आयुक्तालय ने रिकवरी के आदेश:14 साल में 54 लाख हड़प गए 7 प्राचार्य, 56 प्राेफेसर रिकवरी से पहले 3 की मौत, 26 रिटायर हो चुके

पालीएक महीने पहलेलेखक: उदयवीरसिंह राजपुरोहित
  • कॉपी लिंक
  • बंदरबांट में 17 अन्य कार्मिक भी हैं शामिल
  • विकास समिति जेब में }बांगड़ कॉलेज में जुलाई 2007 से नवंबर 2020 तक चलता रहा खेल, रिकवरी नहीं तो 17 सीसीए में होगी कार्रवाई

पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े बांगड़ काॅलेज में विकास समिति में जमा बजट में 14 साल तक अनियमितताएं चलती रही, लेकिन आयुक्तालय काे इसकी भनक तक नहीं लगी। वर्ष 2007 से लेकर 2020 तक 14 वर्षाें में 7 प्राचार्य, 56 प्राेफेसर और 17 अन्य कार्मिक महाविद्यालय विकास समिति से 54 लाख से अधिक रुपए डकार गए। अब आयुक्तालय ने विकास समिति के कागजात खंगाले ताे पूरे मामले का खुलासा हुअा।

यह राशि वसूलने के लिए आयुक्तालय ने सख्ती से कहा है। चौंकाने वाली बात ताे यह है कि जिनसे वसूली की जानी है, उनमें से 3 प्राेफेसर एसी राठी, विनय कुमार तथा नितिनराज का ताे निधन भी हाे चुका है। वहीं, 26 प्राचार्य अाैर प्राेफेसर सेवानिवृत्त हाे चुके हैं।

बांगड़ काॅलेज में सत्र 2006-07 से समिति पंजीकृत करा कर स्ववित्तपाेषी याेजना के तहत विभिन्न संकायाें में शैक्षणिक कार्य शुरू किया गया। समिति में प्राचार्य बताैर अध्यक्ष, कुछ प्राेफेसर बताैर सचिव व काेषाध्यक्ष कार्य करने लगे और मानदेय उठाते रहे। यह वर्ष 2020 तक चलता रहा। कई प्राेफेसर कॉलेज समय में ही स्ववित्तपाेषी याेजना के तहत संचालित पाठ्यक्रमाें में अध्ययन कार्य बताकर मानदेय उठाते रहे। कई प्राेफेसर पाठ्यक्रम समन्वयक बनकर भी मानदेय उठाते रहे। इस प्रकार से कई प्राेफेसरों ने एक समय में सरकारी वेतन के साथ मानदेय भी लिया।

काॅलेज के विकास के लिए समिति का गठन, लेकिन खुद का ही विकास किया काॅलेजांे में विकास समिति के माध्यम से विकास कार्य कराए जाते हैं। वहीं स्ववित्तपाेषी याेजना में विद्यार्थियाें के द्वारा दी गई फीस से ही संपूर्ण पाठ्यक्रम संचालित किया जाता है। लेकिन जिम्मेदाराें ने खुद ही अध्यापन, समन्वयक, अध्यक्ष, सचिव, काेषाध्यक्ष सहित अन्य जिम्मेदारियों के नाम पर मानदेय उठाते रहे। जबकि स्ववित्तपाेषी याेजना में संचालित पाठ्यक्रमाें में अध्यापन के लिए अलग से फैकल्टी की नियुक्ति की जाती है।

काॅलेज में अधिकांश चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, कंप्यूटर ऑपरेटर भी विकास समिति से लगे हैं, जाे समिति के साथ ही काॅलेज में भी नियमित कार्य कर रहे हैं।

