पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

4 छात्राएं हॉस्टल छोड़ लौटी घर:बोली- वार्डन मारपीट व उसका व्यवहार भी अच्छा नहीं, वार्डन बोली- आरोप निराधार

तखतगढ़ (पाली)20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नोवी स्थित छात्रावास। - Dainik Bhaskar
नोवी स्थित छात्रावास।

तखतगढ़ के निकट स्थित नोवी गांव के अनुसूचित जनजाति आवासीय छात्रावास की 4 छात्राओं के टीसी लेकर हॉस्टल छोड़ वापस घर लौटने का मामला सामने आया हैं। छात्राओं ने वार्डन द्वार मारपीट करने एवं उनके साथ व्यवहार अच्छा नहीं होने की शिकायत की। इस मामले में वार्डन ने सफाई देते हुए कहां कि ऐसा कुछ नहीं हैं। छात्राओं ने जो आरोप लगाए वे निराधार हैं।

कस्बे के समीपवर्ती बलाना एवं जालोर जिले के हरियाली निवासी बालिकाओं से टीसी कटवाकर ले गई। छात्राओं का आरोप हैं कि आवासीय विद्यालय की शारीरिक शिक्षक व वार्डन का बीते दो सालों से रवैया उनके साथ अच्छा नहीं है। कई बार तो वे मारपीट तक भी कर चुकी है। अभिभावकों ने बताया कि वे ऐसे माहौल में बेटियों को अपने गांव में ही पढ़ाएंगे। मामले में सुमेरपुर एसडीएम रिषभ मंडल का कहना हैं कि मामले की जांच करवा उचित कार्रवाई करवाएंगे।

इन छात्राओं ने छोड़ा हॉस्टल

मामले में वार्डन रंजन कंवर ने छात्राओं की ओर से लगाए गए आरोप निराधार बताए। वर्ष 2017 में पूर्व विधायक सुमेरपुर मदन राठौड़ के नेतृत्व में नोवी गांव में अनुसूचित जनजाति वर्ग की बालिकाओं को प्रवेश दिया गया। 50 सीटों वाले इस आवासीय विद्यालय में अब आधी बालिकाएं भी नहीं रही है।