पाली में कोरोना की दस्तक, 44 संक्रमित मिले:अब भी सजग नहीं हुए तो बढ़ेगा कोरोना का आंकड़ा, संपर्क में आए लोगों की ट्रेसिंग शुरू

पाली19 दिन पहले
पाली जिले के देसूरी में सैंपलिंग करते नर्सिंगकर्मी।

पाली जिले में कोरोना का असर अब देखने को मिल रहा हैं। शुक्रवार को 44 कोरोना मरीज सामने आए हैं। अब संभलने की जरुरत हैं। कोरोना गाइड लाइन की पालना नहीं की तो पाली में यह आंकड़ा बढ़ता जाएंगा।

पाली में शुक्रवार को नगर परिषद हॉल में मंत्री रमेशचंद्र मीणा की बैठक में भाग लेने जाने के दौरान कुछ इस तरह थी भीड़। सोशल डेस्टेसिंग रही नदारद।
पाली में शुक्रवार को नगर परिषद हॉल में मंत्री रमेशचंद्र मीणा की बैठक में भाग लेने जाने के दौरान कुछ इस तरह थी भीड़। सोशल डेस्टेसिंग रही नदारद।

शुक्रवार को 24 घंटे में 44 मरीज सामने आए हैं। इसमें 18 साल तक के 12 मरीज, 19 से 40 साल तक के 17 मरीज, 41 से 60 साल तक के 10 एवं 61 साल से अधिक उम्र के 5 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इनमें से कई मरीज ऐसे हैं जो जिले के बाहर जाकर आए है। इसके बाद उन्हें खांसी और बुखार होने लगा। जिन्होंने 5 जनवरी को जिले के सीएचसी, पीएचसी एवं बांगड़ हॉस्पिटल में आरटीपीसीआर की जांच करवाई, जिनमें से गुरुवार को 44 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। चिकित्सा विभाग द्वारा संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोगों की ट्रेसिंग शुरू कर दी गई है। साथ ही जिन संक्रमितों के कोई लक्षण नहीं है उन्हें 7 दिन तक घर पर ही आइसोलेट होने के निर्देश जारी किए गए हैं।

पाली मेडिकल कॉलेज के कोविड नोडल ऑफिसर डॉ प्रवीण गर्ग ने बताया कि पाली शहर में दिसंबर महीने में पहले 50 से 60 लोगों की ही सैंपलिंग होती थी। जनवरी महीने से ही सबको सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए गए थे। अब पाली शहर में संक्रमित के परिजन, कोविड ओपीडी, स्टाफ सैंपलिंग सहित कई जगहों से 250 लोगों की प्रतिदिन सैंपलिंग की जा रही है। अब प्रतिदिन 1 हजार सैंपलिंग करवाने का टारगेट लिया गया है। इसमें बाहर शादी और पार्टियों में जाकर आने वाले लोगों की भी सैंपलिंग की जाएगी। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भी सैंपलिंग बढ़वाई जाएगी।

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर वॉर रूम
जिले में बढ़ रहे कोरोना मरीजों को देखते हुए जिलास्तरीय वॉर रूम का गठन किया गया हैं। यह वॉर रूम जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय के रूम नम्बर 127 में 24 घंटे तीन पारियों में चलेगा। 02932-225380 पर कोविड से संबंधित सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जा सकेगा।

जोधपुर में कोरोना के केस ज्यादा
पाली जिले से रोजाना सैकड़ों लोग जोधपुर किसी ने किसी काम से आते-जाते रहते हैं। जोधपुर में वर्तमान में 870 से ज्यादा एक्विव केस हैं। ऐसे में आशंका बनी रहती हैं कि जोधपुर जाकर आने वाले कई जने अपने साथ कोरोना लेकर आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...