• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • After Two Years, The Students Sitting In The Offline Examination Said, Now It Looks Like They Are Giving The Exam.

CBSE के ऑफलाइन एग्जाम:दो साल बाद ऑफलाइन परीक्षा में बैठे स्टूडे्ट, बोले अब लग रहा हैं जैसे परीक्षा दे रहे

पाली।2 महीने पहले
पाली के एक एग्जाम सेंटर पर अपने रो नंबर देखते स्टूडेंट। जिससे की उन्हें पता चल सके कि उन्हें कौन से रूम में बैठना हैं।

कोरोना के चलते पिछले करीब दो साल से स्टूडेंट की ऑफलाइन परीक्षाएं नहीं हो सकी। अब सीबीएसई ने कोरोना गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए बोर्ड परीक्षाओं को दो सत्र टर्म-1 ओर टर्म-2 में आयोजित कर रही हैं। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा सोमवार को 30 नवम्बर 2021 से 10वीं बोर्ड के प्रमुख (मेजर) विषयों एवं 01 दिसम्बर 2021 से 12वीं बोर्ड के प्रमुख (मेजर) विषयों की परीक्षा आयोजित की जा रही हैं। यह परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में आयोजित की जा रही हैं। जो 30 दिसम्बर तक चलेगी। परीक्षा देने आए स्टूडेंट भी ऑफलाइन एग्जाम देने को लेकर काफी उत्साहित नजर आए।

पाली के एक एग्जाम सेंटर पर एग्जाम देने आए स्टूडेंट की थर्मल सक्रेनिंग करते हुए स्कूल का स्टॉफ।
पाली के एक एग्जाम सेंटर पर एग्जाम देने आए स्टूडेंट की थर्मल सक्रेनिंग करते हुए स्कूल का स्टॉफ।

2948 स्टूडेंट दे रहे परीक्षा
पाली जिले में सीबीएसई परीक्षा को लेकर 21 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। जहां 10वीं के 1614 व 12वीं कक्षा के 1334 स्टूडेंट एग्जाम दे रहे हैं। रेम्बो स्कूल को भी परीक्षा केन्द्र बनाया गया हैं। स्कूल के मैनेजर गौतम प्रजापत ने बताया कोरोना गाइड लाइन की पालना के साथ परीक्षा आयोजित की जा रही हैं। परीक्षा से पहले रूम को सेनेटाइज करवाया जा रहा हैं। स्टूडेंट की स्क्रेनिंग व हाथ सेनेटाइज करने के बाद ही उन्हें स्कूल में प्रवेश दिया जा रहा हैं तथा सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बिठाया जा रहा हैं। इसके साथ ही बिना मास्क किसी भी स्टूडेंट को प्रवेश नहीं दिया जा रहा हैं। जो स्टूडेंट मास्क लगाना भूल गया। उसे स्कूल से ही मास्क दिया जा रहा हैं ताकि कोरोना गाइड लाइन की पालना हो सके।

पाली के एक एग्जाम सेंटर पर एग्जाम देने आए स्टूडेंट के हाथ सेनेटाइज के बाद परीक्षा केन्द्र में दिया गया प्रवेश।
पाली के एक एग्जाम सेंटर पर एग्जाम देने आए स्टूडेंट के हाथ सेनेटाइज के बाद परीक्षा केन्द्र में दिया गया प्रवेश।

स्टूडेंट बोले, ऑफलाइन एग्जाम देना अच्छा फिल होता हैं
कक्षा 10वीं की स्टूडेंट नियति दवे बोली की ऑनलाइन से कही बेहतर ऑफलाइन एग्जाम देना हैं। इसमें चिटिंग होने का डर कम रहता हैं। सच कहते तो ऑफलाइन एग्जाम देना अच्छा लगता हैं। 10वीं की स्टूडेंट राहिना बानो ने बताया कि उनकी नजर में ऑफलाइन एग्जाम हर माइने में ऑनलाइन एग्जाम में से बेहतर हैं। उन्हें ऑफलाइन एग्जाम देना ही अच्छा लगता हैं।