया गया सोने का हार। - Dainik Bhaskar
गुप्तदान में चढ़ाया गया सोने का हार।

माउंट आबू के प्राचीन अंबाजी शक्तिपीठ मंदिर में मंगलवार शाम आरती में आए पुणे के एक भक्त ने सोने का हार माता को भेंट किया है। सोने का हार भेंट करने का पता चलने पर भक्त अचंभित रह गए।

जानकारी के मुताबिक, प्राचीन मंदिर मां अंबा भवानी के शक्तिपीठों में से एक है। इस मंदिर के गर्भ गृह में मां की कोई प्रतिमा स्थापित नहीं है। यहां मां का एक संयंत्र स्थापित है। जिनकी पूजा अर्चना होती है। मंगलवार शाम की आरती के बाद अंबाजी शक्तिपीठ में भक्तों की ओर से विभिन्न प्रकार के फल और प्रसाद से मां को भोग लगाया। इस दौरान पुणे से आए एक भक्त ने अंबाजी मंदिर में फ्रूट, ड्राई फ्रूट और प्रसाद का शाम की आरती में माता रानी के गर्भग्रह में भोग लगाकर आरती की।

मंदिर के महाराज भट्टजी ने भोग लगाकर आरती की। अंबाजी शक्तिपीठ में 73.6 ग्राम सोने का हार एक भक्त की ओर से गुप्तदान किया गया। मंदिर के महाराज भट्टजी ने बताया कि आज शाम को पुणे से आए एक भक्त ने अपना नाम गुप्त रखते हुए 73.6 ग्राम का सोने का हार चढ़ाया। इस सोने की हार की कीमत 3 लाख 31 हजार लाख रुपए है।