नाबालिग से रेप के आरोपी को 20 साल की जेल:शादी की नीयत से बहला फुसलाकर भगाकर ले गया था, 15 साल की नाबालिग से किया दुष्कर्म

पालीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पोक्सो एक्ट न्यायालय संख्या-1 ने सुनाया फैसला। - Dainik Bhaskar
पोक्सो एक्ट न्यायालय संख्या-1 ने सुनाया फैसला।

15 साल की एक नाबालिग को शादी की नीयत से बहला-फुसला कर भगाकर ले जाने एवं उसक साथ बलात्कार करने के मामले की गुरुवार को पोक्सो एक्ट न्यायालय संख्या-1 के विशिष्ठ न्यायाधीश प्रहलादराय शर्मा ने सुनवाई की। दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की बहस व गवाहों के बयान सुनने के बाद उन्होंने अभियुक्त ताराचंद को दोषी मानते हुए 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। इसके साथ ही 26 हजार के अर्थदंड से दंडित किया।

विशिष्ठ लोक अभियोजक संदीप नेहरा ने बताया कि रास थाना क्षेत्र निवासी एक युवक ने 29 अक्टूबर 2019 को रिपोर्ट दी। जिसमें अपनी 15 साल की नाबालिग बेटी को सुमेल गांव निवासी 22 वर्षीय ताराचंद पुत्र पोकरराम बावरी द्वारा शादी की नीयत से बहला फुसलाकर भगाकर ले जाने एवं बलात्कार करने की रिपोर्ट दी। मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। मामले की गुरुवार को विशिष्ठ न्यायाधीश प्रहलादराय शर्मा ने सुनवाई की। दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की बहस व गवाहों के बयान सुनने के बाद उन्होंने सुमेल गांव के चौकीदारों की ढाणी (रास) निवासी 22 वर्षीय ताराचंद पुत्र पोकरराम बावरी को दोषी मानते हुए 20 साल के कठोर करावास की सजा सुनाई तथा 26 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया।

खबरें और भी हैं...