रामकेश मीणा, अध्यक्ष 1,81,142 सुशीला रील , अध्यक्ष 46,453 सुशीला राठी, अध्यक्ष 2,78,194 रामलाल माेहबारसा, अध्यक्ष 185337 सुप्रतीक पाठक, अध्यक्ष 6580 एनअार देवल, अध्यक्ष, 158000 प्रबाेध पारीक, सचिव 32172 वीडी दवे, अध्यापन 123116 शांतिलाल श्रीमाल, सचिव 22601 घीराराम चाैधरी, अध्यापन 32871 डाॅ. संगीता वर्मा, समन्वयक 110692 अंजू शर्मा, समन्वयक 22605 बीपी अाेझा, अध्यक्ष 23500 शंकरलाल वर्मा, सचिव 62669 एसी राठी,सचिव 141500 विनय कुमार शर्मा,सचिव 90,000 डीके नवलखा, अध्यापन 401550 जैनाराम नागाैरा, समन्वयक 60000 रामप्रकाश सारण, अध्यापन 5250 राजेंद्र जाेशी, अध्यापन 11250 हरनाथसिंह, अध्यापन 44300 रवि कुमार दाधीच, अध्यापन 70532 विनाेद कुमार दवे, अध्यापन 46776 कुलदीपसिंह, समन्वयक 152184 बीएल सैन, समन्वयक 154050 विनीता अराेड़ा,अध्यापन93873 डाॅ. प्रेमवती, समन्वयक 458694 लीनासिंह, अध्यापन 15000 सतीशचंद मिश्रा, अध्यापन 61400 प्रीति माथुर, अध्यापन 80625 अपूर्व माथुर, अध्यापन 447087 अर्चना शर्मा, समन्वयक 60000 विकास साेलंकी, समन्वयक 22850 श्यामलाल ताेषावरा,सह समन्वयक 2000 एसी गुप्ता, अध्यापन 18800 बीपी अाेझा, अध्यापन 9200 नीतिन राज, अध्यापन 29000 मनीषा दवे, अध्यापन 36200 मनीषा शर्मा, अध्यापन 23250 राजेंद्र कुमार शर्मा, अध्यापन 10000 ललिता परिहार, अध्यापन 5750 ऊषा राठी, अध्यापन 7000 अनिल कुमार, अध्यापन 69064 महेश कुमार गाैड, अध्यापन 39650 अाेपी देवासी, अध्यापन 39950 पीएम संचेती, अध्यापन 85013 पीके शाह, अध्यापन 154507 माेहनलाल, अध्यापन 21000 रविंद्रसिंह, समन्वयक 241407 सुषमा शर्मा, समन्वयक 3633 अनुपम चतुर्वेदी, सदस्य 4533 विनीता काेका, सदस्य 1000 मुकेश सांखला, समन्वयक 42262 अरविंद चाैहान, समन्वयक 47637 पुनम सिंघल, अध्यापन 8500 बीएल जांगिड़, अध्यापन 1600

इन्हें भी किया भुगतान अावड़दान, प्रशासनिक सहायक 22500 मदनसिंह, स्टाेर कीपर222132 माेतीलाल परमार, लेखा लिपिक 46583 मंडलदत्त जाेशी, अकादमिक35661 इंद्रसिंह, लेखा लिपिक 188632 जयकरण, लेखाकार 114670 दानाराम गहलाेत - कैशियर 95745 अमित अग्रवाल - राेकड़ 38429 भंवरलाल साहू 44975 सीमा शर्मा, डिग्री वितरण 1350 माेतीदास, मैकेनिक, 93460 राजेश कुमार, डिग्री वितरण 60092 जगदीशसिंह, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 6000 जगदीशसिंह गाैड, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 3900 मदनलाल, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 13400 भंवरलाल, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 13726 राजेश कुमार, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 2500

रिकवरी का आदेश आया है, नियमानुसार कार्रवाई करेंगे ^रिकवरी काे लेकर ऑर्डर अाया है। जाे भी नियमानुसार हाेगा, कार्रवाई करेंगे। 2007 से लेकर अब तक की रिकवरी के अादेश हैं। कई लाेग ताे सेवानिवृत्त भी हाे चुके हैं। - डाॅ. संगीता वर्मा, कार्यवाहक प्राचार्य, बांगड़ काॅलेज

खबरें और भी हैं...