अनलॉक 1 / पाली में पिछले 30 दिन में बिकी 1800 गाड़ियां, 37 कराेड़ रुपए का काराेबार, पब्लिक ट्रांसपोर्ट से बच रहे लोग

अनलॉक-1 में 500 से ज्यादा लोगों ने कार खरीदी। आरटीओ रोड स्थित एक शोरूम पर ग्राहक को कार की चाबी सौंपते कर्मचारी। अनलॉक-1 में 500 से ज्यादा लोगों ने कार खरीदी। आरटीओ रोड स्थित एक शोरूम पर ग्राहक को कार की चाबी सौंपते कर्मचारी।
X
अनलॉक-1 में 500 से ज्यादा लोगों ने कार खरीदी। आरटीओ रोड स्थित एक शोरूम पर ग्राहक को कार की चाबी सौंपते कर्मचारी।अनलॉक-1 में 500 से ज्यादा लोगों ने कार खरीदी। आरटीओ रोड स्थित एक शोरूम पर ग्राहक को कार की चाबी सौंपते कर्मचारी।

  • 60 प्रतिशत ग्राहक ऐसे जिन्होंने पब्लिक ट्रांसपोर्ट से बचने खरीदे वाहन, स्कूल-काॅलेज खुलने के बाद बढ़ेगी डिमांड, कार डीलर बाेले- उम्मीद नहीं थी कि काेराेनाकाल में ऐसी बिक्री हाेगी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 08:53 AM IST

पाली. अनलाॅक-0.1 में पाली के बाजार फिर मुस्कुराने लगे हैं। पिछले 30 दिनों में 1800 वाहन बिके और इससे करीब 37 कराेड़ का कारोबार हुआ। इनमें 500 कारें और शेष दोपहिया वाहन हैं। वाहन डीलर्स के मुताबिक खरीदारों में अपडाउन करने वाले और अभिभावक ज्यादा हैं।

स्कूल-कॉलेज खुलने के बाद गाड़ियों की डिमांड और बढ़ेगी। चूंकि ये लोग लोक परिवहन का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन कोरोना के कारण अब इसके उपयोग से बचना चाहते हैं। एक कारण अभी लोन की ब्याज दरें कम होना भी है। शोरूम में कार खरीदने वाले अमित टाक ने बताया कि व्यापार के सिलसिले में मुंबई आना-जाना रहता है।

पहले बस से वहां जाकर किसी व्यापारी से गाड़ी लेकर अन्य व्यापारियों के पास घूम लेता था। लेकिन अब बस की बजाय अपनी गाड़ी से ही जाऊंगा ताकि संक्रमण के बच सकूं। कार खरीदने आए अनुराग सिंह ने बताया कि बस और फ्लाइट अभी मुझे सुरक्षित नहीं लगते। कार तो पहले ही बुक की थी। नवरात्रि में डिलीवरी लेनी थी। लॉकडाउन की वजह से अब मिल पाई है, लेकिन ये भी अच्छा हुआ क्योंकि अभी ज्यादा जरूरत है।

वाहनों की रिकॉर्ड बिक्री

ऑटाेमाेबाइल एसोसिएशन के जानकारों ने बताया कि लॉकडाउन में कई चीजों की होम डिलीवरी शुरू हुई है। ऐसे में कार के साथ लोडिंग गाड़ियों की भी अचानक मांग बढ़ी है। कार खरीदने में लोग जरूरत को प्राथमिकता दे रहे हैं। ऐसे ग्राहकों की संख्या भी ज्यादा है जिनके पास पहले से एक कार है। अन्य सदस्यों के लिए वे दूसरी कार ले रहे हैं। एक अलग सेगमेंट में एसयूवी की मांग भी बढ़ी है।

एक कारण यह भी... वाहनों की होम डिलीवरी ने बढ़ाया मार्केट, कार के साथ लोडिंग गाड़ियों की भी अचानक मांग बढ़ी

500 कारें खरीदी लाेगाें ने

1300 दुपहिया वाहन बिके

60 फीसदी ग्राहक बोले- पब्लिक ट्रांसपोर्ट से बचने खरीदे वाहन

इसलिए बढ़ी खरीदी: पब्लिक ट्रांसपोर्ट से परहेज
वाहन डीलरों का कहना है कि कहीं भी आने-जाने के लिए लोग सुरक्षित साधन चाहते हैं। अनलाॅक प्रथम में वाहन खरीदने शोरूम पहुंचे ग्राहकों से बातचीत में 60 फीसदी ग्राहक इस बात को स्वीकार भी कर रहे हैं कि वे पब्लिक ट्रांसपोर्ट से बचना चाहते हैं, इसलिए गाड़ी खरीद रहे हैं। पटेल के अनुसार, आगामी समय में स्कूल-कॉलेज खुलने के बाद डिमांड और बढ़ेगी।

  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट से लाेग कम जाना पसंद कर रहे है। इसलिए वाहन की बिक्री बढ़ी है। लॉकडाउन से पहले की अपेक्षा अभी कार बिक्री का प्रतिशत बढ़ा है। स्कूल काॅलेज खुलने के बाद ये और बढ़ेगा। -हितेश गहलाेत, प्राेपराइट, हुंडई शाेरूम
  • अपेक्षा नहीं थी कि अनलाॅक में इतनी कारें बिकेंगी। हमने 50 फीसदी मार्केट टूटने का अनुमान लगाया था। अनलॉक 1 के दौरान पाली में करीब 37 करोड़ रुपए के वाहनों की बिक्री हो चुकी है।  -कमलेश भाटी, सेल्स मैनेजर, एलएमजे सर्विसेज

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना