पाली में पॉक्सो एक्ट काेर्ट संख्या एक का फैसला:नाबालिग का अपहरण का दुष्कर्म करने के जुर्म में 20 साल का कठाेर कारावास

पाली19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पाली में पॉक्सो एक्ट न्यायालय संख्या-1 के विशिष्ट न्यायाधीश प्रहलादराय शर्मा ने पुलिस थाना गुड़ा एन्दला के एक प्रकरण में 17 वर्ष की नाबालिग किशोरी का अपहरण और दुष्कर्म के मामले में मुल्जिम भंवरलाल जाेगी निवासी सांवलता, रानी काे 20 साल के कठाेर कारावास की सजा सुनाई। काेर्ट ने 26 हजार रुपए के अर्थदंड से भी दंडित किया।

विशिष्ट लाेक अभियाेजक संदीप नेहरा ने बताया कि गुड़ा एंदला थाने में 16 नवंबर,2019 काे रिपाेर्ट दर्ज कराई थी। प्रार्थी की 17 साल की बेटी घर पर अकेली थी। इस दाैरान रानी थाना क्षेत्र के सांवलता गांव का अाराेपी भंवरलाल जाेगी पुत्र बाबूलाल वहां पहुंचा अाैर बहला-फुसला कर गांव में पानी की टंकी के पास बुलाया। बाद में डरा धमका कर साथ भगा ले गया। अाराेपी भंवरलाल ने भीमालिया गांव में गोपालसिंह के कृषि बेरे पर स्थित कमरे में पीड़िता काे दो दिन बंद रखा अाैर दुष्कर्म किया।

गुड़ा एंदला पुलिस ने अाराेपी भंवरलाल काे गिरफ्तार उसके खिलाफ काेर्ट में चालान पेश किया। मामले में सुनवाई पूरी करते हुए काेर्ट ने मुल्जिम भंवरलाल जाेगी काे अपहरण, बंधक बना कर रखने तथा उसके साथ दुष्कर्म करने के अाराेप में दोषी करार देते हुए 20 वर्ष के कठोर कारावास एवं 26 हजार के अर्थदण्ड से दण्डित किया है।

खबरें और भी हैं...