भास्कर पड़ताल:2 ट्रेन के 50 वैगन राेजाना 4 फेराें में लाएंगे 100 लाख लीटर पानी

पाली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सबसे पहले भास्कर में जानिए... ट्रेन से कितना पानी आएगा और कितने रुपए इस पर खर्च हाेंगे
  • जिलेवासियाें काे जलापूर्ति के लिए क्या रहेगा प्लान

पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े बांध जवाई में दिनोंदिन पानी कम हाे रहा है। इसकाे लेकर जिलेभर में 96 घंटे में एक बार पेयजल सप्लाई की जा रही है। शहरवासियाें काे अगले साल गर्मी के सीजन तक पानी पिलाने के लिए जलदाय विभाग ने पूरा प्लान भी तैयार कर लिया है। जाेधपुर से वाटर ट्रेन के जरिए पानी पहुंचाकर प्यास बुझाई जाएगी। दाे दिन पूर्व जलदाय विभाग के अधिकारियाें ने जाेधपुर पहुंच डीआरएम गीतिका पाण्डे से मुलाकात कर 31 अक्टूबर से वाटर ट्रेन पाली पहुंचाने की मांग की।

डीआरएम ने सहमति जताते हुए तय समय में वाटर ट्रेन पहुंचाने का आश्वासन भी दिया। रेलवे ने जलदाय विभाग की मांग के अनुसार ट्रेन के फेरे, वैगन समेत पूरे खर्चे का ब्याेरा भी भेज दिया है। अब जलदाय विभाग काे प्रारंभिक ताैर पर कितने दिन के लिए ट्रेन चलानी है, उसके अनुसार एडवांस राशि जमा करवानी हाेगी। इसके बाद ही रेलवे अपने मंडल से वैगन एकत्रित कर उनकी धुलाई कर पानी पहुंचाने की तैयारी करेगा।

अगले मानसून तक ट्रेन चलना प्रस्तावित, हर फेरे पर 3.80 लाख और हर दिन 15.2 लाख हाेंगे खर्च

जलदाय विभाग के अनुसार प्रति ट्रेन के एक फेरे पर 3.80 लाख रुपए खर्च हाेंगे। इसके हिसाब प्रतिदिन 4 फेराें में 15.2 लाख रुपए का खर्चा आएगा। अब 31 अक्टूबर 2021 से 30 जून 2022 तक कुल 273 दिन तक ट्रेन चलती है ताे 41 कराेड़ 49 लाख 60 हजार रुपए खर्च हाेने का अनुमान है।

1 वैगन में 50 हजार लीटर पानी आएगा, कुल 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी एक फेरे में पहुंचेगा

जलदाय विभाग के अधिकारियाें ने बताया कि प्रतिदिन 10 एमएलडी पानी के लिए 2 ट्रेन के जरिए 4 फेरे हाेंगे। इसमें एक ट्रेन में कुल 50 वैगन हाेंगे। प्रत्येक वैगन में 50 केएल (किलाेलीटर प्रतिदिन) यानी 50 हजार लीटर पानी हाेगा। इसके हिसाब से 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी आएगा। वहीं 4 फेराें में कुल 100 लाख लीटर पानी आएगा।

अभी बारिश का माैसम, मानसून का इंतजार

रेलवे ने ट्रेन का ब्याेरा दिया है। 31 अक्टूबर से ट्रेन चलाना प्रस्तावित है। 2 ट्रेन के जरिए 10 एमएलडी पानी पहुंचेगा। प्रतिदिन 4 फेरे हाेंगे। प्रत्येक फेरे पर करीब 3.80 लाख रुपए का खर्च आएगा। वर्तमान में बारिश का माैसम भी चल रहा है। जवाई में पानी आ जाता है ताे ट्रेन के समय में परिवर्तन भी हाे सकता है।

-जेपी शर्मा, एसई, जलदाय विभाग पाली

खबरें और भी हैं...