• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • 20 Years Imprisoned To Baba, The Rapist Of A Minor: The Teenager Had Come To The Ashram To Get Treatment For The Disease, The Judge Said – The Crime Of The Accused Is Disgusting, It Is Unforgivable

नाबालिग के दुष्कर्मी ढोंगी बाबा को 20 साल कैद:जज बोले-आरोपी का अपराध घृणित-अक्षम्य, दोषी ने तंत्र से परिवार के खात्मे की दी थी धमकी

पाली7 महीने पहले

17 साल की नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले आरोपी ढाेंगी बाबा को कोर्ट ने 20 साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है। पाली की पाेक्साे अदालत ने सदर थाना क्षेत्र में डेढ़ साल पहले हुए इस मामले यह सजा सुनाई है। किशोरी राजकियावास-पड़ासला सरहद में स्थित एक आश्रम में बीमारी का इलाज कराने गई थी।

जज ने कहा, आरोपी ने किया है विश्वासघात
पोक्सो एक्ट काेर्ट संख्या 3 के वरिष्ठ जज बरकत अली ने 17 साल की किशाेरी से दुष्कर्म के मामले में आरोपी कथित तांत्रिक बाबा बुद्धानंद काे 20 साल के कठाेर कारावास की सजा सुनाई। काेर्ट ने कहा कि आराेपी ने घृणित अपराध व विश्वासघात किया, जाे अक्षम्य अपराध है।

आरोपी बाबा ने नाबालिग से कई बार छेड़छाड़ की और दो बार रेप किया।
आरोपी बाबा ने नाबालिग से कई बार छेड़छाड़ की और दो बार रेप किया।

पीड़िता ने विरोध किया था तो आरोपी ने डराया-धमकाया
पीड़िता ने विराेध किया था ताे आराेपी बाबा ने यह कहते हुए डराया कि वह जादू-टाेने से उसे व उसके परिवार को खत्म कर दूंगा। काेर्ट ने 12,500 रुपए जुर्माना भी लगाया। विशिष्ट लाेक अभियाेजक खीमाराम पटेल ने बताया कि 10 जून, 2020 को एक महिला ने सदर थाने में रिपाेर्ट दर्ज कराई थी।

तीन दिन तक की छेड़छाड़, चाैथे दिन डरा-धमका किया दुष्कर्म
पीड़ित की मां ने रिपाेर्ट में आराेप था कि 31 मई से और 2 जून,2020 काे उसकी पुत्री को संत ने इलाज के बहाने आश्रम पर स्थित अपने कमरे में ले गया और प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ कर देशी जड़ी बूटियों का पट्टा बांध कर उस दिन वापस भेज दिया। दाे दिन बाद 4 जून काे इलाज के बहाने कमरे के अंदर ले गया और उसकी बेटी से दाे बार दुष्कर्म किया।
घटना से डरी-सहमी बेटी ने खाना-पीना किया बंद
बाबा का जब बेटी ने विराेध किया ताे आरोपी ने धमकाया कि मैं जादू से तुझे व तेरे परिवार को खत्म कर दूंगा। धमकाया कि घटना के बारे में किसी काे बताया ताे पूरे परिवार काे समाप्त कर दूंगा। इस घटना से डरी-सहमी उसकी बेटी ने खाना-पीना बंद कर दिया ताे 9 जून काे विश्वास में लेकर पूछताछ की ताे बेटी ने पूरी घटना बताई। इसके बाद पीड़िता ने अपनी मां के साथ सदर थाना पहुंच मुकदमा दर्ज कराया।