चेतावनी / पूर्व विधायक पर हमला करने के मुख्य आरोपी को नहीं पकड़ने से घांची समाज में आक्रोश, आंदोलन की दी चेतावनी

Angry in Ghanchi society, warning of agitation for not catching main accused of attacking former MLA
X
Angry in Ghanchi society, warning of agitation for not catching main accused of attacking former MLA

  • कलेक्टर से मिले प्रतिनिधि, पुलिस कार्यप्रणाली पर कई सवाल खड़े किए

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 08:27 AM IST

पाली. पूर्व विधायक भीमराज भाटी पर जानलेवा हमला करने के मामले में पुलिस की विफलता ने समूचे घांची समाज को आक्रोशित कर दिया है। सोमवार को समाज की 5 संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर से मिलकर सीएम के नाम पर ज्ञापन सौंपा। इसमें पुलिस की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। साथ ही हमले के मुख्य आरोपी सरदाराराम भाट को संरक्षण देने का भी आरोप लगाया है। पिछले दिनों भाट के पक्ष में किए गए प्रदर्शन में धारा 144 का उल्लंघन करने के बाद भी कार्रवाई नहीं करने पर भी समाज के प्रतिनिधियों के कड़ा एतराज जताया है। 

श्री घांची युवा महासभा, घांची समाज समिति, घांची समाज स्थापना दिवस व सामूहिक विवाह समिति, घांची समाज छात्रावास सेवा समिति  व श्री पुरणेश्वर घांची समाज सेवा समिति के बैनर तले समाज के प्रतिनिधियों ने ज्ञापन में कहा कि भाटी पर हमले के 12 दिन बीत चुके हैं। सीएम के आदेश के बाद भी स्थानीय पुलिस प्रशासन आरोपी सरदाराराम भाट को पकड़ने में विफल रहा है, जबकि वह आए दिन सोशल मीडिया पर संदेश डाल रहा है।

ज्ञापन में साफ तौर पर कहा गया है कि अगर शीघ्र ही आरोपी को पकड़कर उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो समाज को आंदोलन के लिए सड़क पर उतरना पड़ेगा। ज्ञापन देने में श्री घांची युवा महासभा के अध्यक्ष रमेश पंवार साबू,  श्री पूरणेश्वर घांची समाज सेवा समिति के अध्यक्ष बाबूलाल पंवार, पारस भाटी, वालाराम पंवार, ओमप्रकाश सोलंकी, आनंद सोलंकी, रमेश परिहार, योगेंद्र भाटी, अशोक परमार, लच्छूराम पंवार, एडवोकेट दीपाराम, प्रकाश महादेव, निलेश पंवार, केसाराम भाटी, बस्तीमल देवड़ा, हीरालाल भाटी समेत कई प्रतिनिधि मौजूद रहे।
ज्ञापन में पुलिस-प्रशासन पर लगाए यह आरोप
1. भाट के पास लाइसेंससुदा रिवाल्वर, उसके खिलाफ 12 मुकदमे होने के बाद भी लाइसेंस निरस्त की कार्रवाई नहीं की।
2. भाट के समर्थकों ने पाली प्रदर्शन में सीएम, डिप्टी सीएम व पुलिस के खिलाफ नारे लगाए, धारा 144 का उल्लंघन किया, इसके बाद भी कार्रवाई नहीं।
3. भाट पर 12 आपराधिक मुकदमे,  नियमानुसार 3 मामले में ही पुलिस हिस्ट्रीशीट खोल देती है, मगर उसे संरक्षण देने के पीछे कहीं आर्थिक दबाव ताे नहीं?
4. पुलिस लगातार दबिश देने का दावा कर रही है, इसके बाद भी हाथ नहीं आ रहा, इसका मतलब साफ है कि कोई पुलिसकर्मी ही उसे दबिश की सूचना देकर भगा रहा?
5. खनिज विभाग की 138 लाख रुपए की पेनल्टी होने के बाद भी उससे वसूली करने में अधिकारी नाकाम रहे हैं। ऐसा कौनसा कारण है, जिससे उससे वसूली नहीं हो रही‌।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना